सीपीए कांफ्रेंस: प्रो. जोया हसन के बयान पर उपजा विवाद, बीजेपी विधायकों ने किया बहिष्कार

राष्ट्रमंडलीय संसदीय़ संघ की राजस्थान शाखा की सेमिनार के दौरान गुरुवार को विधानसभा में जेएनयू की प्रोफेसर जोया हसन के बयान को लेकर बीजेपी विधायकों ने समापन सत्र का बहिष्कार कर दिया.

Sudhir sharma | News18 Rajasthan
Updated: August 2, 2019, 9:27 AM IST
सीपीए कांफ्रेंस: प्रो. जोया हसन के बयान पर उपजा विवाद, बीजेपी विधायकों ने किया बहिष्कार
राजस्थान विधानसभा। फाइल फोटो।
Sudhir sharma | News18 Rajasthan
Updated: August 2, 2019, 9:27 AM IST
राष्ट्रमंडलीय संसदीय़ संघ की राजस्थान शाखा की सेमिनार के दौरान गुरुवार को विधानसभा में जेएनयू की प्रोफेसर जोया हसन के बयान को लेकर बीजेपी विधायकों ने समापन सत्र का बहिष्कार कर दिया. सेमीनार में प्रो. जोया ने केन्द्र सरकार की कार्य प्रणाली को लेकर सवाल खड़े किए थे. इसका बीजेपी विधायकों ने विरोध किया.

केन्द्र सरकार की कार्यप्रणाली पर सवाल उठाए
विधानसभा अध्यक्ष डॉ. सीपी जोशी की पहल पर राजस्थान विधानसभा में गुरुवार को पहली बार आयोजित राष्ट्रमंडलीय संसदीय संघ की राजस्थान शाखा की कांफ्रेंस के समापन सत्र में जेएनयू की प्रोफेसर जोया हसन को वक्ता के रूप में बुलाया गया गया था. अपने संबोधन में प्रोफेसर जोया हसन ने कहा केन्द्र सरकार की कार्यप्रणाली पर सवाल उठाए. प्रोफेसर जोया हसन के भाषण के दौरान बीजेपी विधायकों ने इसका खासा विरोध किया.

बीजेपी विधायकों ने किया बहिष्कार

उपनेता राजेन्द्र राठौड़ ने कहा कि आप अपनी आइडोलॉजी के बारे में बात मत करो. राठौड़ ने आरोप लगाया कि आप एकतरफा बात कर रही हैं. बीजेपी विधायक सतीश पूनिया और संजय शर्मा ने भी विरोध जताया. इसके बाद डाइस पर बैठे सीपीए राजस्थान शाखा के वाइस प्रसिडेंट एवं नेता प्रतिपक्ष गुलाबचंद कटारिया भी बीजेपी विधायकों के साथ कार्यक्रम का बहिष्कार करके चले गए.

डॉ. सीपी जोशी ने कहा कि किसी पार्टी लाइन की बैठक नहीं है
इस दौरान विधानसभा अध्यक्ष डॉ. सीपी जोशी ने कहा कि जिससे सुनना है वो बैठें. यह किसी पार्टी लाइन की बैठक नहीं है. हमारे में सबके विचार सुनने का साहस होना चाहिए. लोकतंत्र की सबसे बड़ी ताकत है कि हम एक दूसरे के विचारों को सुनें. उल्लेखनीय है कि इस सेमीनार के उद्घाटन-सत्र में पूर्व राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी ने भी शिरकत की थी.
Loading...

मेहरानगढ़ दुखांतिका: 216 लोगों की मौत का सच नहीं होगा उजागर

अजमेर में बारिश का कहर, बाढ़ के हालात, आबू में 7 इंच बारिश
First published: August 2, 2019, 9:17 AM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...