दिवाली: जबर्दस्त यात्री भार ने रेलवे और रोडवेज की फुलाई सांसें, पैर रखने की जगह नहीं
Jaipur News in Hindi

दिवाली: जबर्दस्त यात्री भार ने रेलवे और रोडवेज की फुलाई सांसें, पैर रखने की जगह नहीं
जयपुर के सिंधी कैप से प्रतिदिन करीब 1150 बसें निकलती है, लेकिन अभी इनकी संख्या 1300 से भी ज्यादा हो रही है. फोटो : न्यूज 18 राजस्थान ।

दिवाली (Diwali) का त्यौहार हर कोई अपनों के साथ मनाना चाहता है. यही वजह है कि ट्रेनों (Trains) और बसों (Buses) में पैर रखने की जगह नहीं मिल रही है. ट्रेनों और बसों में यात्री भार (Passenger load) इतना बढ़ चु़का है कि रेलवे (Railway) और राजस्थान रोडवेज (Roadways) की सांसें फूलने लगी है.

  • Share this:
जयपुर. दिवाली (Diwali) का त्यौहार हर कोई अपनों के साथ मनाना चाहता है. यही वजह है कि ट्रेनों (Trains) और बसों (Buses) में पैर रखने की जगह नहीं मिल रही है. ट्रेनों और बसों में यात्री भार (Passenger load) इतना बढ़ चु़का है कि रेलवे (Railway) और राजस्थान रोडवेज प्रशासन (Roadways) की सांसें फूलने लगी है. रविवार को दिवाली होने के कारण शनिवार को बसों और ट्रेनों में जबर्दस्त भीड़ (Crowd) उमड़ रही है. अतिरिक्त ट्रेनें और बसें बढ़े हुए यात्री भार के सामने ऊंट के मुंह में जीरा साबित हो रही हैं.

बस स्टैण्ड पर लगा है यात्रियों का जमावड़ा
राजाधानी जयपुर में सिंधी कैम्प रोडवेज बस स्टैण्ड पर यात्रियों का जमावड़ा लगा हुआ है. यहां रोडवेज को विशेषकर आगरा रूट पर ज्यादा यात्री भार मिल रहा है. भीड़ का अंदाजा इसी से लगाया जा सकता है कि यात्रियों को कई मिनट लाइन में लगने के बाद बस का टिकट मिल रहा है. रोडवेज प्रशासन अब तक भरतपुर, आगरा, फरूर्खाबाद, बरेली और कानपुर के लिए दर्जनों अतिरिक्त बसें चला चुका है. रोडवेज अधिकारियों की मानें तो यह ट्रैफिक लोड आज पूरी रात रहेगा.

सिंधी कैम्प से 1300 से भी ज्यादा बसें निकल रही हैं
पिछले 3 दिनों में रोडवेज प्रशासन 350 अतिरिक्त बसें चला चुका है. सिंधी कैंप पर औसतन प्रतिदिन 20-25 हजार फुटफॉल रहता है, लेकिन फेस्टिवल सीजन में इसका आंकड़ा 30-35 हजार तक पहुंच गया है. सिंधी कैप से करीब 1150 बसें प्रतिदिन निकलती है, लेकिन अभी इनकी संख्या 1300 से भी ज्यादा हो रही है.



रेलवे ने स्पेशल ट्रेनों की संख्या बढ़ाकर 25 की
वहीं उत्तर पश्चिम रेलवे ने दिवाली को देखते हुए पहले 9 स्पेशल रेल सेवाएं शुरू की थी. लेकिन बाद में रिजर्वेशन की भारी डिमांड को देखते हुए इन स्पेशल रेल सेवाओं की संख्या को बढ़ाकर 21 किया गया. उसके बावजूद भी यात्री भार कम नहीं हुआ तो अब इनको बढ़ाकर 25 कर दिया गया है.

16 रेल सेवाओं में 19 अतिरिक्त डिब्बे बढ़ाए
इसके बाद भी जब यात्री भार को मैनेज करने में मुश्किल आई तो NWR ने 25 रेलसेवाओं के अलावा 16 रेल सेवाओं में 19 अतिरिक्त डिब्बों की बढ़ोतरी की है. त्यौहार पर शुरू की गई 25 रेल सेवाएं उन सभी महत्वपूर्ण रूट्स पर चल रही है जहां पर सबसे ज्यादा यात्रीभार रहता है. इसके अलावा जहां नई स्पेशल रेल सेवा देना मुमकिन नहीं था वहां नियमित चल रही रेल सेवाओं में ही 19 नए डिब्बों की बढ़ोतरी की गई है.

दीवाली: पुलिस-प्रशासन हुआ High Alert, सुरक्षा व्यवस्था बढ़ाने के निर्देश जारी

EWS Reservation: CM गहलोत ने PM को लिखा पत्र, कहा- राजस्थान फॉर्मूला लागू करे
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज