COVID-19: हवाई यात्रियों को राहत, DGCA और एयरलाइंस कंपनियों ने नियमों में किया ये बड़ा बदलाव
Jaipur News in Hindi

COVID-19: हवाई यात्रियों को राहत, DGCA और एयरलाइंस कंपनियों ने नियमों में किया ये बड़ा बदलाव
एयरलाइंस कपंनियां यात्रियों को टिकटों को सालभर की अवधि तक बढ़ाने का मौका दे रही हैं.

कोरोना संकट (COVID-19) के कारण देशभर में लागू लॉकडाउन (Lockdown) में टिकट कैंसिलेशन के दौर से गुजर रही एयरलाइंस कंपनियों (Airlines companies) ने घाटे से बचने के लिए यात्रियों ऑफर देने शुरू कर दिए हैं.

  • Share this:
जयपुर. कोरोना संकट (COVID-19) के कारण देशभर में लागू लॉकडाउन (Lockdown) में टिकट कैंसिलेशन के दौर से गुजर रही एयरलाइंस कंपनियों (Airlines companies) ने घाटे से बचने के लिए यात्रियों को ऑफर देने शुरू कर दिए हैं. लॉकडाउन के चलते फिलहाल सभी फ्लाइट्स बंद हैं. बहुत से लोगों ने पहले ही मार्च के अंत में की जाने वाली यात्रा के टिकट कैंसिल करवा लिए थे. लेकिन कोरोना संकट की अनिश्चितता को देखते हुए अब जो लोग आगामी माह के भी टिकट कैंसिल करवा रहे हैं उनको राहत देने के लिए डीजीसीए (DGCA) और एयरलाइंस कंपनियों ने ये बदलाव किए हैं.

यह ऑफर दिया जा रहा है
एयरलाइंस कपंनियां यात्रियों को टिकटों को सालभर की अवधि तक बढ़ाने का मौका दे रही है. एयरलाइंस कंपनियों का कहना है कि यात्री टिकट रद्द करवाने की बजाय सालभर में कोई और तारीख अपने सफर के लिए चुन सकता है. इसके लिए एयरलाइंस कंपनियां अपने यात्री को एक साल की मान्यता वाला क्रेडिट नोट देगी. ये नोट ई-मेल या मैसेज पर हासिल किया जा सकता है. इस दौरान टिकट को कैंसिल करवाकर यात्रा की दूसरी तारीख चुननी होगी. इसमें केवल टिकट कैंसिलेशन का चार्ज कटेगा जो आम दिनों में भी कटता है.

यह बताया जा रहा है फायदा



यात्री अगर टिकट रद्द करने की बजाय अपनी यात्रा की दूसरी तारीख में लेता है तो उसे उस तारीख का नया टिकट नहीं खरीदना पड़ेगा. उस समय भले टिकट महंगा हो. यात्री को उससे राहत मिल जाएगी. बहरहाल हवाई सफर करने वाले के लिए डीजीसीए और एयरलाइंस कंपनियों की ये लुभावनी कोशिश है. लेकिन फिलहाल ये बता पाना मुश्किल है कि कोरोना संकट से कब निजात मिलेगी और कब जिंदगी पूरी तरह से पटरी पर लौटकर आएगी.



रेलवे ने भी दी है नियमों में आंशिक छूट
अगर ये लॉकडाउन लंबा चलता है या फिर कोरोना का प्रभाव देर तक रहता है तो एयरलाइंस कंपनियों की ये कोशिश कारगर नहीं होगी. क्योंकि यात्री तब तक यात्रा से परहेज करेंगे जब तक वो कोरोना को लेकर पूरी तरह निश्चिंत ना हो जाए. उल्लेखनीय है कि रेलवे ने भी अपने यात्रियों को रिफंड देने के लिए नियमों में थोड़ी छूट दी है.

COVID-19: जयपुर, डूंगरपुर, झुंझुनूं और अजमेर में 4 नए पॉजिटिव केस

30 सितंबर तक किसी भी डॉक्टर या पैरामेडिकल स्टाफ को नहीं किया जाएगा रिटायर
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading