लाइव टीवी

COVID-19: उत्तर पश्चिम रेलवे युद्ध स्तर पर तैयार कर रहा है कोरोना आईसोलेशन कोच
Jaipur News in Hindi

Asif Khan | News18 Rajasthan
Updated: April 3, 2020, 11:42 AM IST
COVID-19: उत्तर पश्चिम रेलवे युद्ध स्तर पर तैयार कर रहा है कोरोना आईसोलेशन कोच
एक कूपे में एक मरीज के लिए सिर्फ एक बेडनुमा सीट होगी.

कोरोना महामारी (Corona epidemic) को देखते हुए हाल ही में भारतीय रेलवे (Indian Railways) ने बैकअप के तौर पर ट्रेनों के कोच को कोरोना आईसोलेशन वॉर्ड (Isolation ward) में बदलने का फैसला किया था. अब इसको मूर्त रूप देते हुए सभी जोन को तैयारियां करने के लिए आदेश दे दिए गए हैं.

  • Share this:
जयपुर. कोरोना महामारी (Corona epidemic) को देखते हुए हाल ही में भारतीय रेलवे (Indian Railways) ने बैकअप के तौर पर ट्रेनों के कोच को कोरोना आईसोलेशन वॉर्ड (Isolation ward)  में बदलने का फैसला किया था. अब इसको मूर्त रूप देते हुए सभी जोन को तैयारियां करने के लिए आदेश दे दिए गए हैं. उत्तर पश्चिम रेलवे को भी इसके दिशा निर्देश मिल गए हैं और वह कोरोना कोच आईसोलेशन वॉर्ड बनाने में जुट गया है. कोरोना संकट को देखते हुए तैयार किए जा रहे इन चलते फिरते हॉस्पिटल में तीन लाख से ऊपर मरीज़ों के भर्ती किए जाने की क्षमता होगी.

NWR को 266 कोच तैयार करने के निर्देश दिए गए हैं
NWR के सीपीआरओ अभय शर्मा ने बताया कि हमारे जोन को 266 कोच तैयार करने के निर्देश दिए गए हैं. सभी मंडल से कोच को डिपो लाने के आदेश जारी हुए हैं. इन कोचेज को आईसोलेशन वार्ड में तब्दील करने का काम तेजी से शुरू कर दिया गया है. प्रत्येक कोच में एक टॉयलेट और एक बाथरूम होगा. एक कूपे में एक मरीज के लिए सिर्फ एक बेडनुमा सीट होगी. कोच को कवर करने के लिए प्लास्टिक के पर्दे लगाए जाएंगे. खिड़कियों को मच्छरदानी से कवर किया जा रहा है. सभी केबिन में पैर से संचालित होने वाले डस्टबिन लगाए जा रहे हैं. कोच के फर्श पर खस और बांस की चटाई बिछाई जाएगी. नलों में मोडिफाइड किया जा रहा है. सभी कोच में ऑक्सीजन सिलेंडर की व्यवस्था होगी.

किसी भी हालात से निपटने की पूरी तैयारी



बकौल शर्मा NWR के वर्कशॉप में कुछ मॉडल बेहद कम समय में तैयार भी कर लिए गए हैं. NWR के चारों मंडल के तहत जिन कोच का चयन किया गया उन्हें वर्कशॉप में एक एक करके मंगवाया जा रहा है. हालांकि रेलवे ये तैयारी ऐसी स्थिति के लिए कर रहा है जब हॉस्पिटल में बेड की कमी होगी. भारत में फिलहाल ऐसी नौबत नहीं आई है. लेकिन किसी भी हालात से निपटने के लिए रेलवे पूरी तैयारी कर रहा है.



सोशल डिस्टेंसिंग की बड़ी शर्त को पूरा करते हैं कोच
ये कोच ऐसे चलते फिरते हॉस्पिटल होंगे जिसे अधिक मेडिकल सुविधा वाले शहर की तरफ भी ले जाया जा सकता है. रेल कोच हॉस्पिटल के आईसोलेशन वॉर्ड से बेहतर साबित होंगे, क्योंकि कोरोना से बचाव की मूलभूत शर्त सोशल डिस्टेंसिंग को पूरा करते हैं. आम आदमी की भीड़ रेल कोच की तरफ नहीं होती है.

COVID-19: राजस्थान में 21 और नए पॉजिटिव केस आए सामने, 12 अकेले टोंक में मिले

Corona Crisis: सीएम गहलोत का बड़ा फैसला, 2 महीने के पानी-बिजली के बिल स्थगित

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए जयपुर से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: April 3, 2020, 11:39 AM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
corona virus btn
corona virus btn
Loading