• Home
  • »
  • News
  • »
  • rajasthan
  • »
  • Jaipur: एक जगह 100 से ज्यादा विधायक इकठ्ठे हो सकते हैं तो बाराती क्यों नहीं ? टैंट व्यवसायियों ने उठाये सवाल

Jaipur: एक जगह 100 से ज्यादा विधायक इकठ्ठे हो सकते हैं तो बाराती क्यों नहीं ? टैंट व्यवसायियों ने उठाये सवाल

राजस्थान के गृह विभाग ने सभी जिला मजिस्ट्रेट और जिला कलक्टर को इसके आधिकारिक आदेश जारी कर इनकी पालना सुनिश्चित करने के दिशा निर्देश दिए हैं.

राजस्थान के गृह विभाग ने सभी जिला मजिस्ट्रेट और जिला कलक्टर को इसके आधिकारिक आदेश जारी कर इनकी पालना सुनिश्चित करने के दिशा निर्देश दिए हैं.

राज्यसभा चुनाव (Rajya Sabha elections) में कांग्रेस और बीजेपी (Congress and BJP) एक दूसरे पर विधायकों की बाड़ेबंदी करने का आरोप लगा रही है. लेकिन इस बीच कुछ लोग ऐसे भी हैं जो दोनों पार्टियों पर कोविड-19 (COVID) की गाइडलाइन के उल्लंघन का आरोप लगाते हुए अपने लिए भी इसी तरह की छूट की मांग कर रहे हैं.

  • Share this:
जयपुर. राज्यसभा चुनाव (Rajya Sabha elections) में कांग्रेस और बीजेपी (Congress and BJP) एक दूसरे पर विधायकों की बाड़ेबंदी करने का आरोप लगा रही है. लेकिन इस बीच कुछ लोग ऐसे भी हैं जो दोनों पार्टियों पर कोविड-19 (COVID) की गाइडलाइन के उल्लंघन का आरोप लगाते हुए अपने लिए भी इसी तरह की छूट की मांग कर रहे हैं. प्रदेश के टैंट व्यवसायियों का कहना है कि एक तरफ तो राज्य और केंद्र सरकार ने शादी समारोह में 50 से अधिक व्यक्तियों के शरीक होने पर रोक लगा रखी है. वहीं दूसरी तरफ प्रदेश में कांग्रेस और बीजेपी अपने-अपने विधायकों की एक ही जगह बाड़ेबंदी कर रही है. ऐसे में हमारी केंद्र और राज्य सरकार से मांग है कि शादी समारोह में 50 व्यक्तियों की लिमिट को खत्म किया जाए.

1 जुलाई का अंतिम मुहूर्त
राजस्थान टैंट डीलर्स किराया व्यवसाय समिति के अध्य्क्ष रवि जिंदल का कहना है कि 15 मार्च से शादी समारोह बंद है. अप्रेल और मई में शादियों का सीजन होता है. लेकिन लॉकडाउन के चलते वो भी निकल गया. अब जून में शादियों के कुछ मुहूर्त हैं. वहीं 1 जुलाई को अंतिम सावा है. इसके बाद 25 नवंबर को देवउठनी एकादशी से शादियों का सीज़न फिर से शुरू होगा. इस बीच साढ़े 4 महीने तक कोई शादी समारोह नहीं होंगे. ऐसे में हमारी सरकार से मांग है कि बचे हुए दिनों के लिए शादी में 50 लोगों की लिमिट को हटाया जाए ताकि मैरिज गार्डन, बैंड बाजा, हलवाई, इवेंट और शादी से जुड़े अन्य व्यवसायियों को रोजगार मिल सके.

सीएम से लेकर पीएम तक लगाई गुहार
प्रदेश के टैंट व्यवसायियों ने अपनी मांग को लेकर मुख्यमंत्री अशोक गहलोत से लेकर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी तक गुहार लगाई है. सीएम और पीएम को लिखे लैटर में टैंट व्यवसायियों ने कहा है कि लॉकडाउन के चलते उनका व्यापार पूरी तरह से चौपट हो चुका है. वहीं अनलॉक 1.0 में गाइडलाइन के चलते प्रदेश के करीब 50 से 55 हज़ार टैंट व्यवसायी और इनसे जुड़े इवेंट, फूल, लाइट, जनरेटर, लवाजमा, बैंड, डीजे साउंड,कैटरिंग और हलवाई के काम मे लगे करीब तीन से चार लाख लोग बेरोजगार हो गए हैं. एक तरफ तो गाइडलाइन के कारण आमजन के सामने रोजी रोटी का संकट खड़ा हो गया है. वहीं दूसरी ओर राज्यसभा चुनाव को जीतने के लिए दोनों ही पार्टियां गाइडलाइन की परवाह नहीं कर रही है.

टैंट व्यवसायियों ने दिए 13 सूत्री सुझाव
प्रदेश के टैंट व्यवसायियों ने शादी समारोह में व्यक्तियों की लिमिट हटाने को लेकर राज्य सरकार को 13 सूत्री सुझाव भी दिए हैं. टैंट व्यवसायियों का कहना है कि अगर इन सुझावों को लागू किया जाए तो वे इस कोरोना काल में भी संक्रमण मुक्त शादी समारोह आयोजित करवा सकते हैं. सुझावों में टैंट व्यवसायियों ने कहा कि समारोह स्थल के गेट पर सेनेटाइजर लगा हो, मास्क लगाना अनिवार्य हो, भोजन व्यवस्था केवल बिठाकर की जाए, बुफे सिस्टम पर पूरी तरह से रोक रहे और प्रति मेहमान के हिसाब से 100 फीट का क्षेत्रफल अनिवार्य किया जाए.

Rajasthan: प्रदेश में कभी भी घोषित हो सकते हैं 3878 ग्राम पंचायतों के चुनाव

Rajasthan: पाली में पंच-पटेलों की दादागिरी, युवक को जूते में भरकर पानी पिलाया, पढ़ें इनसाइड स्टोरी

पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

विज्ञापन