लाइव टीवी

COVID-19: अब डॉक्टर्स और नर्सिंग स्टाफ से जबरदस्ती मकान खाली कराने पर होगी जेल, आदेश पारित
Jaipur News in Hindi

News18 Rajasthan
Updated: March 25, 2020, 7:28 PM IST
COVID-19: अब डॉक्टर्स और नर्सिंग स्टाफ से जबरदस्ती मकान खाली कराने पर होगी जेल, आदेश पारित
दरअसल, प्रदेश के विभिन्न हिस्सों में रह रहे डॉक्टर्स और पैरामेडिकल स्टाफ से जबरदस्ती आवास खाली करवाए जा रहा हैं. (सांकेतिक फोटो)

मेडिकल विभाग के अतिरिक्त मुख्य सचिव रोहित कुमार सिंह (Rohit Kumar Singh) ने आदेश निकालकर सभी जिला कलेक्टर , पुलिस आयुक्त, एसपी, नगर परिषद आयुक्त को कार्रवाई करने के लिए अधिकृत किया है.

  • Share this:
जयपुर. राजस्थान में कोरोना वायरस (Corona virus) से पीड़ित मरीजों के इलाज करने वाले डॉक्टर्स, नर्सिंग स्टाफ (Doctors, Nursing Staff) और पैरामेडिकल स्टाफ के खिलाफ बदसलूकी और जबरन किराए का मकान खाली करवाने वाले मकान मालिकों को अब खैर नहीं है. गहलोत सरकार ने आदेश दिया है कि किराए के मकान पर रहने वाले डॉक्टर, नर्सिंग स्टाफ और पैरामेडिकल स्टाफ से जबरदस्ती यदि कोई मकान मालिक अपना आवास खाली करवाता है या बदसलूकी करता है तो उसके खिलाफ राजस्थान एपिडेमिक डिजीज एक्ट 1957 कार्रवाई की जाएगी.

मेडिकल विभाग के अतिरिक्त मुख्य सचिव रोहित कुमार सिंह ने आदेश निकालकर सभी जिला कलेक्टर , पुलिस आयुक्त, एसपी, नगर परिषद आयुक्त को कार्रवाई करने के लिए अधिकृत किया है. साथ में डॉक्टर्स की सुरक्षा के पुख्ता इंतजाम करने के निर्देश दिए हैं. बता दें कि डॉक्टर्स ने सरकार से सुरक्षा की गुहार लगाई थी.

जबरदस्ती मकान से बेदखल कर रहे हैं
दरअसल, प्रदेश के विभिन्न हिस्सों में रह रहे डॉक्टर्स और पैरामेडिकल स्टाफ से जबरदस्ती आवास खाली करवाए जा रहे हैं. इसके विरोध में डॉक्टर और नर्सिंग स्टाफ ने विरोध प्रदर्शन भी किया था. डॉक्टरों का कहना है कि कोरोना वायरस के पीड़ितों का इलाज और देखभाल करने के कारण निजी मकान मालिक जबरदस्ती मकान से बेदखल कर रहे हैं और उन्हें हीन भावना से देखा जा रहा है. इसके बाद सरकार ने आदेश निकाल कर स्थिति को स्पष्ट कर दिया. आदेश में स्पष्ट कहा गया है यदि कोई मकान मालिक जबरदस्ती डॉक्टर से मकान खाली करवाता है तो उसके खिलाफ कार्रवाई की जाएगी. राज्य के डॉक्टर और नर्सिंग स्टाफ कोरोना वायरस को हराने के लिए दिन रात काम कर रहे हैं. ऐसे में यदि उनके साथ बदसलूकी की जाती है या उनके साथ अच्छा व्यवहार नहीं किया जाता है तो यह सभ्य समाज को शोभा नहीं देता.



कलेक्टर लेंगे एक्शन
अब सरकार द्वारा आदेश निकालने के बाद यदि कोई व्यक्ति डॉक्टर्स और नर्सिंग स्टाफ के साथ बदसलूकी करता है तो संबंधित जिलों के कलेक्टर उसके खिलाफ एक्शन ले सकेंगे. कलेक्टर को लगता है कि डॉक्टरों के साथ दुर्व्यवहार किया जा रहा है तो संबंधित व्यक्ति के खिलाफ केस दर्ज कर कार्रवाई की जाएगी. यदि कोई मकान मालिक जबरदस्ती नर्सिंग स्टाफ या चिकित्सक से अपना आवास खाली करवाता है तो उसे भी जेल जाना होगा.

(रिपोर्ट- प्रेम नारायण मीणा)

ये भी पढ़े- 

Coronavirus: लॉकडाउन में यह काम कर बुरे फंसे पप्पू यादव, दर्ज हुआ केस

कोरोना के मरीजों के इलाज के लिए रामविलास पासवान ने बिहार को दिए एक करोड़ रुपए

 

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए जयपुर से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: March 25, 2020, 7:21 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर