लाइव टीवी

COVID-19: मदद के लिए आगे बढ़े हाथ, 8 लाख कर्मी-पेंशनर्स देंगे 1 दिन का वेतन, जुटेंगे 200 करोड़
Jaipur News in Hindi

Dinesh Sharma | News18 Rajasthan
Updated: March 24, 2020, 11:01 AM IST
COVID-19: मदद के लिए आगे बढ़े हाथ, 8 लाख कर्मी-पेंशनर्स देंगे 1 दिन का वेतन, जुटेंगे 200 करोड़
सीएम अशोक गहलोत ने दानदाताओं का आभार जताते हुए कहा कि सभी के सपोर्ट से ही इस संकट से जीत सकते हैं.

कोरोना वायरस (Coronavirus) से मुकाबला करने के लिए पूरा राजस्थान एकजुट नजर नजर आ रहा है. मुख्यमंत्री अशोक गहलोत (CM Ashok Gehlot) की पहल पर बनाए गए कोविड-19 राहत कोष (COVID-19 Relief Fund) में राशि जमा करवाने के लिए बड़ी संख्या में लोग आगे आ रहे हैं.

  • Share this:
जयपुर. कोरोना वायरस (Coronavirus) से मुकाबला करने को पूरा राजस्थान एकजुट नजर नजर आ रहा है. मुख्यमंत्री अशोक गहलोत (CM Ashok Gehlot) की पहल पर बनाए गए कोविड-19 राहत कोष (COVID-19 Relief Fund) में राशि जमा करवाने के लिए बड़ी संख्या में लोग आगे आ रहे हैं. मंत्री, विधायक, नेता, जनप्रतिनिधि तो इस कोष में राशि जमा करा ही रहे हैं, सरकारी कर्मचारी भी मदद के लिए हाथ आगे बढ़ा रहे हैं. प्रदेश के अधिकारियों, कर्मचारियों और पेंशनर्स के अलग-अलग संगठनों ने इस कोष में एक दिन वेतन देने का ऐलान किया है.

सोमवार को 20 करोड़ 68 लाख रुपए की राशि जमा हुई

कुछ संगठनों ने 1 दिन से ज्यादा की राशि भी इस कोष में देने की घोषणा की है. प्रदेश में करीब 8 लाख सरकारी अधिकारी-कर्मचारी हैं. ये अधिकारी-कर्मचारी अपने एक-एक दिन का वेतन भी राहत कोष में देते हैं, तो यह राशि करोड़ों में होती है. पेंशनर्स ने भी एक दिन की पेंशन राशि कोष में देने की घोषणा की है. प्रदेश में करीब साढ़े 3 लाख पेंशनर्स हैं. CMRF COVID-19 कोष में सोमवार को 20 करोड़ 68 लाख रुपए की राशि जमा हो चुकी है. मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने दानदाताओं का आभार जताते हुए कहा कि सभी के समर्थन से ही इस संकट से जीत सकते हैं.



कर्मचारियों ने 1-1 दिन का वेतन देने की घोषणा की



अखिल राजस्थान राज्य कर्मचारी संयुक्त महासंघ ने मुख्यमंत्री को पत्र लिखकर कर्मचारियों के वेतन से 1 दिन की राशि राहत कोष में लिए जाने का आग्रह किया है. महासंघ के मुताबिक कर्मचारियों के 1 दिन के वेतन की राशि करीब 200 करोड़ रुपए रुपए होती है. महासंघ के प्रदेश महामंत्री तेज सिंह राठौड़ ने कहा है कि जब-जब प्रदेश में कोई संकट आया है, तब-तब कर्मचारियों ने जनहित में सरकार की मदद के लिए हाथ आगे बढ़ाया है. इस बार भी 1 दिन की राशि राहत कोष में देने के लिए सभी कर्मचारी सहमत हैं. वहीं राजस्थान राज्य कर्मचारी संघ ने भी मुख्यमंत्री को पत्र लिखकर कर्मचारियों के वेतन से एक दिन की राशि काटे जाने पर सहमति जताई है. विभिन्न विभागों से जुड़े अलग-अलग कर्मचारी संगठनों ने भी 1 दिन का वेतन देने की घोषणा की है.

अधिकारियों ने की पहल

प्रदेश के अधिकारियों से जुड़े विभिन्न संगठनों ने भी कोविड-19 राहत कोष में 1 दिन का वेतन दिए जाने की घोषणा की है. आईएएस और आरएसएस एसोसिएशन ने अपने 1 दिन का वेतन राहत कोष में दिया है. अधीनस्थ अधिकारियों के संगठन राजस्थान राज्य अन्य प्रशासनिक सेवा परिसंघ ने भी 1 दिन का वेतन राहत कोष में दिया है. इस संगठन से करीब ढाई हजार अधिकारी जुड़े हुए हैं.

उधर, राजस्थान तहसीलदार सेवा परिषद ने भी तहसीलदार और नायब तहसीलदारों के 3 दिन का वेतन कोष में दिया है. इसके साथ ही राजस्थान तहसीलदार सेवा परिषद 2 लाख 51 हजार की राशि भी सहयोग के रूप में प्रदान करेगी. राजस्थान एग्रीकल्चर सर्विसेज एसोसिएशन ने भी 1 दिन का वेतन राहत कोष में दिया है. सहकारी निरीक्षकों के संगठन ने भी अपने 1 दिन के वेतन के राशि मदद के तौर पर कोष में देने की घोषणा की है.

पेंशनर्स भी आए आगे

संकट की इस घड़ी में प्रदेश के पेंशनर्स भी कोरोना पीड़ितों की मदद के लिए आगे आए हैं. राजस्थान पेंशनर समाज ने भी 1 दिन की पेंशन राशि कोविड-19 राहत कोष में देने की घोषणा की है. जिला स्तर पर यह राशि जुटाकर राहत कोष में जमा करवाई जाएगी. पेंशनर समाज के प्रदेश अध्यक्ष प्रेमशंकर सुमन का कहना है कि उत्तराखंड त्रासदी के दौरान भी पेंशनर्स ने 70 लाख की राशि कोष में जमा करवाई थी.

COVID-19: मुकाबले की तैयारियां युद्धस्तर पर, सरकार जुटी इन बड़ी तैयारियों में

COVID-19: राज्य सरकार ने बनाया राहत कोष, सीएम गहलोत ने की सहयोग की अपील

 

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए जयपुर से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: March 24, 2020, 10:23 AM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
corona virus btn
corona virus btn
Loading