Home /News /rajasthan /

प्रतिष्ठित नौकरशाह रहे धीरज श्रीवास्तव अब नई भूमिका में आए, प्रियंका गांधी की टीम से जुड़े

प्रतिष्ठित नौकरशाह रहे धीरज श्रीवास्तव अब नई भूमिका में आए, प्रियंका गांधी की टीम से जुड़े

धीरज श्रीवास्तव।

धीरज श्रीवास्तव।

राजस्थान प्रशासनिक सेवा से वीआरएस लेकर राजनीति में उतरे श्रीवास्तव अब हाल ही में कांग्रेस पार्टी की महासचिव नियुक्त हुई प्रियंका गांधी वाड्रा की टीम से जुड़ गए हैं.

    प्रतिष्ठित नौकरशाह रहे राजस्थान प्रशासनिक सेवा के वरिष्ठ अधिकारी धीरज श्रीवास्तव अब नई भूमिका में आ गए हैं. राजस्थान प्रशासनिक सेवा से वीआरएस लेकर राजनीति में उतरे श्रीवास्तव अब हाल ही में कांग्रेस पार्टी की महासचिव नियुक्त हुई प्रियंका गांधी वाड्रा की टीम से जुड़ गए हैं. श्रीवास्तव प्रियंका वाड्रा के नेतृत्व में उत्तर प्रदेश की राजनीति में सकारात्मक बदलाव लाने की जिम्मेदारी में जुटेंगे.

    गुर्जर आरक्षण आंदोलन: अपडेट खबरें यहां News18 राजस्थान पर देखें- LIVE

    मूलतया उत्तर प्रदेश निवासी श्रीवास्तव अभी तक राजीव गांधी फाउंडेशन के साथ काम कर रहे थे. श्रीवास्वत पहले यूपीए की अगुवाई वाली सरकार के दौरान राष्ट्रीय सलाहकार समिति (एनएसी) में ऑफिसर ऑन स्पेशल ड्यूटी के रूप में कार्यरत रहे हैं. धीरज सदा सकारात्मक बदलाव लाने की मानसिकता वाली राजनीति के पक्षधर रहे हैं. उनके पिता इलाहाबाद के प्रख्यात शिक्षाविद रहे हैं. उन्होंने भी प्रिंसिपल के पद से इस्तीफा देने के बाद राजनीति में प्रवेश किया और इलाहाबाद का एमएलसी के रूप में प्रतिनिधित्व किया. बचपन से अपने पिता के आदर्शवादी जीवन को करीब से देखने वाले धीरज ने अपने पिता के आदर्श वाक्य "हर जरूरतमंद व्यक्ति की सेवा" करने के वचन को आत्मसात किया है.

    गुर्जर आरक्षण आंदोलन: वार्ता के लिए रेलवे ट्रैक पर पहुंची 'सरकार', लेकिन नहीं बनी बात

    गहलोत ने ऑफिसर ऑन स्पेशल ड्यूटी नियुक्त किया था
    धीरज को अपने पिता की असामयिक मृत्यु के बाद उच्च अध्ययन के लिए जयपुर जाना पड़ा था. यहां उन्होंने राजस्थान विश्वविद्यालय से राजनीति विज्ञान में पोस्ट ग्रेजुएशन किया और एम.फिल में स्वर्ण पदक जीता. उसके बाद 1994 बैच में उनका चयन राजस्थान प्रशासनिक सेवा में हुआ. जालोर, सिरोही और जोधपुर जैसे राजस्थान के सीमावर्ती जिलों में उनके विशिष्ट कार्यों के कारण तत्कालीन मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने उन्हें अपना ऑफिसर ऑन स्पेशल ड्यूटी नियुक्त किया था.

    प्रियंका गांधी के साथ धीरज श्रीवास्तव। फाइल फोटो


    'इंटैक' और 'आरईजीओपी' में भी विशेष भूमिका निभाई है
    यूपीए सरकार के बाद धीरज राजीव गांधी फाउंडेशन में शामिल हो गए थे और सितंबर 2014 में कश्मीर के बाढ़ पीड़ितों की सेवा के लिए एक असरदार योजना बनाई. उन्होंने राजीव गांधी फाउंडेशन की विशेष गतिविधियों जैसे 'इंटैक' और 'आरईजीओपी' में भी विशेष भूमिका निभाई है.

    कांग्रेस पार्टी के मौलिक विचारों पर किया है काम
    अशोक गहलोत की अग्रणी नीतियों को अंजाम देने के लिए धीरज ने कठिन परिश्रम किया था. धीरज की प्रतिभा को कांग्रेस की अध्यक्ष सोनिया गांधी ने भी मान्यता दी. उन्होंने उन्हें राष्ट्रीय सलाहकार समिति (एनएसी) की टीम में शामिल कर लिया. इस टीम का हिस्सा बनने के बाद धीरज ने कांग्रेस पार्टी के कुछ मौलिक विचारों पर काम किया जो बाद में महात्मा गांधी राष्ट्रीय ग्रामीण रोजगार गारंटी योजना (मनरेगा), सूचना का अधिकार, सामाजिक सुरक्षा का अधिकार (विशेषकर घुमंतू, अनुसूचित जाति और अनुसूचित जनजाति के लोगों के लिए) जैसी  योजनाओं के रूप में देश के सामने आए.

    गुर्जर फिर से आंदोलन पर, जानें क्या है राजस्थान में इनके वोटों का गणित

    गुर्जर आरक्षण आंदोलन: सरकार ने वार्ता के लिए किया तीन मंत्रियों की समिति का गठन

    कानून में संशोधन करके ही दे सकती है गहलोत सरकार सवर्णों को 10% आरक्षण

    एक क्लिक और खबरें खुद चलकर आएगी आपके पास, सब्सक्राइब करें न्यूज़18 हिंदी  WhatsApp अपडेट्स

    Tags: Ashok gehlot, Congress, Jaipur news, Priyanka gandhi, Rahul gandhi, Rajasthan news, Sachin pilot

    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर