Corona Vaccination: राजस्थान है पूरी तरह से तैयार, आज 102 सेंटर पर ड्राई रन

वैक्सीन की कोल्ड चैन को मैंटेन करने से लेकर डिस्ट्रीब्युशन तक के लिए सभी जरुरी इंतजाम कर लिए गए हैं.

वैक्सीन की कोल्ड चैन को मैंटेन करने से लेकर डिस्ट्रीब्युशन तक के लिए सभी जरुरी इंतजाम कर लिए गए हैं.

Corona Vaccination: कोरोना से फाइनल लड़ाई लड़ने के लिये राजस्थान पूरी तरह से तैयार है. शुक्रवार को प्रदेशभर में 102 सेन्टर्स पर ड्राई रन (Dry run) किया जायेगा.

  • Share this:
जयपुर. कोरोना के वैक्सीनेशन (Corona Vaccination) को लेकर राजस्थान में पूरी तैयारी की गई है. वैक्सीनेशन को लेकर शुक्रवार को प्रदेशभर में ड्राई रन (Dry run) होगा. प्रदेश के सभी जिलों में 102 सेन्टर्स पर ड्राई रन किया जायेगा. पूर्व में किये जा चुके जिलों में भी फिर से ड्राई रन होगा. जयपुर में कांवटिया अस्पताल, जामडोली सीएचसी और सीकर रोड स्थित निजी अस्पताल में ड्राई रन होगा.

पहले चरण में 4 लाख से ज्यादा हेल्थ वर्कर का वैक्सीनेशन किया जाएगा. वैक्सीनेशन को लेकर एक ओर जहां आधारभूत ढांचा तैयार है, वहीं वैक्सीनेशन में शामिल होने वाले हेल्थ वर्कर के अलावा जनप्रतिनिधियों का भी प्रशिक्षण पूरा किया जा चुका है. 'को-विन' सॉफ्टवेयर में पहले चरण के लिए 4.5 लाख लोगों का रजिस्ट्रेशन किया जा चुका है. जनवरी में पहले चरण का वैक्सीनेशन शुरू कर दिया जायेगा. वैक्सीन के स्टोरेज से लेकर डिस्ट्रीब्यूशन के लिए पूरी कोल्ड चैन तैयार की जा चुकी है. प्रदेश में जोधपुर, जयपुर और उदयपुर में 3 राज्य स्तरीय वैक्सीन सेन्टर बनाए गये हैं. इसके अलावा 7 संभाग स्तरीय और 34 जिला स्तरीय वैक्सीन सेंटर बनाये गये हैं.

स्‍वास्‍थ्‍य महकमा अलर्ट

कोरोना मैनेजमेंट में देश में अलग पहचान बनाने वाला राजस्थान कोविड वैक्सीनेशन कार्यक्रम को लेकर अब पूरी तरह तैयार हो चुका है. मुख्यमंत्री अशोक गहलोत की मंशा और चिकित्सा मंत्री डॉ. रघु शर्मा की मॉनिटरिंग में कोविड वैक्सीनेशन को लेकर पूरे प्रदेशभर का सिस्टम अलर्ट मोड पर है. वैक्सीन की कोल्ड चैन को मैंटेन करने से लेकर डिस्ट्रीब्युशन तक के लिए सभी जरूरी इंतजाम कर लिए गए हैं.
Youtube Video


वैक्सीनेशन की तैयारियों पर एक नजर

- पहले चरण में हेल्थ वर्कर का होगा वैक्सीनेशन.



- 'को-विन' एप पर 4 लाख 2 हजार 369 लाभार्थी रजिस्टर्ड किये जा चुके हैं.

- अब तक 18 हजार वैक्सीनेटर तैयार किये गये हैं.

- 4 हजार सुपरवाइजर और साढे़ 6 हजार फैसिलिटी तैयार हैं.

- प्रदेशभर में ढाई हजार से अधिक कोल्ड चैन तैयार है.

- राज्यस्तर पर 3 वैक्सीनेशन सेंटर बनाये गये हैं.

- जिलास्तर पर जनप्रतिनिधियों को प्रशिक्षण दिया जा चुका है.

- जनप्रतिनिधियों में विधायक, जिला प्रमुख और प्रधानों दिया गया है प्रशिक्षण.

- CMHO,PMO,RCHO, Dy.CMHO, ब्लाक स्तर पर हैल्थ सुपरवाइजर, एलएचपी,आशा,आंगनबाडी वर्कर और ANM को दिया गया है प्रशिक्षण.

यह है प्‍लानिंग

आरसीएच के डायेक्टर डॉ. लक्ष्मण ओला ने बताया कि पहले चरण में हैल्थ वर्कर के बाद दूसरे चरण में फ्रंटलाइन वॉरियर्स, तीसरे चरण में 50 साल से अधिक आयु और अन्य बिमारियों से ग्रसित लोगों का वैक्सिनेशन किया जायेगा. उसके बाद आम लोगों का वैक्सीनेशन हो पाएगा. स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों की मानें तो अब इंतजार केवल वैक्सीनेशन की घोषणा का किया जा रहा है. केन्द्र सरकार की ओर से मकर संक्रांति से वैक्सीनेशन का आगाज किये जाने के संकेत मिल रहे हैं. 8 जनवरी को प्रदेशभर में होने वाले ड्राई रन में सभी हिस्सों से कमियां और खामियां सामने आ जाएंगी. इसे समय रहते और दूर कर लिया जाएगा.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज