COVID-19: रेलयात्रियों को लॉकडाउन खुलने का बेसब्री से इंतजार, मई-जून के करवाए रिजर्वेशन

जयपुर से जुड़ी 125 ट्रेनों में 60 फीसदी बुकिंग हो चुकी है. सबसे ज्यादा बुकिंग स्लीपर की हुई है.
जयपुर से जुड़ी 125 ट्रेनों में 60 फीसदी बुकिंग हो चुकी है. सबसे ज्यादा बुकिंग स्लीपर की हुई है.

कोरोना (COVID-19) के चलते लंबे समय से अपनी यात्राओं को स्थगित करके बैठे रेल यात्रियों को अब लॉकडाउन (Lockdown) के खुलने का इंतजार है. यात्रियों ने मई-जून के लिए ट्रेनों में रिजर्वेशन (Reservation) करवाने शुरू कर दिए हैं.

  • Share this:
जयपुर. कोरोना (COVID-19) के चलते लंबे समय से अपनी यात्राओं को स्थगित करके बैठे रेल यात्रियों को अब लॉकडाउन (Lockdown) के खुलने का इंतजार है. यात्रियों ने मई-जून के लिए ट्रेनों में रिजर्वेशन (Reservation) करवाने शुरू कर दिए हैं. उत्तर पश्चिम रेलवे में सिर्फ जयपुर से जुड़ी ट्रेनों में 60 फीसदी बुकिंग कर ली गई है. रेलवे भी लॉकडाउन खुलने और नहीं खुलने दोनों ही परिस्थितियों के लिए तैयारी में जुटा हुआ है. अगर लॉकडाउन निर्धारित समय में खुलता है तो ट्रेनों संचालन के साथ ही सोशल डिस्टेंसिंग का पूरा ध्यान रखा जाएगा. इसके लिए रेलवे ने योजना तैयार कर ली है.

दोनों हालात की तैयारियां
हालांकि अभी तक ट्रेनों के संचालन की तिथि पर संशय बना हुआ है, लेकिन यात्रियों महज संभावनाओं के आधार पर टिकट बुक करवाने शुरू कर दिए हैं. NWR में सिर्फ जयपुर से जुडी ट्रेनों में 60 फीसदी बुकिंग हो गई है. वर्तमान हालात को देखते हुए रेलवे अगर ट्रेनों का संचालन शुरू भी करेगा तो उसमें सोशल डिस्टेंसिंग का पूरा ध्यान रखा जाएगा. इसके लिए एक बोगी में 6 की बजाय सिर्फ 4 सीट उपलब्ध कराई जाएगी. दो सीटों को निकाल लिया गया है ताकि यात्री थोड़ा दूर दूर बैठ सके.

रेलयात्रियों से धैर्य रखने की भी अपील
इस बीच रेलवे बोर्ड ने आधिकारिक रूप से अंतिम फैसला आने तक रेलयात्रियों से धैर्य रखने की भी अपील की है. रेलवे मुख्यालय सभी जोन से लगातार संपर्क में है और मैराथन वीडियो कांन्फ्रेसिंग का दौर चल रहा है. रेलवे को अपनी सभी तैयारियां दोनों ही हालात के लिए करनी पड़ रही है. अगर लॉकडाउन खुला तो 14 अप्रैल की रात 12 बजे से ही रेल संचालन शुरू करना है और अगर बना रहा तो उस हालात बुकिंग कैसिंल करने के लिए खाका तैयार किया जा रहा है.



जयपुर से जुड़ी 125 ट्रेनों में 60 फीसदी बुकिंग हो चुकी है
रेलवे सूत्रों के अनुसार फिलहाल जयपुर से जुड़ी 125 ट्रेनों में 60 फीसदी बुकिंग हो चुकी है. सबसे ज्यादा बुकिंग स्लीपर की हुई है. जयपुर से शुरू होने वाली करीब 35 और बाइपास होकर गुजरने वाली करीब 90 ट्रेनों में 60 फीसदी बुकिंग की गई है. अगर ये लॉकडाउन लंबा चला तो इन सभी बुकिंग को रद्द करके रिफंड करने की योजना भी तैयार है. इन दो महीनों में गर्मियों की छुट्टियां भी होती है. इस लिहाज से देखा जाए तो इस बार ये बुकिंग बेहद कम है.

एसी कोच की बजाय स्लीपर में सफर करना ज्यादा पसंद कर रहे हैं
इस बार लोग एसी कोच की बजाय स्लीपर में सफर करना ज्यादा पसंद कर रहे हैं. बुक हुई कुल सीट में करीब 40 फीसदी सीटें स्लीपर क्लास की हैं. रेलवे के सामने दूसरी सबसे बड़ी चुनौती भीड़ की है. लोग लॉकडाउन खुलने का इंतज़ार कर रहे है और बाद में ट्रेनों में भीड़ उमड़ेगी. ऐसे में रेलवे को यात्रियों को संक्रमण से बचाना है और एहतियात भी बरतना है. इन परिस्थितियों को देखते हुए जनरल कोच में भी यात्रियों की संख्या निर्धारित करने पर विचार किया जा रहा है.

जनरल टिकट बांटने का कोटा निर्धारित हो सकता है
रेलवे हर स्टेशन पर जनरल टिकट बांटने का कोटा निर्धारित कर सकता है. स्टेशन पर ट्रेन के हर कोच में यात्रियों को बिठाने के लिए आरपीएफ की मदद ली जाएगी. अब इन सारे पहलुओं पर अंतिम फैसला रेलवे को लेना है. लिहाजा इसकी तैयारियां जोरों पर हैं. उम्मीद की जा रही है लॉकडाउन खुला भी तो पूरी योजना के तहत रेलवे को चरणबद्ध तरीके से शुरू किया जाएगा.

COVID-19: राजस्थान में 14 अप्रैल के बाद भी जारी रहेगा लॉकडाउन !

COVID-19: राजस्थान में 42 नए पॉजिटिव मरीजों के साथ आंकड़ा पहुंचा 343 पर
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज