Home /News /rajasthan /

COVID-19: अब सार्वजनिक स्थानों पर थूका तो खैर नहीं, सरकार ने लगाई पाबंदी, अधिसूचना जारी

COVID-19: अब सार्वजनिक स्थानों पर थूका तो खैर नहीं, सरकार ने लगाई पाबंदी, अधिसूचना जारी

कोरोना वायरस के चलते दिल्ली में 3000 से अधिक  कैदी जमानत, पैरोल या फर्लो पर रिहा किए गए हैं.

कोरोना वायरस के चलते दिल्ली में 3000 से अधिक कैदी जमानत, पैरोल या फर्लो पर रिहा किए गए हैं.

राज्य सरकार ने आदेश जारी कर सार्वजनिक स्थानों पर थूकने (Spitting) पर पाबंदी लगा दी है. चिकित्सा एवं स्वास्थ्य विभाग की ओर से जारी आदेश के अनुसार सार्वजनिक जगह पर थूकने पर धारा 188 के तहत 1 माह की सजा या ₹200 का जुर्माना या दोनों ही सजाएं दी जा सकती हैं.

अधिक पढ़ें ...
जयपुर. कोरोना वायरस (COVID-19) के संक्रमण को रोकने के लिए प्रदेश के गहलोत सरकार सभी जरुरी कदम उठा रही है. इसके लिए सरकार ने सभी दिशा निर्देशों को अब सख्ती से लागू करवाने का आदेश भी जारी कर दिया है. इस बीच राज्य के चिकित्सा एवं स्वास्थ्य विभाग ने आदेश जारी कर सार्वजनिक स्थानों पर थूकने (Spitting) पर पाबंदी लगा दी है. चिकित्सा एवं स्वास्थ्य विभाग की ओर से जारी आदेश के अनुसार सार्वजनिक जगह पर थूकने पर धारा 188 के तहत 1 माह की सजा या ₹200 का जुर्माना या दोनों ही सजाएं दी जा सकती हैं.

थूकने से वायरस फैलने का खतरा बढ़ जाता है
चिकित्सा एवं स्वास्थ्य विभाग के अतिरिक्त मुख्य सचिव रोहित कुमार सिंह ने इसकी अधिसूचना भी जारी कर दी है. यह प्रदेश में तुरंत प्रभाव से लागू हो गई है. चिकित्सा एवं स्वास्थ्य विभाग के अनुसार पान, तम्बाकू और गैर तम्बाकू खाने वाले लोग यहां-वहां थूकते रहते हैं, जिससे कोरोना वायरस के फैलने का खतरा बढ़ जाता है. अब यदि कोई भी व्यक्ति सार्वजनिक स्थान पर थूकता हुआ मिला तो उसके खिलाफ भारतीय दंड संहिता की धारा 188 के तहत कार्रवाई की जाएगी.

खाना बांटते समय सेल्फी लेने पर भी रोक
वहीं राज्य सरकार ने जरुरतमंदों को खाना बांटते समय सेल्फी लेने पर भी रोक लगा दी है. इसका उल्लंघन करने पर भी संबंधित के खिलाफ कार्रवाई की जाएगी. यह कदम लॉकडाउन में सामाजिक दूरी बनाए रखने और संक्रमण के खतरे को देखते हुए उठाया गया है. राहत सामग्री का क्रेडिट लेने की होड़ में लगे नेताओं के रवैये से मुख्यमंत्री अशोक गहलोत नाखुश बताए जा रहे हैं. कोरोना वायरस के बीच गरीबों को राहत पहुंचाने में हो रही राजनीति पर मुख्यमंत्री अशोक गहलोत सख्त हो गए हैं.

जयपुर में कांग्रेस-बीजेपी नेता आमने-सामने हो गए थे
माना जा रहा है कि नेताओं की आपसी लड़ाई के मद्देनजर ही मुख्यमंत्री ने सेल्फी लेने और वीडियो बनाने पर रोक लगाई है. दरअसल हाल ही में जयपुर में सांगानेर विधानसभा क्षेत्र के मानसरोवर इलाके में राहत सामग्री को बांटने में कथित भेदभाव के कारण बीजेपी और कांग्रेसी कार्यकर्ता आमने-सामने हो गए थे.

COVID-19: राजस्थान में फिर बढ़े डेढ़ दर्जन नए केस, अब कुल 579 लोग संक्रमित

COVID-19: कोरोना वॉरियर्स की ड्यूटी पर मौत होने पर आश्रितों को मिलेंगे 50 लाख

Tags: Coronavirus, Jaipur news, Rajasthan news

विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर