COVID-19: राजस्थान में अब सरकार का सीनियर सिटीजन पर विशेष फोकस

मुख्य रूप से रेस्पिरेट्री डिजीज, हाइपरटेंशन, डायबिटीज और हार्ट डिजीज 
के मरीजों की छंटनी की जा रही है. सांकेतिक तस्वीर
मुख्य रूप से रेस्पिरेट्री डिजीज, हाइपरटेंशन, डायबिटीज और हार्ट डिजीज के मरीजों की छंटनी की जा रही है. सांकेतिक तस्वीर

राज्य सरकार ने कोरोना (COVID-19) के खिलाफ अपनी लड़ाई को तेज करते हुए आयुष्मान भारत महात्मा गांधी राजस्थान बीमा योजना के आंकड़े खंगालने शुरू कर दिए हैं. इसमें 60 वर्ष की आयु से ऊपर के सभी लोगों की सूची बनाई जा रही है.

  • Share this:
जयपुर. राज्य सरकार ने कोरोना (COVID-19) के खिलाफ अपनी लड़ाई को तेज करते हुए आयुष्मान भारत महात्मा गांधी राजस्थान बीमा योजना के आंकड़े खंगालने शुरू कर दिए हैं. इसमें 60 वर्ष की आयु से ऊपर के सभी लोगों की सूची बनाई जा रही है. जयपुर के रामगंज जैसे एपी सेंटर में इन वृद्धजनों (Senior citizen) पर सरकार का मुख्य फोकस है. ऐसा राज्य सरकार प्रदेश में कोरोना वायरस के सभी एपिसेंटर और हॉट-स्पॉट एरिया में विशेष रूप से कर रही है.

इन बीमारियों से ग्रसित मरीजों की छंटनी की जा रही है
चिकित्सा एवं स्वास्थ्य विभाग के एसीएस रोहित कुमार सिंह ने बताया कि पिछले 4 बरसों में बीमा योजना में 60 वर्ष से ऊपर की आयु के इन लोगों द्वारा लिए गए इलाज की समीक्षा की जा रही है. मुख्य रूप से रेस्पिरेट्री डिजीज, हाइपरटेंशन, डायबिटीज और हार्ट डिजीज के मरीजों की छंटनी की जा रही है ताकि कोरोना संकट में हाई रिस्क ग्रुप के लोगों पर विशेष रूप से ध्यान दिया जा सके. राजधानी जयपुर में कोरोना के हॉट-स्पॉट बने रामगंज में 10,140 लोगों की सूची बनाई गई है. सूची में 60 से 69 साल के 6366, 70 से 79 साल के 2866, 80 से 89 साल के 794, 90 से 100 साल के 114 लोग शामिल हैं.

प्रदेश में अब तक 2234 कोरोना पॉजिटिव सामने आ चुके हैं
उल्लेखनीय है कि प्रदेश में कोरोना वायरस की रफ्तार काफी तेज है. प्रदेश में अब तक 2234 कोरोना पॉजिटिव सामने आ चुके हैं. इनमें से 46 पीड़ितों की मौत हो चुकी है. कुल केसेज में से 669 की रिपोर्ट नेगेटिव आ चुकी है. वहीं 313 को पूरी तरह से ठीक होने के बाद डिस्चार्ज किया जा चुका है. प्रदेश में जयपुर और जोधपुर कोरोना वायरस के बड़े हॉट-स्पॉट बने हुए हैं. जयपुर में अभी तक 827 और जोधपुर में 431 पॉजिटिव मामले सामने आ चुके हैं. वहीं अन्य बड़े हॉट-स्पॉट सेंटरों में शामिल कोटा में 162, अजमेर में 124, टोंक में 123, नागौर में 113 और भरतपुर में 110 पॉजिटिव केस पाए जा चुके हैं.



Lockdown: राजस्थान में 3 मई के बाद भी राहत नहीं! सीएम गहलोत ने दिए संकेत

Lockdown: भूख नहीं, 'स्वाभिमान' बड़ा है, आदिवासियों ने नकारा 'मुफ्त' का राशन
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज