COVID-19: राजस्‍थान में IAS से लेकर चतुर्थ श्रेणी के कर्मचारियों के वेतन में फिर हो सकती है 1 दिन की कटौती!
Jaipur News in Hindi

COVID-19: राजस्‍थान में IAS से लेकर चतुर्थ श्रेणी के कर्मचारियों के वेतन में फिर हो सकती है 1 दिन की कटौती!
कोविड-19 के प्रकोप के कारण सरकार ने पहले भी कर्मचारियों के वेतन में कटौती की थी.

कोरोना (COIVID-19) के कारण खराब आर्थिक हालत से जूझ रही गहलोत सरकार (Gehlot Government) एक बार फिर आईएएस से लेकर चतुर्थ श्रेणी कर्मचारी के वेतन में कटौती (Salary cut) कर सकती है.

  • Share this:
जयपुर. कोरोना (COVID-19) के प्रकोप के कारण राजस्थान में एक बार फिर आईएएस से लेकर चतुर्थ श्रेणी तक के कर्मचारियों का 1 दिन का वेतन कट (Salary cut) सकता है. कोरोना के प्रकोप रहने तक हर महीने एक दिन के वेतन कटौती हो सकती है. मुख्य सचिव राजीव स्वरूप के साथ कर्मचारी महासंघ (Employees federation) की हुई बैठक में ये संकेत मिले हैं. कोरोना के कारण राज्य सरकार पूर्व में भी कर्मचारियों का वेतन काट चुकी है. काटे गए वेतन के अंश को सीएम रिलीफ फंड में जमा कराया गया था.

एसीएस वित्त निरंजन आर्य ने दिए संकेत
वित्त विभाग के अतिरिक्त मुख़्य सचिव निरंजन आर्य ने गुरुवार को आयोजित बैठक में कर्मचारी संघ के नेताओं को कोरोना संकट के हालात बारे में बताया. आर्य ने कहा कि कोरोना संकट के चलते सरकार को कई तरह की व्यवस्था करनी पड़ी है. जबकि सरकार की माली हालत पहले ही खराब है. ऐसे में सरकारी कर्मचारियों को यदि वेतन कम मिले तो इसमें उनका सहयोग जरूरी है.

जयपुर पहुंचते ही सचिन पायलट बोले- किसका इस्तेमाल कहां करना है, कमेटी तय करेगी
कर्मचारी नेताओं ने जताई सहमति


कर्मचारी नेता गजेंद्र सिंह राठौड़ ने कहा कि राज्य सरकार कोरोना के कारण सभी कर्मचारियों का 1 दिन का वेतन काटना चाहती है तो सभी कर्मचारी जनहित में अपना वेतन कटवाने के लिए तैयार हैं. संकट की घड़ी में कर्मचारी संगठन राज्य सरकार के साथ हैं. इसके साथ ही उन्होंने यह भी कहा कि पांचवीं अनुसूची के तहत जो वेतन कटौती हो रही है, उसे वापस लिया जाए. नेताओं ने कहा कि इसे लागू करने के बाद यदि कटौती जैसा कदम उठाया जाता है तो कर्मचारी संघ सरकार का सहयोग कर सकते हैं.

Rajasthan: सचिन पायलट अब करेंगे मरुधरा की यात्रा, नापेंगे समर्थन का पैमाना !

66 हजार से ज्यादा केस आ चुके हैं
उल्लेखनीय है कि प्रदेश में कोरोना लगातार बेकाबू होता जा रहा है. दिन प्रतिदिन प्रदेश में कोरोना मरीजों की संख्या बढ़ती जा रही है. प्रदेश में अब तक कोरोना के 66 हजार से ज्यादा केस आ चुके हैं और करीब नौ सौ से ज्यादा लोग इसके कारण अपनी जान गवां चुके हैं. सियासी संकट से उबरने के बाद सरकार का अब पूरा फोकस कोरोना को नियंत्रित करने पर है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज