Home /News /rajasthan /

Jaipur: 'No School, No Fee and No Online Class', अभिभावकों का छलका दर्द, प्रदर्शन कर रखी मांग

Jaipur: 'No School, No Fee and No Online Class', अभिभावकों का छलका दर्द, प्रदर्शन कर रखी मांग

संयुक्त अभिभावक समिति  का कहना था कि अगर उनकी सुनवाई नहीं हुई तो आगे बड़ा प्रदर्शन किया जायेगा.

संयुक्त अभिभावक समिति का कहना था कि अगर उनकी सुनवाई नहीं हुई तो आगे बड़ा प्रदर्शन किया जायेगा.

कोरोना काल (COVID-19) में स्कूल नहीं लगने के बावजूद निजी स्कूलों (Private schools) द्वारा वसूली जा रही फीस के खिलाफ जयपुर (Jaipur) के दर्जनों स्कूलों के 350 से अधिक अभिभावक प्रतनिधियों ने प्रदर्शन कर अपनी मांग रखी.

जयपुर. कोरोना महामारी (COVID-19) के दौरान आर्थिक तंगी से त्रस्त लोग अब सड़कों पर उतरने लग गये हैं. इसी के तहत जयपुर (Jaipur) में 'नो स्कूल, नो फीस और नो ऑनलाइन क्लास' की मांग को लेकर राजधानी जयपुर के 90 से अधिक स्कूलों के 350 से अधिक अभिभावक प्रतिनिधियों (Parent representatives) ने अपना दर्द शालीनता एवं शांति के साथ जेएलएन मार्ग स्थित शिक्षा संकुल पर बयां किया.

सीएम के नाम ज्ञापन देकर किया शांतिपूर्वक प्रदर्शन
संयुक्त अभिभावक समिति जयपुर की ओर से रविवार को 'नो स्कूल, नो फीस और नो ऑनलाइन क्लास' की मांग को लेकर अभिभावक एकता रैली का आव्हान किया गया था. लेकिन पुलिस ने आयोजकों को कोविड-19 का हवाला देकर समझाइश की. उसके पश्चात अभिभावकों ने रैली की बजाय शिक्षा संकुल पर ही अपनी बात कही और उपस्थित पुलिस अधिकारियों को मुख्यमंत्री अशोक गहलोत के नाम ज्ञापन देकर शांतिपूर्वक प्रदर्शन किया. इस दौरान पुलिस ने पांच सदस्यों को गांधी सर्किल जाने की अनुमति दी. इस पर संयुक्त अभिभावक समिति के पदाधिकारियों ने महात्मा गांधी की प्रतिमा पर पुष्पांजलि अर्पित कर निजी स्कूलों को सद्धबुद्धि दिये जाने की प्रार्थना की.

Weather Alert: आज पश्चिमी राजस्थान में भारी बारिश की चेतावनी, 4 जिलों के लिये ऑरेंज अलर्ट जारी

अभिभावकों की इज्जत से सुनवाई नहीं होना शर्मनाक 
संयुक्त अभिभावक परिषद के संयोजक सुशील शर्मा, महामंत्री मनीष विजयवर्गीय और कोषाध्यक्ष संजय गोयल ने संस्था के अन्य पदाधिकारियों और अभिभावक प्रतिनिधियों के साथ पुलिस एवं प्रशासन के अधिकारियों को गुलाब का फूल दे सरकार तक अभिभावकों का दर्द पहुंचाने का निवेदन किया. इस दौरान संस्था के पदाधिकारियों ने महात्मा गांधी की फोटो के साथ 'नो स्कूल, नो फीस और नो ऑनलाइन क्लासेज के पर्चे भी लहराये. महामंत्री मनीष विजयवर्गीय ने कहा कि समाज सेवा के नाम पर रियायती दरों पर सरकार की ओर से दी गई अनुदानित भूमि का उपयोग आज व्यवसायिक परिसर की तरह किया जा रहा है. कोविड के दौरान भी अभिभावकों को राहत देने की जगह उनकी इज्जत से सुनवाई नहीं होना शर्मनाक है.

COVID-19: अगले 3 दिन तक हाई कोर्ट सहित बंद रहेगी जयपुर शहर की अदालतें

सुनवाई नहीं हुई इससे भी बड़ी रैली होगी
पुलिस की समझाइश के बाद समिति प्रवक्ता मनोज शर्मा ने रैली के समापन की घोषणा की और कहा कि यदि सरकार ने उनकी आवाज नही सुनी तो इससे भी बड़ी रैली आयोजित की जायेगी. उसमें सरकार को हजारों लोगों के विरोध का सामना करना पड़ेगा. रविवार को केवल स्कूलों के प्रतिनिधि सम्मिलित हुए थे आगे प्रत्येक अभिभावक सम्मिलित होगा.

Tags: Corona epidemic, Jaipur news, Rajasthan News Update, School Fees

विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर