Covid-19 Rajasthan: आज से स्वास्थ्य भवन में 24 घंटे के लिए हेल्प डेस्क शुरू, ये है हेल्पलाइन नंबर

24 घंटे के लिए हेल्प डेस्क शुरू की जा रही है. (फाइल फोटो)

24 घंटे के लिए हेल्प डेस्क शुरू की जा रही है. (फाइल फोटो)

इसका हेल्पलाइन नंबर 2225624, 2225000 है. इन नंबरों पर इलाज में आ रही किसी भी कठिनाई का निवारण किया जाएगा. इसकी जानकारी चिकित्सा मंत्री रघु शर्मा (Raghu Sharma) ने दी.

  • News18Hindi
  • Last Updated: April 25, 2021, 1:41 PM IST
  • Share this:
जयपुर. राजस्थान (Rajasthan) में कोरोना वायरस (Corona virus) के मामले कम होने के नाम नहीं ले रहे हैं. यहां पर रोज हजारों कोरोना मरीज सामने आ रहे हैं. इसके अलावा रोज कई मरीजों की मौत हो रही है. ऐसे में लोगों के बीच भय का माहौल बना हुआ है. वहीं, कोरोना के प्रसार को रोकने के लिए राज्य सरकार और कोरोना वॉरियर्स दिनरात काम कर रहे हैं. इसी बीच खबर है कि कोरोना के बढ़ते मामले को देखते हुए आज से स्वास्थ्य भवन में 24 घंटे के लिए हेल्प डेस्क शुरू की जा रही है. इसका हेल्पलाइन नंबर 2225624, 2225000 है. इन नंबरों पर इलाज में आ रही किसी भी कठिनाई का निवारण किया जाएगा. इसकी जानकारी चिकित्सा मंत्री रघु शर्मा ने दी.

वहीं, कल खबर सामने आई थी कि कोरोना अब राजस्‍थान में भी अपने पूरे पैर पासरता नजर आ रहा है. पिछले 24 घंटे में कोरोना के 15,355 नए संक्रमित मामले सामने आए हैं. वहीं 74 लोगों ने इस बीमारी के समने दम तोड़ दिया है. इन आंकड़ाें को मिला कर राजस्‍थान में कुल सक्रिय मामलों की संख्या 1,27,616 हो गई है. वहीं कुल मामले अभी तक पांच लाख के करीब पहुंच गए हैं. वहीं मौत की संख्या 3527 हो गई है.



गुरुवार को 59 मौतें हुई थीं
इससे एक दिन पहले राजस्थान में कोरोना संक्रमण के 15358 नए मामले सामने आए थे. गुरुवार को यह संख्या 14668 थी. यानी शुक्रवार को पूरे प्रदेश में गुरुवार के मुकाबले 690 मामले ज्यादा आए. शुक्रवार को पिछले 24 घंटे में कोरोना ने 64 लोगों की जान ली थी, गुरुवार को 59 मौतें हुई थीं.

कोरोना पर राजनीति जारी

आपको बता दें कि इस बीच राजस्थान में कोरोना की स्थिति को लेकर राजनीति चरम पर है. पिछले कई दिनों से राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत केंद्र सरकार पर हमलावर हैं. इस बार उन्होंने केंद्र में राज्य का प्रतिनिधित्व कर रहे सांसदों से ट्वीट कर अपील की कि वे राजस्थान में ऑक्सीजन की कमी और  वैक्सीनेशन को लेकर केंद्र पर दबाव बनाएं. गहलोत के इस ट्वीट के तुरंत बाद नागौर से राष्ट्रीय लोकतांत्रिक पार्टी के सांसद हनुमान बेनीवाल आगे आए और गहलोत सरकार पर पलटवार किया. बेनीवाल ने ट्वीट के जरिए ही मुख्यमंत्री को याद दिलाया कि उन्होंने पिछले साल कोरोना से जारी जंग में किस तरह राज्य की मदद की थी. ट्विवटर पर उन्होंने बताया कि पिछले साल उन्होंने ही सबसे पहले सांसद कोष से 50 लाख रुपये वेंटिलेटर के लिए दिए थे. इसके अलावा उन्होंने राज्य सरकार पर इस मुद्दे पर राजनीति करने का भी आरोप लगाया. उन्होंने कहा कि आप और आपके मंत्री सिर्फ औपचारिकता निभा रहे हैं.




अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज