एक बार फिर रुलाएगा प्याज, दाम आसमान छूने को तैयार

ETV Rajasthan
Updated: August 12, 2017, 1:48 PM IST
एक बार फिर रुलाएगा प्याज, दाम आसमान छूने को तैयार
आसमान छूते प्याज के दाम
ETV Rajasthan
Updated: August 12, 2017, 1:48 PM IST
इस साल प्याज की बंपर पैदावार होने के बावजूद किसानों को न्यूनतम समर्थन मुल्य (एमएसपी) न मिलने के कारण हजारों टन प्याज सड़ चुका है. इसी कारण प्याज महज दो हफ्तों में 8 रुपए किलो से 40 रुपए किलो पर पहुंच चुका है. संभावना है कि दाम जल्दी ही 80 रुपए किलो तक पहुंच सकते हैं.

इस बार देश और प्रदेश में प्याज की बम्पर पैदावार हुई. प्रदेश के कई प्याज उत्पादक क्षेत्रों में आवक ज्यादा होने से किसानों को प्याज 1-2 रुपए किलो में बेचना पड़ रहा था. रिटेल में खरीदारों को 6 से 8 रुपए किलो में प्याज आसानी से उपलब्ध था लेकिन महज दो हफ्तों में बाजार से प्याज गायब हो गया. अब हालात ये हैं कि थोक मंडी में जहां 3 से 5 रुपए किलो तक प्याज मिल रहा था, वहां प्याज 30 रुपए किलो तक पहुंच गया है, जो रिटेल मंडी में आते-आते 40 रुपए तक बेचा जा रहा है.

उपभोक्ताओं का कहना है कि बाजार में ज्यादातर सब्जियां 60 से 80 रुपए किलो बिक रही हैं. आलू-प्याज ही ऐसी सब्जी थी जिसे लोग 8-10 रुपए किलो में खरीदे सकते थे, लेकिन अब प्याज भी पहुंच से बाहर होने लगा है. फल-सब्जी व्यापार संघ के अध्यक्ष राहुल तंवर ने कहा कि जब पैदावार कम हो तो कीमतें बढ़ना लाजिमी है, लेकिन सवाल उठता है कि जब बम्पर पैदावार हुई तो प्याज गया कहां. जानकारों का कहना है कि प्याज को लेकर जमाखोरी और कालाबाजारी बढ़ती जा रही है. इसे आसानी से स्टोर किया जा सकता है इसलिए प्याज के जमाखोर सस्ते दामों पर मंडियों से उठाकर इसे जमा कर लेते हैं.

(बी.के शर्मा)
First published: August 12, 2017
पूरी ख़बर पढ़ें
अगली ख़बर