Rajasthan: देश में कोरोना के आंकड़े डरावने हैं, आने वाले दिनों में केस और बढ़ेंगे, सावधानी बरतें- गहलोत

गहलोत ने कहा कि नीति आयोग सदस्य डॉ. वीके पॉल ने भी कहा है कि स्थिति बद से बदतर होती जा रही है.

गहलोत ने कहा कि नीति आयोग सदस्य डॉ. वीके पॉल ने भी कहा है कि स्थिति बद से बदतर होती जा रही है.

Corona's havoc in Rajasthan: सीएम अशोक गहलोत ने बेकाबू होते कोरोना संक्रमण पर चिंता जताते हुए प्रदेशवासियों से अपील की है कि वे सावधानी बरतें. कोरोना गाइडलाइन का पालन करें. अन्यथा पुलिस प्रशासन को सख्ती करनी पड़ेगी.

  • Share this:

जयपुर. कोरोना वायरस (COVID-19) के लगातार बढ़ते मामलों को देखते हुए मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने एक बार फिर कोरोना के हालात पर चिंता जताई. सोमवार को एक लाइव बैठक में चिंता जताते हुए गहलोत ने कहा कि देश में प्रतिदिन बढ़ने वाले मरीजों का आंकड़ा एक लाख पार कर गया है. इतने मरीज तो पहली लहर की पीक में भी नहीं आए थे. गहलोत ने कहा कि ऐसे में सख्ती करनी पड़ेगी. लोगों को समझाना पड़ेगा. कोविड संक्रमण के साथ मृत्यु के जो आंकड़े आए हैं वह बहुत डरावने हैं. उनहोंने आने वाले दिनों में केसों की संख्या और बढ़ने का अंदेशा जताया .

गहलोत ने कहा कि पुलिस और प्रशासन को सख्ती करनी पड़ेगी. पुलिस प्रशासन कोविड प्रोटोकॉल की पालना करवाए. 'नो मास्क, नो एंट्री' के नारे को बुलंद करना होगा. जिलों में कलक्टर और एसपी मीडिया के सहयोग से जन जागरूकता लाए. गहलोत ने कहा कि केन्द्र सरकार को सभी आयु के लोगों के लिए वैक्सीन की व्यवस्था करनी चाहिए. इस समय लगाई जा रही दो वैक्सीनों के अलावा दूसरी वैक्सीनों को भी अनुमति देनी चाहिए. इसके लिए केन्द्र को पत्र भी लिखा गया है.

Youtube Video

बद से बदतर होते जा रहे हालात
गहलोत ने बताया कि नीति आयोग सदस्य डॉ. वीके पॉल ने भी कहा है कि स्थिति बद से बदतर होती जा रही है. गहलोत ने कहा कि इन हालात में सख्ती भी करनी है और समझाइश भी करनी है. सभी को मिलकर मुकाबला करना होगा. कोरोना की दूसरी वेव पहली वेव से ज्यादा खतरनाक है. पहले अनुभव नहीं था फिर भी राजस्थान कामयाब हुआ. अब अनुभव साथ है तो हम ज्यादा कामयाब होंगे. पुलिस और प्रशासन इस काम को देखे. उन्होंने यह बात भी दोहराई कि वैक्सीन के बाद भी मास्क लगाना जरूरी है.

इन नंबरों पर दे सकते हैं सुझाव

गहलोत ने कहा कि लोग 181 और राज्य हेल्पलाइन 0141—2922272 पर अपने सुझाव दे सकते हैं. गहलोत ने संभागीय आयुक्तों, जिला कलेक्टर्स, पुलिस अधिकारियों और स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों से जिले में कोरोना संक्रमण के हालात और उठाए जा रहे कदमों की ब्योरेवार जानकारी ली.

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज