Rajasthan: मुस्लिम मार्गदर्शी कौंसिल ने धार्मिक स्थलों के लिए उठाई यह बड़ी मांग
Jaipur News in Hindi

Rajasthan: मुस्लिम मार्गदर्शी कौंसिल ने धार्मिक स्थलों के लिए उठाई यह बड़ी मांग
राजधानी जयपुर में करीब 600 मस्जिद हैं और 50 दरगाह हैं.

कोरोना संकट (COCID-19) के चलते पिछले ढाई माह से प्रदेश के सभी धार्मिक स्थल (Religious place) बंद हैं. इन हालात में न तो लोग धार्मिक स्थलों पर पहुंच पा रहे हैं और न ही इन धार्मिक स्थलों के लिए कोई दान आ पा रहा है. धार्मिक स्थलों में एंट्री पर पाबंदी लगने से इनमें रखी दानपेटियां भी खाली हो चुकी हैं.

  • Share this:
जयपुर. कोरोना संकट (COCID-19) के चलते पिछले ढाई माह से प्रदेश के सभी धार्मिक स्थल (Religious place) बंद हैं. इन हालात में न तो लोग धार्मिक स्थलों पर पहुंच पा रहे हैं और न ही इन धार्मिक स्थलों के लिए कोई दान आ पा रहा है. जबकि इन धार्मिक स्थलों पर धर्मावलंबियों के आने से ही इनके सभी खर्चे चलते हैं. इस मामले को लेकर राजस्थान मुस्लिम मार्गदर्शी कौंसिल ने राज्य सरकार से इनके बिजली-पानी के बिल माफ करने की मांग उठाई है.

रोजमर्रा के खर्चे चलना मुश्किल हो गया है
लॉकडाउन के चलते धार्मिक स्थलों में एंट्री पर पाबंदी लगने से इनमें रखी दानपेटियां भी खाली हो चुकी हैं. पिछले करीब ढाई महीने से मस्जिदों और दरगाह समेत अन्य धार्मिक स्थलों के न बिजली के बिल जमा हो पाए हैं और न ही पानी के. इससे वहां रहने वाले खादिम और सेवक के वेतन भी अटके हुए हैं. रोजमर्रा के खर्चे चलना मुश्किल हो गया है. इस मामले को लेकर राजस्थान मुस्लिम मार्गदर्शी कौंसिल के संस्थापक और राजस्थान तेली महापंचायत के अध्यक्ष अब्दुल लतीफ आरको ने मुख्यमंत्री को पत्र लिख कर गुहार लगाई है कि ऐसी सभी धर्मों की इबादतगाहों के 3 महीने के बिजली और पानी के बिल माफ किये जाने चाहिए.

जयपुर में करीब 600 मस्जिद हैं और 50 दरगाह हैं
राजधानी जयपुर में करीब 600 मस्जिद हैं और 50 दरगाह हैं. प्रदेशभर में ये आंकड़ा हज़ारों में है. हालांकि इस मसले को लेकर शुरू से ही कई बार मांग की गई थी लेकिन उसका कोई सकारात्मक नतीजा अभी तक सामने नहीं आया है. देशभर में सोशल डिस्टनसिंग के साथ धार्मिक स्थल खोल दिये गए हैं, लेकिन राजस्थान में फिलहाल ऐसा नहीं हुआ है.



हालात जल्द सामान्य होने के आसार भी कम ही नज़र आ रहे हैं
पिछले ढाई महीने से तो जैसे तैसे इन धार्मिक स्थलों का खर्चा चल गया लेकिन ज़्यादातर का पानी-बिजली का बिल बकाया है. आने वाले वक्त में हालात जल्द सामान्य होने के आसार भी कम ही नज़र आ रहे हैं.

Rajya Sabha Election: पायलट बोले- कुछ लोग जानबूझकर माहौल खड़ा करना चाहते हैं

Jaipur: BJP प्रदेशाध्यक्ष पूनिया बोले-कांग्रेस को अपने MLAs पर भरोसा नहीं रहा
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading