• Home
  • »
  • News
  • »
  • rajasthan
  • »
  • Rajasthan: BJP प्रदेशाध्यक्ष पूनिया का गहलोत सरकार पर तंज, बोले- सरकार का इम्युनिटी सिस्टम कमजोर

Rajasthan: BJP प्रदेशाध्यक्ष पूनिया का गहलोत सरकार पर तंज, बोले- सरकार का इम्युनिटी सिस्टम कमजोर

पूनिया ने कहा कि कोरोना का संक्रमण लगातार बढ़ता जा रहा है लेकिन सरकार ने अपने आपको होटल में कैद कर रखा है.

पूनिया ने कहा कि कोरोना का संक्रमण लगातार बढ़ता जा रहा है लेकिन सरकार ने अपने आपको होटल में कैद कर रखा है.

प्रदेश के सियासी घमासान में वार-पलटवार का सिलसिला लगातार जारी है. सीएम गहलोत के बयान पर पलटवार करते हुए बीजेपी प्रदेशाध्यक्ष सतीश पूनिया ने कहा कि राजस्थान के लोगों की इम्युनिटी तो ठीक है लेकिन लगता है सरकार का इम्युनिटी सिस्टम कमजोर है.

  • Share this:
जयपुर. प्रदेश के सियासी घमासान (Political crisis) में वार-पलटवार का सिलसिला लगातार जारी है. हाल ही में सीएम अशोक गहलोत (Ashok Gehlot) ने बयान दिया था कि हम जनता को कोरोना से भी बचाएंगे और अपनी सरकार भी बचाएंगे. उनके इस बयान पर पलटवार करते हुए बीजेपी प्रदेशाध्यक्ष सतीश पूनिया (Satish punia) ने कहा कि राजस्थान के लोगों की इम्युनिटी तो ठीक है लेकिन लगता है सरकार का इम्युनिटी सिस्टम कमजोर है. जनता तो बच जाएगी लेकिन सरकार अपने आप को बचा पाएगी इसमें संशय है.

नियमों का मखौल उड़ाना कांग्रेस की आदत
पूनिया ने कहा कि कोरोना का संक्रमण लगातार बढ़ता जा रहा है लेकिन सरकार ने अपने आपको होटल में कैद कर रखा है. उन्होंने कहा कि नियमों का मखौल उड़ाना कांग्रेस की आदत है. कोरोना को लेकर विधायकों के खिलाफ परिवाद दर्ज हुआ है. स्पीकर डॉ. सीपी जोशी की एसएलपी पर आए सुप्रीम कोर्ट के आदेश के बाद बीजेपी नेताओं ने कहा कि यह दलील सही है कि मामले में स्पीकर की राजनीतिक मंशा नजर आती है. बीजेपी प्रदेशाध्यक्ष सतीश पूनिया ने कहा कि स्पीकर का पद वैसे तो संवैधानिक है लेकिन वो भी किसी दल के सदस्य होते हैं लिहाजा पक्षपात की गुंजाइश बनी रहती है. पूनिया ने कहा कि संविधान में सुधार की काफी गुंजाइश है. पहले भी इस तरह के कई मामले हुए हैं और सुप्रीम कोर्ट ने इनकी विस्तृत व्याख्या की है.

Rajasthan: कानूनी दांवपेच में उलझा सियासी संकट, हाईकोर्ट आज फैसला सुनाएगा या नहीं! संशय बरकरार

सरकार के पास बहुमत के लिए पर्याप्त संख्या नहीं
विधानसभा सत्र के मसले पर प्रदेशाध्यक्ष सतीश पूनिया ने कहा कि विधानसभा का आकस्मिक सत्र बुलाया जा सकता है, लेकिन सरकार के पास बहुमत के लिए पर्याप्त संख्या नहीं है. उन्होंने कहा कि जिन्हें भय होता है उन्हें ही चिन्ता होती है. यही वजह है कि विधायकों को पिछले दस दिन से बाड़े में बंद रखा गया है. पूनिया ने कहा कि यदि राज्य सरकार के पास पर्याप्त संख्या होती तो विधायकों को होटल में रखने की जरुरत ही नहीं पड़ती.

Rajasthan weather Alert: आज 8 जिलों में भारी बारिश का अलर्ट, 27 जुलाई तक सक्रिय रहेगा मानसून

स्पीकर पद की प्रतिष्ठा गिरी है
वहीं उप नेता प्रतिपक्ष राजेन्द्र राठौड़ ने कहा कि स्पीकर पद की प्रतिष्ठा पिछले बरसों में काफी गिरी है. राजेन्द्र राठौड़ ने कहा कि सुप्रीम कोर्ट के आदेश से स्पष्ट हो गया है कि उच्च न्यायालय स्पीकर की न्यायिक शक्तियों में हस्तक्षेप कर सकता है. उन्होंने कहा कि कोर्ट का फैसला आने वाले समय में नजीर बनेगा. राठौड़ ने कहा कि कांग्रेस में आंतरिक सत्ता संघर्ष के चलते मामला न्यायिक विवाद में उलझा है और दुर्भाग्य है कि सरकार गायब नजर आ रही है.

पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

विज्ञापन
विज्ञापन

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज