Rajasthan: जयपुर के आराध्य देव गोविंद देव जी समेत इन बड़े मंदिरों के पट 7 सितंबर बाद भी रहेंगे बंद, जानिये क्यों ?
Jaipur News in Hindi

Rajasthan: जयपुर के आराध्य देव गोविंद देव जी समेत इन बड़े मंदिरों के पट 7 सितंबर बाद भी रहेंगे बंद, जानिये क्यों ?
मंदिर प्रशासन ने सोशल डिस्टेंसिंग की पूरी तरह पालन नहीं हो पाने का अंदेशा जताते हुए 7 सितंबर को मंदिर नहीं खोलने का निर्णय लिया है.

कोरोना काल (COVID-19) में राज्य सरकार की ओर से आगामी 7 सितंबर से धार्मिक स्थल (Religious places) खोलने की अनुमति के बावजूद राजधानी जयपुर (Jaipur) में गोविंद देव जी (Govind Dev Ji), मोती डूंगरी गणेश जी और गलता पीठ के पट नहीं खुलेंगे.

  • Share this:
जयपुर. कोरोना संक्रमण (COVID-19) से जूझ रहे प्रदेश में राज्य सरकार ने आगामी 7 सितंबर से सभी धार्मिक स्थलों (Religious places) को खोलने की अनुमति प्रदान कर दी है. लेकिन इसके बावजूद छोटी काशी के नाम से मशहूर राजधानी जयपुर के आराध्य देव गोविंद देव जी (Govind Dev Ji) समेत कई मंदिरों के पट बंद (Close) रहेंगे. इन मंदिरों में अपने आराध्य देवों के दर्शन के इच्छुक श्रद्धालुओं को अभी थोड़ा इंतजार और करना पड़ेगा.

30 सितंबर तक बंद रहेगा गोविंद देव जी मंदिर
जानकारी के अनुसार गोविन्द देव जी के मंदिर के पट आगामी 30 सितंबर तक बंद रहेंगे. गुलाबी नगरी के आराध्य देव गोविन्द देव जी मंदिर समेत गलता मंदिर प्रशासन पहले ही 7 सितंबर से मंदिर खोलने को लेकर असमर्थतता जता चुके हैं. गोविंद देव जी मंदिर प्रशासन की तरफ से 30 सितंबर तक मंदिर नहीं खोलने का निर्णय लिया गया है. गोविंद देव जी के मंदिर में प्रतिदिन हजारों की संख्या में श्रद्धालु पहुंचते हैं. मंदिर प्रशासन ने सोशल डिस्टेंसिंग की पूरी तरह पालन नहीं हो पाने का अंदेशा जताते हुए 7 सितंबर को मंदिर नहीं खोलने का निर्णय लिया है.

Rajasthan: 7 सितंबर से MP-UP और धार्मिक स्थलों के लिए रोडवेज चलाएगा अपनी बसें, बुकिंग शुरू
गलताजी, गणेश मंदिर और झारखंड महादेव मंदिर भी रहेंगे बंद


वहीं अब मोती डूंगरी गणेश मंदिर प्रशासन ने भी 7 सितंबर से मंदिर खोलने से मना कर दिया है. मंदिर महंत कैलाश शर्मा ने इस संबंध में ऑडियो संदेश जारी कर कहा की मोती डूंगरी गणेश मंदिर 7 सितंबर को नहीं खोला जायेगा. मंदिर को भक्तों के दर्शन लिए 7 सितंबर की बजाय 18 सितंबर को खोला जायेगा. हालांकि कुछ दिन पहले मंदिर प्रशासन ने 7 सितंबर से मंदिर खोलने की बात कही थी, लेकिन गुरुवार को उसने ऑडियो संदेश के जरिये ताजा स्थिति स्पष्ट कर दी. इसी के साथ साथ प्रसिद्ध गलता पीठ के पट भी श्रद्धालुओं के लिये 7 सितंबर के बाद भी बंद रहेंगे. वहीं कुछ अन्य प्रमुख मंदिरों के भी 7 सितंबर को खोलने को लेकर अभी असमंजस की स्थिति बनी हुई है.

COVID-19:गहलोत सरकार का बड़ा फैसला, सितंबर माह से फिर होगी सीएम से लेकर अधिकारियों-कर्मचारियों के वेतन में कटौती

बीकानेर का करणी माता मंदिर खुल सकता है 7 सितंबर को
छोटी काशी के तीन प्रमुख मंदिरों का प्रशासन फिलहाल 7 सितंबर को मंदिर खोलने को लेकर मना कर चुका है. ऐसे में इन मंदिरों में दर्शन के लिए भक्तों को अभी और इंतजार करना पड़ेगा. हालांकि जयपुर में खोले हनुमान मंदिर समेत कई प्रमुख छोटे- बड़े मंदिर 7 सितंबर से श्रद्धालुओं के लिए खोल दिए जायेंगे. वहीं बीकानेर स्थित प्रसिद्ध करणी माता मंदिर 7 सितंबर से खुलने की पूरी संभावना है. करणी माता मंदिर के प्रन्यास अध्यक्ष गिरिराज सिंह ने कहा कि आज शाम तक इसके आदेश जारी हो सकते हैं.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज