लाइव टीवी

COVID-19: मुकाबले की तैयारियां युद्धस्तर पर, 1 लाख बेड तैयार किए जा रहे क्वारंटाइन के लिए
Jaipur News in Hindi

Sachin Sharma | News18 Rajasthan
Updated: March 23, 2020, 5:15 PM IST
COVID-19: मुकाबले की तैयारियां युद्धस्तर पर, 1 लाख बेड तैयार किए जा रहे क्वारंटाइन के लिए
जयपुर स्थित सवाई मानसिंह अस्पताल के चरक भवन को कोरोना ओपीडी एंड केअर यूनिट में बदल दिया गया है.

प्रदेश में मुख्यमंत्री अशोक गहलोत (CM Ashok Gehlot) के निर्देशन में कोरोना वायरस (Corona virus) से लड़ने की तैयारी तेज कर दी गई है. मुख्यमंत्री गहलोत ने 1 लाख लोगों को क्वारंटाइन (Quarantine) करने की तैयारी के निर्देश दिए हैं.

  • Share this:
जयपुर. प्रदेश में मुख्यमंत्री अशोक गहलोत के निर्देशन में कोरोना वायरस (Corona virus) से लड़ने की तैयारी तेज कर दी गई है. मुख्यमंत्री गहलोत ने 1 लाख लोगों को क्वारंटाइन (Quarantine) करने की तैयारी के निर्देश दिए हैं. चिकित्सा एवं स्वास्थ्य विभाग ने चिकित्सा मंत्री डॉ. रघु शर्मा और एसीएस रोहित कुमार सिंह के नेतृत्व में सीएम के निर्देश की पालना करते हुए इसकी तैयारी पूरी कर ली है. पूरे प्रदेश में सभी जिलों में अस्पतालों में बेड्स की संख्या तय करते हुए उन्हें चिन्हित कर कोरोना पीड़ितों के लिए आरक्षित करने के निर्देश दिए गए हैं.

एसएमएस के चरक भवन को कोरोना ओपीडी एंड केअर यूनिट में बदला
कोरोना संक्रमण को रोकने के लिए राज्य के सबसे बड़े जयपुर स्थित सवाई मानसिंह अस्पताल के चरक भवन को कोरोना ओपीडी एंड केअर यूनिट में बदल दिया गया है. इससे अब एसएमएस में कोरोना के 500 रोगियों को भर्ती किया जा सकेगा. कोरोना वायरस से पीड़ित और संदिग्ध मरीजों को तुरंत राहत देने के लिए राज्य सरकार ने बड़ा फैसला किया है. एसएमएस में लगभग 20 वार्ड्स को खाली करवाकर कोरोना पॉजिटिव मरीजों के लिए 500 बेड की व्यवस्था के करने आदेश किये जारी किये गए हैं.

विभागवार कॉमन वार्ड्स बनाये गए हैं



23 बेड्स का आईसीयू भी कोरोना से पीड़ित मरीजों के लिए आरक्षित रखा गया है. इसके अलावा य​हां 30 बैड के वैकल्पिक आईसीयू की भी व्यवस्था की गई है. साथ ही यहां 30 वेंटिलेटर भी उपलब्ध कराए गए हैं. एसएमएस में अब सामान्य सर्जरी नहीं की जा रही है. एसएमएस में विभिन्न विभागों की यूनिट्स को मर्ज कर एक विभाग बनाया जा रहा है. विभागवार कॉमन वार्ड्स बनाये गए हैं ताकि मरीजों और उनका इलाज कर रहे डॉक्टर्स को परेशानी ना हो. अस्पताल प्रशासन ने 150 बेड चरक भवन में और 350 बेड एसएमएस के मुख्य भवन डेडिकेटे कर दिए हैं. कोरोना की वर्तमान में चल रही ओपीडी को धन्वंतरि और इमरजेंसी से चरक भवन में शिफ्ट कर दी गई है.

सरकार द्वारा प्रदेश में जिलों में चिन्हित बेड्स की संख्या.

जिला        बेड्स की संख्या
अलवर -     3000
अजमेर -     7000
बांसवाड़ा -   2000
बारां -        1500
बाड़मेर - 2000
भरतपुर - 5000
भीलवाड़ा - 6000
बीकानेर - 7000
बूंदी - 1500
चित्तौड़गढ़ - 2000
चूरू - 1500
दौसा - 1500
धौलपुर - 1500
डूंगरपुर - 1500
हनुमानगढ़ - 2000
जैसलमेर - 1500
जालोर - 1500
जयपुर - 10000
झालावाड़ - 2000
झुंझुनू - 3000
जोधपुर - 7000
करौली - 1500
कोटा - 7000
नागौर - 4000
पाली - 5000
प्रतापगढ़ - 1500
राजसमंद - 3000
सवाईमाधोपुर - 7000
श्री गंगानगर - 2000
सीकर - 1500
सिरोही - 2000
टोंक - 5000
उदयपुर - 6000
कुल - 109500

निजी अस्पतालों और निजी मेडिकल कॉलेजों को भी निर्देश
कोरोना वायरस से निपटने के लिए निजी अस्पतालों और निजी मेडिकल कॉलेजों को भी निर्देश दिए गए हैं. उन्हें भी 25 फीसदी बेड्स कोरोना के लिए आरक्षित रखने होंगे. इसके लिए एसीएस रोहित कुमार सिंह ने अधिसूचना जारी कर दी है. राज्य में स्थित 100 या अधिक बेड्स क्षमता वाले निजी अस्पतालों और निजी मेडिकल कॉलेजो को यह निर्देश दिए गए हैं. राज्य सरकार के इस फैसले से पता चलता है कि वह कोरोना को हराने के लिए हर तरीके से तैयार है.

संकल्प और सजगता से ही हराया जा सकता है
चिकित्सा एवं स्वास्थ्य मंत्री डॉ. रघु शर्मा ने कहा अब जरूरत है तो सिर्फ आम आदमी की जागरूकता की, क्योंकि कोरोना को सिर्फ संकल्प और सजगता से ही हराया जा सकता है.

 

COVID-19: आर्थिक सहयोग के लिए आगे आने लगे जनप्रतिनिधि और आमजन

 

COVID-19: राजस्थान में 3 नए पॉजिटिव केस आए, 28 तक पहुंचा आंकड़ा

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए जयपुर से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: March 23, 2020, 5:12 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर

भारत

  • एक्टिव केस

    5,218

     
  • कुल केस

    5,865

     
  • ठीक हुए

    477

     
  • मृत्यु

    169

     
स्रोत: स्वास्थ्य मंत्रालय, भारत सरकार
अपडेटेड: April 09 (05:00 PM)
हॉस्पिटल & टेस्टिंग सेंटर

दुनिया

  • एक्टिव केस

    1,151,291

     
  • कुल केस

    1,602,619

    +84,493
  • ठीक हुए

    355,671

     
  • मृत्यु

    95,657

    +7,197
स्रोत: जॉन हॉपकिंस यूनिवर्सिटी, U.S. (www.jhu.edu)
हॉस्पिटल & टेस्टिंग सेंटर