Rajasthan: प्रदेश के कॉलेज स्टूडेंट्स पढ़ेंगे कोरोना की कहानी ! उच्च शिक्षामंत्री ने दिये संकेत
Jaipur News in Hindi

Rajasthan: प्रदेश के कॉलेज स्टूडेंट्स पढ़ेंगे कोरोना की कहानी ! उच्च शिक्षामंत्री ने दिये संकेत
शिक्षा विभाग का मानना है कि स्टूडेंट्स में इस महामारी को लेकर जागरुकता बनी रहे.. (कॉन्सेप्ट इमेज)

वैश्विक महामारी कोरोना (COVID-19) की कहानी को राजस्थान के उच्च शिक्षा के पाठ्यक्रम (syllabus) में शामिल किया जा सकता है. कॉलेज शिक्षा के सिलेबस में इसे शामिल करने पर विचार-विमर्श किया जा रहा है. इसे सिलेबस में जोड़ने के लिए जल्दी कमेटी गठित की जा सकती है.

  • Share this:
जयपुर. वैश्विक महामारी कोरोना (COVID-19) की कहानी को राजस्थान के उच्च शिक्षा के पाठ्यक्रम (syllabus) में शामिल किया जा सकता है. कॉलेज शिक्षा के सिलेबस में इसे शामिल करने पर विचार-विमर्श किया जा रहा है. इसे सिलेबस में जोड़ने के लिए जल्दी कमेटी गठित की जा सकती है. उच्च शिक्षा मंत्री भंवर सिंह भाटी ने बताया प्रदेश की कॉलेज शिक्षा में कोरोना संक्रमण महामारी और लॉकडाउन समेत इस पर काबू पाने के तमाम प्रयासों को सिलेबस में शामिल किया जा सकता है. इसे लेकर विचार मंथन जारी है.

स्टूडेंट्स में इस महामारी को लेकर जागरुकता बनी रहे
शिक्षा मंत्री भंवर सिंह भाटी ने बताया कि महामारी में विपरीत हालात के दौरान कोरोना वॉरियर्स के योगदान को भी चैप्टर में शामिल किये जाने की संभावना है. दरअसल विभाग का मानना है कि स्टूडेंट्स में इस महामारी को लेकर जागरुकता बनी रहे. इसके साथ ही आगामी दिनों में इस तरह की परिस्थितियों में लड़ने के जज्बे से उन्हें प्रेरणा मिल सके. इस लिहाज से इसे पाठ्यक्रम में जोड़ने के विभाग को सुझाव मिले हैं. हाल ही में स्कूली शिक्षा में भी इसे शामिल किए जाने पर निर्णय लिया गया है. कुछ समय पूर्व ही शिक्षा विभाग ने इस तरह का मानस बनाया था. उसके बाद उच्च शिक्षा विभाग ने भी इसमें अपनी रुचि दर्शायी है.

आनंदपाल एनकाउंटर केस: CBI की जांच पर परिवहन मंत्री प्रताप सिंह खाचरियावास ने उठाये ये गंभीर सवाल
शिक्षा विभाग रद्द कर चुका इस अपनी परीक्षाएं


उल्लेखनीय है कि इस वैश्विक महामारी के प्रदेश में 20 हजार से ज्यादा मरीज सामने आ चुके हैं. वहीं 450 से ज्यादा से लोगों की मौत हो चुकी है. राज्य में इनकी संख्या दिनोंदिन बढ़ रही है. कोविड-19 के खौफ के चलते उच्च शिक्षा विभाग ने इस साल अपनी सभी परीक्षायें रद्द कर दी हैं. उच्च शिक्षा में सभी विद्यार्थियों को सरकार ने सीधे प्रमोट करने का फैसला लिया गया है. अब उच्च शिक्षा विभाग की इसकी विस्तृत जानकारी, प्रभाव और हालात से निपटने के उपायों को पाठ्यक्रम के माध्यम से विद्यार्थियों को अवगत कराना चाहता है. इसलिए इसे पाठ्यक्रम में शामिल करने पर विचार विमर्श किया जा रहा है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading