Rajasthan: जसवंत सिंह के निधन पर दुनियाभर में शोक, तिब्बत की संसद ने जताया दुख

अमेरिकी विदेश नीति के विशेषज्ञ स्ट्रोब टैलबोट ने भी सिंह के निधन पर ट्वीट कर दुख व्यक्त किया है.
अमेरिकी विदेश नीति के विशेषज्ञ स्ट्रोब टैलबोट ने भी सिंह के निधन पर ट्वीट कर दुख व्यक्त किया है.

पूर्व केन्द्रीय मंत्री जसवंत सिंह (Former Union Minister Jaswant Singh) के निधन पर देश दुनिया के कई नेताओं ने शोक जताया है. तिब्बत की संसद (Parliament of Tibet) और पाकिस्तान के पूर्व विदेश सचिव हुमायूं खान और अमेरिकी विदेश नीति के विशेषज्ञ स्ट्रोब टैलबोट ने भी सिंह के निधन पर ट्वीट कर दुख व्यक्त किया है.

  • Share this:
जयपुर. राजस्थान के सपूत पूर्व केन्द्रीय मंत्री जसवंत सिंह (Former Union Minister Jaswant Singh) के निधन पर दुनियाभर के कई नेताओं और बुद्धिजीवियों ने शोक जताया है. बीजेपी के फाउंडर सदस्यों में शामिल रहे जसवंत सिंह के निधन पर तिब्बत की संसद (Parliament of Tibet) ने शोक जताते हुए कहा कि सिंह का निधन भारत ही नहीं, बल्कि तिब्बत की भी बड़ी क्षति है. तिब्बती संसद के अध्यक्ष पेमा जुंगने (Pema Jungen) ने जसवंत सिंह के पुत्र मानवेन्द्र सिंह को भेजे अपने लिखित संदेश में उनकी सेवाओं को याद किया है.

हुमायूं खान ने भी सिंह के निधन पर प्रकट किया शोक
वहीं पाकिस्तान के पूर्व विदेश सचिव हुमायूं खान ने भी सिंह के निधन पर शोक प्रकट किया है. हुमायूं खान ने सिंह के निधन पर दुख व्यक्त करते हुए उन्हें भारत का प्रतिष्ठित पुत्र और विश्व नागरिक बताया है. भारत में पाक डिप्लोमेट रहे हुमायूं खान ने जसवंत सिंह के साथ अपने रिश्तों को याद करते हुये कहा कि भारत में जब बीजेपी के दो सांसद थे तब वाजपेयी और जसवंत ही उनकी पसंद थे. 88 वर्षीय हुमायूं खान 1980 में भारत में पकिस्तान के राजदूत थे. हुमायूं खान इंस्टीट्यूट ऑफ रूरल मैनेजमेंट, पाकिस्तान के चेयरमैन हैं.

सेना की नौकरी छोड़कर सियासत में आए थे अटल के 'संकटमोचक' जसवंत सिंह- जानें 10 खास बातें





टैलबोट ने कहा- देश और दुनिया के लिए असाधारण व्यक्तित्व
वहीं अमेरिकी विदेश नीति के विशेषज्ञ स्ट्रोब टैलबोट ने भी सिंह के निधन पर ट्वीट कर दुख व्यक्त किया है. उन्होंने अपने ट्वीट में सिंह को देश और दुनिया के लिये असाधारण व्यक्तित्व बताया है. टैलबोट ने अपने ट्वीट में कहा कि सिंह एक बहादुर सैनिक और सम्मानजनक नेता थे. उनकी प्रभावशीलता का दायरा काफी व्यापक था. टैलबोट येल यूनिवर्सिटी और ब्रुकिंग्स इंस्टीट्यूशन से जुड़े हैं.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज