Covid-19 Update: जयपुर-जोधपुर समेत राजस्थान के 10 शहरों में 30 अप्रैल तक बढ़ा नाइट कर्फ्यू

अब बलिया में भी नाइट कर्फ्यू का ऐलान (प्रतीकात्मक फोटो)

अब बलिया में भी नाइट कर्फ्यू का ऐलान (प्रतीकात्मक फोटो)

Rajasthan COVID-19 Update: राजस्थान में शुक्रवार को कोरोना वायरस संक्रमण के 3970 नए मामले आए, जिससे राज्य में संक्रमितों की अब तक की कुल संख्या 3,54,287 हो गई है. इसको देखते हुए अशोक गहलोत सरकार ने नाइट कर्फ्यू की अवधि बढ़ाने का फैसला किया.

  • Share this:
जयपुर. कोरोना वायरस संक्रमण के बढ़ते मामलों के बीच राजस्थान सरकार ने शुक्रवार को 10 नगरीय इलाकों में रात्रिकालीन कर्फ्यू की अवधि 30 अप्रैल तक बढ़ा दी. इस फैसले के तहत राज्य के अजमेर, अलवर, भीलवाड़ा, चित्तौड़गढ़, डूंगरपुर, जयपुर, जोधपुर, कोटा व आबूरोड की नगरीय सीमा में रात आठ बजे से प्रातः छह बजे तक रात्रिकालीन कर्फ्यू (Night curfew) रहेगा. इसके लिए बाजार व व्यावसायिक प्रतिष्ठान शाम सात बजे बंद कर दिए जाएंगे. उदयपुर में बाजार व प्रतिष्ठान शाम पांच बजे बंद होंगे. इससे पहले रात्रिकालीन कर्फ्यू का समय रात 10 बजे से सुबह छह बजे तक था और यह 19 अप्रैल तक के लिए लगाया गया था.

राज्य में शुक्रवार को कोरोना वायरस संक्रमण के 3970 नये मामले आये जिससे राज्य में संक्रमितों की अब तक की कुल संख्या 3,54,287 हो गई है. राज्य में इस घातक संक्रमण में 12 और लोगों की मौत हो गई जिससे मरने वालों की संख्या 2898 हो गई. सरकार ने शहरी इलाकों से लगते ग्रामीण क्षेत्रों में 9वीं कक्षा तक के स्कूलों में नियमित कक्षाओं का संचालन बंद रखने के निर्देश भी जारी किए हैं. मुख्यमंत्री अशोक गहलोत की अध्यक्षता में मुख्यमंत्री निवास पर हुई उच्च स्तरीय बैठक में ये निर्णय किए गए.

राज्य सरकार ने बैठक में निर्णय लिया कि राज्यस्तर पर कोरोना स्टेट वॉररूम तथा सभी जिलों में जिला स्तरीय नियंत्रण कक्ष सहित हेल्पलाइन 181 को चौबीसों घंटे फिर से कार्यशील किया जाएगा. साथ ही दूसरे राज्यों से सटे सीमावर्ती जिलों में राज्य के बाहर से आने वाले व्यक्तियों की कोरोना जांच के लिए बनाई गई जांच चौकियों को अधिक सुदृढ़ भी किया जा रहा है. मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने जिला कलेक्टरों और पुलिस अधिकारियों को निर्देश दिए हैं कि संक्रमण की चेन तोड़ने के लिए कंटेनमेंट जोन में लोगों की आवाजाही बिल्कुल बंद कर दी जाए. साथ ही कोरोना संक्रमित के संपर्क में आए लोगों का जल्दी से जल्दी पता लगाकर उन्हें क्वारंटीन किया जाए.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज