संविदा कर्मियों के लिए ये है गहलोत सरकार का प्लान

राजस्थान सरकार के विभिन्न विभागों या सरकारी दफ्तरों में काम कर रहे संविदा कर्मियाें की लंबे समय से चली आ रही विभिन्न मांगों को लेकर कांग्रेस की गहलोत सरकार ने प्लान तैयार किया है.

News18Hindi
Updated: July 9, 2019, 5:02 PM IST
संविदा कर्मियों के लिए ये है गहलोत सरकार का प्लान
संविदा कर्मियाें को लेकर कांग्रेस की गहलोत सरकार अध्ययन करवा रही है. (फोटो-प्रतिकात्मक)
News18Hindi
Updated: July 9, 2019, 5:02 PM IST
राजस्थान सरकार के विभिन्न विभागों या सरकारी दफ्तरों में काम कर रहे संविदा कर्मियाें की लंबे समय से चली आ रही विभिन्न मांगों को लेकर कांग्रेस की गहलोत सरकार ने प्लान तैयार किया है. इस प्लान के अनुसार जल्द ही सरकार संविदा कर्मियों के भविष्य का फैसला लेने वाली है. प्रदेश के ऊर्जा मंत्री बुलाकी दास कल्ला ने मंगलवार को विधानसभा में इसका जिक्र किया. उन्होंने बताया कि प्रदेश में संविदा कर्मियों के विषय में मंत्रिमंडलीय समिति की दो बैठकें आयोजित हो चुकी हैं और सरकार जल्द ही इस विषय में निर्णय लेगी.

पहले पूर्ण अध्ययन फिर होगा कोई निर्णय

ऊर्जा मंत्री ने बताया कि समिति द्वारा संविदा कर्मियों की समस्याओं का पूर्ण अध्ययन किया जा रहा है. उन्होंने कहा कि सभी बातों का अध्ययन करके ही कोई निर्णय लिया जाएगा. कल्ला ने प्रश्नकाल के दौरान वित्त मंत्री के रूप में विधायकों की ओर से पूछे गए पूरक प्रश्नों का जवाब देते हुए कहा कि पिछली सरकार ने भी संविदाकर्मियों के लिए एक समिति बनाई थी, लेकिन पांच साल होने के बाद भी कोई निर्णय नहीं किया. उन्होंने बताया कि मौजूदा सरकार के समय लगभग तीन महीने आचार संहिता लगी रही, फिर भी अब तक समिति की दो बैठकें हो चुकी हैं. उन्होंने कहा कि बैठकों में हुए निर्णयों की जानकारी नही दी जा सकती, लेकिन जो भी अंतिम निर्णय होगा, सबके सामने आ जाएंगे.

ये भी पढ़ें- जयपुर: इस तरह होगा सीरियल रेपिस्ट 'जीवाणु' का अंत!

सभी विभागों से की जा रही हैं सूचनाएं एकत्र 

मंत्री ने बताया कि सरकार ने मंत्रिमंडलीय समिति का गठन किया है. इस समस्या का पूरा अध्ययन और विचार किया जा रहा है. उन्होंने कहा कि अभी सभी विभागों से सूचनाएं एकत्र की जा रही हैं कि कौन व्यक्ति कितने समय से है, कब से है. उसमें आरक्षण के नियमों का पालन किया गया है या नहीं. उनके चयन का आधार क्या रहा है. इन सब बातों पर गौर करते हुए गुणावगुण के आधार पर विचार करके निर्णय किया जाएगा.

ये भी पढ़ें- राजस्थान: गहलोत कल पेश करेंगे बजट, ये हैं उम्मीदें
First published: July 9, 2019, 4:58 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...