Rajasthan: ब्यूरोक्रेसी में विवाद, तबादले से नाराज IAS पी. रमेश ने किया VRS के लिये आवेदन

पूर्व में भी राजस्थान में ब्यूरोक्रेट्स में कई विवाद हो चुके हैं.
पूर्व में भी राजस्थान में ब्यूरोक्रेट्स में कई विवाद हो चुके हैं.

Dispute in bureaucracy: राजस्थान ब्यूरोक्रेसी के आईएएस अधिकारी पी. रमेश (Senior IAS P. Ramesh) ने वीआरएस के लिये आवेदन किया है. बताया जा रहा है वे अपने तबादले (Transfer) से नाराज हैं.

  • Share this:
जयपुर. डीजीपी भूपेंद्र सिंह यादव के वीआरएस (VRS) मांगने के बाद अब वरिष्ठ आईएएस पी.रमेश (Senior IAS P. Ramesh) ने भी वीआरएस के लिए आवेदन कर दिया है. बताया जा रहा है कि पी. रमेश तबादले (Transfer) से नाराज  हैं. 2005 बैच के आईएएस पी. रमेश को राजस्थान विद्युत उत्पादन निगम के सीएमडी पद से हटाकर संभागीय आयुक्त उदयपुर लगा दिया गया था. उन्होंने तबादले के सिर्फ 12 घंटे के अंदर यह फैसला ले लिया.

इससे पहले पी. रमेश प्रमुख सचिव ऊर्जा विभाग अजिताभ शर्मा के साथ विवादों में आए थे. अजिताभ शर्मा ने पिछले महीने ही विद्युत उत्पादन निगम में 114 करोड़ रुपये के ईआरपी प्रोजेक्ट वर्क आर्डर को निरस्त कर दिया था. बताया जा रहा था कि वर्क आर्डर देने में गड़बड़ी की गई है. इसके बाद प्रमुख सचिव ने पूरे मामले की जांच एसीबी को सौंपी थी.

Rajasthan: कांग्रेस संगठन में नियुक्ति पाने के लिये 15000 कार्यकर्ताओं को करना होगा लंबा इंतजार



मुख्य सचिव बोले आवेदन वापस ले लेंगे
मुख्य सचिव राजीव स्वरूप ने कहा कि पी. रमेश ने भावनाओं में आकर वीआरएस के लिए आवेदन किया है. तबादले होते रहते हैं. उन्हें समझा दिया गया है कि वे अपना आवेदन वापस ले लेंगे. वहीं आईएएस पी. रमेश का कहना है कि पारिवारिक कारणों की वजह से उन्होंने वीआरएस मांगा है. सरकार निर्णय करेगी. टेंडर प्रक्रिया को लेकर कुछ नहीं कहूंगा. उससे कोई लेना देना नहीं है. यह मेरा व्यक्तिगत मामला है.

Alwar Gangrape Case: पति को बंधक बनाकर पत्‍नी से गैंगरेप करने वाले 5 आरोपियों की सजा का ऐलान, 4 को उम्रकैद

बीजेपी शासन में भी हुए थे विवाद
उल्लेखनीय है कि बीजेपी शासन में भी ऊर्जा विभाग के मंत्री सहित बड़े अधिकारियों के बीच विवाद हो चुका है. उस समय एक बिजली कनेक्शन को लेकर विभाग में लंबी खींचतान चली थी. तत्कालीन ऊर्जा मंत्री गजेंद्र सिंह खींवसर और ऊर्जा सचिव आलोक तथा राजस्थान डिस्कॉम के चेयरमैन आरजी गुप्ता के बीच लंबे समय तक विवाद हुआ. हालांकि तत्कालीन सरकार ने तीनों को हटाकर मामले का पटाक्षेप कर दिया था.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज