राजस्थान में सख्त पाबंदियों के बावजूद खुलेंगी शराब की दुकानें, सुबह इस समय खरीद पाएंगे

राजस्थान में सख्त पाबंदियों के बावजूद शराब की दुकानें खुली रहेंगी. (File)

राजस्थान में सख्त पाबंदियों के बावजूद शराब की दुकानें खुली रहेंगी. (File)

राजस्थान की अशोक गहलोत सरकार लॉकडाउन में अपनी कमाई जारी रखना चाहती है, इसलिए किराना, राशन और फल-सब्जी की तर्ज पर शराब की दुकानें खोलने का निर्णय लिया है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: April 24, 2021, 9:26 PM IST
  • Share this:
जयपुर. राजस्थान में कोरोना आउट ऑफ कंट्रोल होने के बाद सरकार भी पूरी सख्ती बरत रही है. रविवार से प्रदेश में नई गाइडलाइन प्रभावी होने जा रही है. इसे पूरी सख्ती के साथ लागू किया जा रहा है. यहां तक कि निजी वाहन दोपहर 12 बजे के बाद पेट्रोल पंप से डीजल-पेट्रोल और गैस नहीं भरवा पायेंगे. इसके अलावा फल, सब्जी और किराना सामान की दुकानें भी सुबह सिर्फ 5 घंटे यानी सुबह 6 से 11 बजे तक खुली रहेंगीं. लेकिन इतने सख्त लॉकडाउन के बीच भी सुरा प्रेमियों का पूरा ध्यान रखा गया है.

राज्य के वित्त विभाग ने जो आदेश शराब की दुकानों के संबंध में जारी किया है. उसके मुताबिक, अब सप्ताह में पांच दिन तक पीने के शौकीन शराब खरीद सकेंगे. लेकिन शराब की दुकानों को खोलने का समय सीमित किया गया है. इसके लिए सुरा प्रेमियों को सुबह जल्दी उठना पड़ेगा. सरकारी आदेश के अनुसार शराब की दुकानें सुबह 6 से 11 बजे तक खुल सकेंगीं. अब सरकार भी क्या करे, मामला सरकारी खजाने से जुड़ा है और सरकार भी लॉकडाउन में अपनी कमाई जारी रखना चाहती है. इसलिए तय हुआ कि फल-सब्जी और किराने की तर्ज पर शराब की दुकानें भी खोली जाए. लेकिन शनिवार और रविवार को शराब की दुकाने बंद रहेंगी.

शराब की दुकानों को दी गई इस छूट के क्या है मायने? 

दरअसल शराब की बिक्री से राजस्थान सरकार को तगड़ा राजस्व मिलता है. पिछले वित्तीय वर्ष में राजस्थान सरकार को इस आबकारी मद से करीब दस हजार करोड़ रुपये मिले थे. इस साल यानी एक अप्रैल से शुरू हुए वित्तीय वर्ष का आबकारी लक्ष्य करीब साढ़े तेरह हजार करोड़ का तय किया गया है. अब इस लक्ष्य की खातिर लॉकडाउन में भी कुछ घंटे ही सही मगर दुकानें तो खोलनी ही पड़ेंगी. यानी सुरा प्रेमी लॉकडाउन में भी निराश नहीं होंगे.
कल से दुकानें खुलने का बदलेगा समय

-सभी तरह की खाद्य पदार्थ एवं किराने का सामान, आटा चक्की संबंधी दुकान, अब सोमवार से शुक्रवार तक रोज सुबह 6 से सुबह 11 तक.

- पशुचारे संबंधी दुकान सोमवार से शुक्रवार तक सुबह 6 से सुबह 11 बजे तक.



- कृषि आदान विक्रेताओं की दुकान सोमवार और गुरूवार को सुबह 6 से सुबह 11 तक.

-डेयरी एवं दूध की दुकान प्रतिदिन दो बार खुलेंगी. सुबह 6 से 11 और शाम को 5 से रात 7 बजे तक.

-मंडिया, फल, सब्जी, फूल माला की दुकानें, प्रतिदिन सुबह 6 से सुबह 11 तक.

-सब्जियां एवं फलों के ठेले, साईकिल, रिक्शा, आॅटो रिक्शा, मोबाइल वैन पर विक्रय पर प्रतिदिन सुबह 6 से सुबह 11 तक ही होगा.

-शुक्रवार शाम 6 से सोमवार सुबह 5 बजे तक वीकेन्ड कर्फ्यू रहेगा.

-निजी वाहनों के लिए पेट्रोल / डीजल पम्प एवं एलपीजी सेवा सुबह 7 बजे से दोपहर 12 बजे तक ही अनुमत होगी.

-26 अप्रेल शाम 5 बजे से निजी यात्री वाहन (बसों को छोड़कर) एक जिले से दूसरे जिले में लगेगा ब्रेक।

-केवल इमरजेंसी या अत्यावश्यक सेवाओं के लिए, ड्राइवर के साथ 50 प्रतिशत बैठक क्षमता तक ही अनुमत होंगे.

-बैंक, बीमा एवं माइक्रो फाइनेन्स इंस्टीट्यूशन की सेवाऐं आमजन के लिए सुबह 10 बजे से दोपहर 2 बजे तक चालू रहेंगी.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज