Unlock-4: आज से 9वीं से 12वीं तक के स्टूडेंट्स स्कूल जाकर टीचर्स से ले सकेंगे मार्गदर्शन, जान लें गाइडलाइन

कोई भी विद्यालय इस दौरान कक्षा शिक्षण अथवा परीक्षा या टेस्ट लेता पाया गया तो विद्यालय/संस्था प्रधान के खिलाफ कार्रवाई की जायेगी.  (सांकेतिक फोटो)
कोई भी विद्यालय इस दौरान कक्षा शिक्षण अथवा परीक्षा या टेस्ट लेता पाया गया तो विद्यालय/संस्था प्रधान के खिलाफ कार्रवाई की जायेगी. (सांकेतिक फोटो)

अनलॉक-4 (Unlock-4) के तहत सोमवार को सरकारी और गैर सरकारी स्कूलों में 9वीं से लेकर 12वीं तक के स्टूडेंट्स कोरोना गाइडलाइन (Corona Guideline) की पालना करते हुये मार्गदर्शन प्राप्त करने के लिये स्कूल जा सकेंगे.

  • Share this:
जयपुर. अनलॉक-4 (Unlock-4) के तहत सोमवार से प्रदेश में कक्षा-9 से 12 तक के विद्यार्थी स्वैच्छिक रूप से स्कूल जाकर अध्यापकों से मार्गदर्शन (Guidance) ले सकेंगे. कंटेनमेंट जोन के बाहर के विद्यालयों में स्टूडेंट्स वहां जा सकेंगे, लेकिन उसके लिये उन्हें कोरोना गाइडलाइन (Corona Guideline) का पालन करना होगा. स्कूल जाने के लिये स्टूडेंट्स को अपने अभिभावकों की सहमति लेनी होगी.

शिक्षा विभाग ने विभिन्न नियमों और शर्तों के साथ इसकी स्वीकृति जारी कर दी है. इस दौरान स्कूल में किसी प्रकार का कोई टेस्ट और परीक्षा नहीं होगी. शिक्षण गतिविधियां कराने पर या नियमों का उल्लंघन करने पर कार्रवाई की जायेगी. यह दीगर बात है कि पहले दिन स्कूलों में पहुंचने वाले स्टूडेंट्स की संख्या नगण्य रही.

Rajasthan: गुर्जर आरक्षण आंदोलन फिर से खड़ा करने की तैयारी, पायलट की चिट्ठी से मिली हवा



गाइडलाइन का पालन जरूरी
कोरोना गाइडलाइन प्रदेश के सभी राजकीय एवं गैर राजकीय स्कूलों के लिए समान रूप से लागू होगा. गौरतलब है कि स्‍कूल में पाठ्यक्रम आधारित कक्षा-शिक्षण की अनुमति प्रदान नहीं की गई है. स्टूडेंट्स ऑनलाइन अध्ययन/स्माइल कार्यक्रम/शिक्षा दर्शन/शिक्षा वाणी अथवा पाठ्य पुस्तक पढ़ने के दौरान पैदा हुई जिज्ञासा के समाधान के लिये अभिभावक की अनुमति से स्कूल जा सकता है. कोई भी विद्यालय इस दौरान कक्षा शिक्षण अथवा परीक्षा या टेस्ट लेता पाया गया तो विद्यालय/संस्था प्रधान के खिलाफ कार्रवाई की जाएगी. इसके तहत स्कूल की तत्काल मान्यता वापसी का प्रस्ताव भेज दिया जाएगा.

Rajasthan: अटक सकते हैं 6 नगर निगमों के चुनाव, सरकार ने फिर खटखटाया कोर्ट का दरवाजा, जानिये पूरा मामला

स्कूलों को यह भी करना होगा
- सभी स्कूलों को पूरी तरह से सेनेटाइज करना होगा.
- संपूर्ण विद्यालय परिसर की पूरी साफ-सफाई होनी चाहिये. शौचालयों/मूत्रालयों की स्वच्छता मानदंडों के अनुरूप होनी चाहिये.
- पानी की टंकियों की साफ-सफाई आवश्यक रूप से होनी चाहिये.
- विद्यालय में शौचालय एवं मूत्रालय के पास साबुन होनी चाहिये. हाथ धोने की अनिवार्यता होगी.
- स्टूडेंट्स को कोविड-19 से संबंधित रोकथाम एवं उपचार के संबंध में जानकारी प्रदान करनी होगी.
- उनमें मनोवैज्ञानिक भय उत्पन्न करने के बजाय महामारी का सामना करने हेतु समुचित मानसिक संबल प्रदान करना होगा.
- सम्पूर्ण स्टाफ और विद्यार्थियों को विद्यालय में अनिवार्य रूप से मास्क लगाकर ही आना होगा.
- विद्यालयों में प्रार्थना सभा एवं सामूहिक खेल तथा उत्सवों के आयोजन पर रोक रहेगी.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज