सोहराबुद्दीन एनकाउंटर मामले में बरी हुए वंजारा और दिनेश एमएन

फाइल फोटो.

फाइल फोटो.

सोहराबुद्दीन एनकाउंटर मामले में मंगलवार को मुंबई सीबीआई कोर्ट ने अहम फैसला सुनाते हुए आईपीएस दिनेश एमएन को बरी कर दिया.

  • News18Hindi
  • Last Updated: August 1, 2017, 2:51 PM IST
  • Share this:
सोहराबुद्दीन एनकाउंटर मामले में मंगलवार को मुंबई कोर्ट ने अहम फैसला सुनाते हुए डीआईजी डीजी वंजारा, आईपीएस दिनेश एमएन को बरी कर दिया. कोर्ट ने पर्याप्त सबूत और गवाहों के नहीं मिलने पर बरी किया गया. दोनों के खिलाफ पर्याप्त साक्ष्य नहीं जुटाए जा सके.



दिनेश एमएन मंगलवार सुबह ही मुंबई पहुंचे और अभी भी वहीं रुके हुए हैं. दिनेश इस समय राजस्थान में एसओजी महानिरीक्षक हैं. सोहराबुद्दीन एनकाउंटर मामले में बरी के होने के बाद राजस्थान के नए डीजीपी अजीत सिंह ने अदालत के फैसले का स्वागत किया है.



उन्होंने इस दौरान कहा कि दिनेश एमएन पुलिस के कर्मठ और ईमानदार अधिकारी हैं. मैं उनके उज्ज्वल भविष्य के लिए कामना करता हूं.





गौरतलब है कि 26 नवंबर 2005 में सोहराबुद्दीन एनकाउंटर के मामले में दिनेश को जेल की भी हवा खानी पड़ी थी. यह मामला कोर्ट में चल रहा था. गुजरात में हुए इस हाई प्रोफाइल एनकाउंटर मामले में पुलिस पर आरोप लगा था कि इसमें गलत तरीके से लोगों का एनकाउंटर किया गया, उसने पुलिस की छवि को धूमिल किया था.
दिनेश एमएन 1995 के बैच के आईपीएस अधिकारी हैं, उन्हें बेहद तेज-तर्रा पुलिस अधिकारी के तौर पर गिना जाता है. दिनेश की अगुवाई में कई बड़े ऑपरेशन को अंजाम दिया गया है. उन्होंने कई ऑपरेशन को अपने कार्यकाल में पूरा किया है. इसमें मुख्य रूप से उदयपुर के करौली में उनका कार्यकाल याद किया जाता है. जिस वक्त वह यहां एसपी थे तो तमाम अपराधी, बदमाश और डकैत उनसे कांपते थे.



हाल ही में दिनेश एमएन ने राजस्थान में कुख्यात गैंगस्टर आनंदपाल को पुलिस एनकाउंडर में मार गिराया था. उसके बाद उनकी काफी तारीफ हुई थी. आईजी दिनेश को एनकाउंटर स्पेशलिस्ट के तौर पर जाना जाता है. अपराधी उनसे खौफ खाते हैं.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज