लाइव टीवी

प्रदेश में डेंगू का डंक: पॉजिटिव मरीजों का आंकड़ा 6,719 तक पहुंचा, अब तक 8 की मौत

Sachin Sharma | News18 Rajasthan
Updated: November 9, 2019, 4:01 PM IST
प्रदेश में डेंगू का डंक: पॉजिटिव मरीजों का आंकड़ा 6,719 तक पहुंचा, अब तक 8 की मौत
डेंगू के इस बार व्यापक असर का एक बड़ा कारण नगरीय निकायों द्वारा समय पर फोगिंग नहीं करना भी है.

प्रदेश में डेंगू (Dengue) ने अपना कहर (Havoc) बरपाना शुरू कर दिया है. चिकित्सा अधिकारियों (Medical officers) की मॉनिटरिंग में लापरवाही (Negligence) के चलते प्रदेश में डेंगू पॉजिटिव मरीजों (Positive patients) का आंकडा 6,719 पर पहुंच गया है.

  • Share this:
जयपुर. प्रदेश में डेंगू (Dengue) ने अपना कहर (Havoc) बरपाना शुरू कर दिया है. चिकित्सा अधिकारियों (Medical officers) की मॉनिटरिंग में लापरवाही (Negligence) के चलते प्रदेश में डेंगू पॉजिटिव मरीजों (Positive patients) का आंकडा ही 6,719 पर पहुंच गया है. हालांकि चिकित्सा एवं स्वास्थ्य विभाग का यह दावा (Claim) है कि पिछले वर्ष के मुकाबले यह आंकडा काफी कम (Much less) है. पिछले वर्ष इस समय तक डेंगू के करीब 10 हजार मामले सामने आ चुके थे.

हेमरेजिक डेंगू फीवर नहीं होने से राहत
चिकित्सा एवं स्वास्थ्य विभाग के निदेशक डॉ केके शर्मा का कहना है कि प्रतिवर्ष अक्टूबर के महीने में डेंगू के मामले सामने आते ही हैं. उनका कहना है कि इस बार पिछले साल की तरह हेमरेजिक डेंगू फीवर के नहीं होने से भी लोगों को काफी राहत मिली है. विभाग का दावा है कि डेंगू से अब तक प्रदेश में केवल 8 मौतें ही हुई हैं. इसका कारण वे यह बताते हैं कि कार्ड टेस्ट यानि एनएस-1 की जांच को वे कन्फर्म टेस्ट नहीं मानते हैं. केवल एलाइजा पॉजिटिव टेस्ट केस को ही कन्फर्म डेंगू पॉजिटिव केस माना जाता है.

समय पर फोगिंग नहीं होना भी है बड़ा कारण

डेंगू के इस बार व्यापक असर के लिए नगरीय निकायों द्वारा समय पर फोगिंग नहीं करना भी है. साफ सफाई की जिम्मेदारी को जिस तरह से निभाया जाना चाहिए था, उसमें भी लापरवाही रही है और डेंगू के मच्छरों को पर्याप्त संख्या में पनपने का मौका मिला है.

प्रदेश में डेंगू की स्थिति
क्रम संख्या                      जिला             केस           मौतें
Loading...

1                                   जयपुर फर्स्ट   1366         02
2                                   कोटा              808          00
3                                   जयपुर सेकैंड  674          02
4                                   जोधपुर           664          00
5                                   सीकर             209         01
6                                   करौली            158         01
7                                   भरतपुर           153         02
8                                   प्रदेश              6719       08

राजधानी जयपुर में डेंगू के हालात
जयपुर की स्थिति को देखें तो यहां परकोटा क्षेत्र में 169 केस, टोंक रोड क्षेत्र में 177 और सांगानेर में 226 केस अब तक सामने आ चुके हैं. जयपुर ग्रामीण को देखें तो यहां कोटपूतली में 77, आमेर में 85 और जमवारामगढ़ में 75 केस अब तक सामने आ चुके हैं. इसके अलावा यदि पिछले चार बरसों पर नजर डालें तो वर्ष 2016 में जयपुर में सबसे कम 1205 केस आए, लेकिन मौतें सर्वाधिक 12 हुईं थी. वहीं वर्ष 2018 में सर्वाधिक केस 4,121 आए लेकिन मौत सिर्फ 1 ही हुई थी. जबकि इस वर्ष अब तक 2088 केस आए और अब तक 4 मौतें भी दर्ज की जा चुकी हैं.

वर्षवार जयपुर में डेंगू की स्थिति
क्रम संख्या        वर्ष                 केस        मौतें
1                    2016                1205     12
2                    2017                2201     03
3                    2018                4121     01
4                    2019                2088     04

लक्षणों को समझें और उपचार लें
डेंगू के बढ़ते कहर को देखते हुए यह जरुरी हो गया है कि आमजन भी इसके लक्षणों को समझें और लक्षण दिखाई देते ही तुरंत चिकित्सकीय सलाह लें.

डेंगू के लक्षण
1- अचानक तेज बुखार आना.
2- सिर में आगे की ओर तेज दर्द होना.
3- आंखों के पीछे और आंखों के हिलने पर दर्द होना.

डेंगू से बचाव के उपाय
1- घरों और कार्यालय के आस-पास मच्छर न पनपने दें.
2- किसी भी जगह पानी को एकत्र न होने दें.
3- बच्चों को बाहर खेलने भेजते वक्त पूरे तन को ढकने वाले कपड़े पहनाएं.
4- सोते वक्त मच्छरदानी का उपयोग करें.
5- घर की खिड़की और दरवाजों पर जाली लगवाएं.

जयपुर: 7वीं कक्षा की छात्रा से रेप, पीड़िता हुई गर्भवती, आरोपी फरार

निकाय चुनाव: रणभूमि में 7,944 उम्मीदवार, 14 प्रत्याशी निर्विरोध पार्षद बने

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए जयपुर से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: November 9, 2019, 3:59 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...