Rajasthan News: कैबिनेट विस्‍तार पर सचिन पायलट के बयान से गरमा सकती है राजस्‍थान की सियासत

पायलट ने कहा कि दलित अत्याचार समाज के लिए आईना है और ऐसा सुरक्षा कवच तैयार होना चाहिए जिसमें सब लोग सुरक्षित महसूस करें.

पायलट ने कहा कि दलित अत्याचार समाज के लिए आईना है और ऐसा सुरक्षा कवच तैयार होना चाहिए जिसमें सब लोग सुरक्षित महसूस करें.

Big statement of Sachin Pilot : पूर्व डिप्टी सीएम सचिन पायलट ने कहा है कि राजनीतिक नियुक्तियों और मंत्रिमंडल विस्तार (Cabinet expansion and political appointments) में पार्टी और सरकार के बीच तालमेल होगा.

  • Share this:
जयपुर. राजस्‍थान में अब जल्द ही बड़े स्तर पर राजनीतिक नियुक्तियां (political appointments) देखने को मिल सकती हैं. मंत्रिमंडल विस्तार (Cabinet expansion) भी जल्द होने की संभावना जताई जा रही है. राजनीतिक नियुक्तियों और मंत्रिमंडल विस्तार की सुगबुगाहटों के बीच पूर्व डिप्टी सीएम सचिन पायलट (Sachin Pilot) का बयान आया है. पायलट ने कहा है कि पहले जो कमेटी बनाई गई थी, उसमें अहमद पटेल के निधन के चलते काम नहीं हो सका, लेकिन अब पूरा विश्वास और भरोसा है कि ज्यादा विलम्ब नहीं होगा.

सचिन पायलट ने कहा कि जिन मुद्दों पर आम सहमति बनी थी, उन पर अब तुरन्त प्रभाव से कार्रवाई होनी चाहिए. उन्होंने सोनिया गांधी पर विश्वास जताते हुए कहा कि उनके आदेश से ही कमेटी बनी थी और अब इसमें विलम्ब नहीं होना चाहिए. प्रदेश में जहां तीन दिन बाद उपचुनाव खत्म हो जाएंगे, वहीं पांच राज्यों के चुनाव भी लगभग खत्म हो चुके हैं. ऐसे में विलम्ब की कोई वजह नहीं है. प्रदेश कांग्रेस कार्यालय में अम्बेडकर जयंती पर श्रद्धांजलि अर्पित करने पहुंचे पायलट ने पीसीसी चीफ डोटासरा से चाय पर चर्चा भी की.

Youtube Video


वादों पर तेजी से काम करना पड़ेगा
प्रदेश में सियासी संकट के बाद कई बार राजनीतिक नियुक्तियों और मंत्रिमंडल विस्तार की बात ने जोर पकड़ा है. अब सचिन पायलट के बयान से एक बार फिर सुगबुगाहट शुरू हो गई है. मंगलवार को मुख्यमंत्री निवास पर कुछ विधायकों ने भी इस मसले को लेकर सीएम से चर्चा की थी. पायलट ने कहा कि प्रदेश में सरकार बने ढाई साल का वक्त हो गया है. घोषणा-पत्र के काफी वादे पूरे हो चुके हैं, लेकिन बचे हुए वादों पर तेजी से काम करना पड़ेगा.

पार्टी और सरकार के बीच तालमेल होगा

सचिन पायलट ने कहा कि राजनीतिक नियुक्तियों और मंत्रिमंडल विस्तार में पार्टी और सरकार के बीच तालमेल होगा. उधर, एससी-एसटी विधायकों के सवाल पर पायलट ने कहा कि विधायकों की कोई नाराजगी नहीं है, बल्कि जनप्रतिनिधि जो सामाजिक मुद्दे उठाते हैं उन पर कार्रवाई होनी चाहिए और होगी भी. उन्होंने कहा कि दलित अत्याचार समाज के लिए आईना है और ऐसा सुरक्षा कवच तैयार होना चाहिए जिसमें सब लोग सुरक्षित महसूस करें.



तीनों सीटें जीतेगी कांग्रेस

उपचुनाव को लेकर पायलट ने दावा किया कि तीनों सीटों पर कांग्रेस जीत दर्ज करेगी. उपचुनाव में सभी ने अच्छी मेहनत की है और बीजेपी आपसी टकराव से जूझ रही है. पायलट ने कहा कि पार्टी जहां-जहां भी उन्हें प्रचार के लिए भेजती है वे वहां जाते हैं. वहीं, सचिन पायलट ने कोरोना के बढ़ते मामलों को लेकर भी कहा है कि स्थितियां गंभीर हैं और हम लोगों को अपने अनुभवों से सीखना चाहिए. लोगों के मन से डर निकल गया है, लेकिन अभी वायरस गया नहीं है. केन्द्र सरकार की जिम्मेदारी है कि हर व्यक्ति को वैक्सीन लगे. उन्होंने कहा कि यह समय आरोप-प्रत्यारोप का नहीं बल्कि संक्रमण से मुकाबला करने का है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज