राजस्थान में ऑक्सीजन का संकट, सरकार की चिंता बढ़ी, सीएम गहलोत ने केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह से की बात

नगरीय विकास मंत्री शांति धारीवाल ने बताया कि प्रदेश के बड़े शहरों में नगरीय विकास विभाग और यूआईटी के माध्यम से ऑक्सीजन प्लांट स्थापित करने की संभावनाएं तलाशी जा रही हैं.

नगरीय विकास मंत्री शांति धारीवाल ने बताया कि प्रदेश के बड़े शहरों में नगरीय विकास विभाग और यूआईटी के माध्यम से ऑक्सीजन प्लांट स्थापित करने की संभावनाएं तलाशी जा रही हैं.

Oxygen crisis in Rajasthan: कोरोना की दूसरी लहर में देशभर में छाये मेडिकल ऑक्सीजन के संकट को लेकर गहलोत सरकार की भी चिंता बढ़ी हुई है. राज्य में ऑक्सीजन की आपूर्ति को बढ़ाने के लिये हरसंभव प्रयास किये जा रहे हैं.

  • Share this:
जयपुर. कोविड संक्रमण (Covid infection) की दूसरी लहर के दौरान ऑक्सीजन की अत्यधिक आवश्यकता को देखते हुये राज्य सरकार प्रदेश को मेडिकल ऑक्सीजन (Medical oxygen) की पूर्ति के लिए आत्मनिर्भर बनाने की दिशा में तेजी से काम कर रही है. मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने राजस्थान में अधिकाधिक ऑक्सीजन प्लांट लगाने तथा कॉन्सन्ट्रेटर आदि उपकरणों की खरीद की त्वरित योजना बनाकर इस समयबद्ध रूप से लागू करने के निर्देश दिए हैं. इसके साथ ही मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने प्रदेश को ऑक्सीजन उपलब्ध कराने के लिये केद्रीय गृह मंत्री अमित शाह से फोन पर

बात भी की है.

गहलोत ने सोमवार रात को वीडियो कांफ्रेंस के माध्यम से कोविड संक्रमण, ऑक्सीजन गैस एवं कॉन्सन्ट्रेटर और टैंकरों की उपलब्धता सहित अन्य महत्वपूर्ण विषयों की उच्च स्तरीय समीक्षा की. उन्होंने कहा कि स्वास्थ्य तथा चिकित्सा शिक्षा विभाग के साथ-साथ उद्योग, नगरीय विकास, स्वायत्त शासन विभाग और जिला प्रशासन नए ऑक्सीजन प्लांट स्थापित करने अथवा करवाने और ऑक्सीजन कॉन्सन्ट्रेटर की खरीद के लिए समन्वित प्रयास करें.

Youtube Video

उपकरणों की जल्द से जल्द खरीद की जाए

मुख्यमंत्री ने कहा कि अस्पतालों में कोविड रोगियों के लिए ऑक्सीजन की जरूरत को पूरा करने में ऑक्सीजन कॉन्सन्ट्रेटर उपयोगी साबित हो सकते हैं. इनकी जल्द से जल्द खरीद की जाए और आयात करने के लिए विदेशों में स्थित भारतीय दूतावासों का भी सहयोग लिया जाए. यह भी सुनिश्चित किया जाए कि शिपिंग तथा अन्य कारणों से इनके पहुंचने में विलम्ब नहीं हो.

ऑक्सीजन प्लांट की संभावनाएं तलाशी जा रही है



नगरीय विकास मंत्री शांति धारीवाल ने बताया कि प्रदेश के बड़े शहरों में नगरीय विकास विभाग और यूआईटी के माध्यम से ऑक्सीजन प्लांट स्थापित करने की संभावनाएं तलाशी जा रही हैं. कुछ जगह तो इसके लिए भूमि भी चिन्हित कर ली गई है. आने वाले दिनों में संबंधित विभागों के साथ समन्वय कर प्लांट स्थापित करने के लिए कार्यादेश जारी किए जाएंगे.

ऑक्सीजन कोटा बढ़ाने के लिए संकेत

मुख़्य सचिव निरंजन आर्य ने बताया कि केंद्रीय गृह सचिव तथा स्वास्थ्य सचिव ने केन्द्र सरकार की ओर से राजस्थान के लिए ऑक्सीजन का कोटा बढ़ाने के संकेत दिए गये हैं. बढ़े हुए कोटे की आपूर्ति जामनगर से करने की मांग की गई है. कुछ जिला कलेक्टर्स से ऑक्सीजन प्लांट के लिए जमीन चिन्हित करने कहा गया है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज