Jaipur: पूर्व सीएम राजे ने शादियों को लेकर गहलोत को पत्र लिखकर की यह बड़ी मांग

राजे ने अपने पत्र में लिखा की इसी माह 22 नवंबर से शादी-विवाह का सीजन शुरू हो रहा है. अगर सरकार ने ध्यान नहीं दिया तो बहुत बड़ा तबका आर्थिक संकट में फंस जायेगा.
राजे ने अपने पत्र में लिखा की इसी माह 22 नवंबर से शादी-विवाह का सीजन शुरू हो रहा है. अगर सरकार ने ध्यान नहीं दिया तो बहुत बड़ा तबका आर्थिक संकट में फंस जायेगा.

पूर्व सीएम वसुंधरा राजे (Vasundhara Raje) ने कोरोना काल में आर्थिक संकट से गुजर रहे बैंड, घोड़ी और लाइट वालों की सुध लेते हुये सीएम अशोक गहलोत (Ashok Gehlot) को पत्र लिखा है.

  • Share this:
जयपुर. पूर्व सीएम वसुंधरा राजे (Vasundhara Raje) ने शादी समारोह को लेकर सीएम अशोक गहलोत (Ashok Gehlot) से बड़ी मांग की है. राजे ने इसके लिये सीएम गहलोत को पत्र लिखा है. राजे ने कोरोना काल में आर्थिक तंगी (Economic crisis) की मार झेल रहे बैंडबाजे, घोड़ी और लाइट वालों की सुध लेते हुये गहलोत सरकार से मांग की है कि वह इनको शादी समारोह में निर्धारित लोगों की संख्या अलग रखे ताकि उनका रोजगार चल सके.

राजे ने अपने पत्र में कहा है कि कोरोना महामारी के चलते गत आठ-नौ माह से शादी, पार्टी, धार्मिक और सामाजिक आयोजनों में बैंड बजाने वाले बैंडवादक, घोड़ी वाले और लाइट वाले पूरी तरह से बेरोजगार हो गये हैं. इनको इतने बड़े अंतराल में एक रुपये की कमाई नहीं हुई है. इसकी वजह से एक बहुत बड़ा तबका भूखमरी के कगार पर पहुंच गया है.

यह भी पढ़ें- पंचायती राज चुनाव: कांग्रेस नेता की फिसली जुबान, कहा- बिकाऊ और टिकाऊ को देंगे टिकट, Video Viral









इसी माह 22 नवंबर से शादी-विवाह का सीजन शुरू हो रहा है
राजे ने अपने पत्र में लिखा की इसी माह 22 नवंबर से शादी-विवाह का सीजन शुरू हो रहा है. अगर सरकार ने ध्यान नहीं दिया तो बहुत बड़ा तबका आर्थिक संकट में फंस जायेगा. सरकार शादी, धार्मिक और सामाजिक समारोह में शामिल होने वाले अधिकतम लोगों की सीमा में बैंड, घोड़ी और लाइट वालों को ना गिनें, क्योंकि ये अंदर समारोह में शामिल नहीं होते. राजे ने मांग की है कि सरकार इन्हें अलग रखते हुए इनका रोजगार चालू करवाने के संदर्भ में आदेश निकालकर इनको राहत प्रदान करें.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज