डॉक्टर हड़ताल: 'हम लौटना चाहते हैं लेकिन सरकार डरा रही है'

सेवारत चिकित्सक संघ के अधिवक्ता डॉ. महेश शर्मा का कहना है कि चिकित्सक हाईकोर्ट के आदेश से काम पर लौटने के लिए तैयार हैं.
सेवारत चिकित्सक संघ के अधिवक्ता डॉ. महेश शर्मा का कहना है कि चिकित्सक हाईकोर्ट के आदेश से काम पर लौटने के लिए तैयार हैं.

सेवारत चिकित्सक संघ के अधिवक्ता डॉ. महेश शर्मा का कहना है कि चिकित्सक हाईकोर्ट के आदेश से काम पर लौटने के लिए तैयार हैं.

  • Share this:
राजस्थान में पिछले 5 दिनों से चल रही सरकारी डॉक्टरों की हड़ताल अब जल्द ही खत्म हो सकती है. डॉक्टर्स की तरफ से हड़ताल खत्म करने के संकेत मिल रहे हैं.

सेवारत चिकित्सक संघ के अधिवक्ता डॉ. महेश शर्मा का कहना है कि चिकित्सक हाईकोर्ट के आदेश से काम पर लौटने के लिए तैयार हैं. लेकिन पहले सरकार उन्हें गिरफ्तारी का डर दिखाना बंद करे. वहीं, गिरफ्तार चिकित्सकों के बेल बॉड स्वीकार करें.

डॉ. शर्मा ने सरकार से अपील की है कि वह चिकित्सकों को वार्ता के लिए बुलाए. वहीं मुद्दे को बातचीत से हल करने का प्रयास करें.



बता दें कि पांच दिनों से प्रदेश में सरकारी डॉक्टरों की हड़ताल के चलते अस्पतालों में हालात बद से बदत्तर हो गई है. राज्य में पांचवे दिन भी सरकारी डॉक्टरों के काम पर नहीं लौटने से लोग परेशान दिखे और सैकड़ों ऑपरेशन टाले गए. अस्पतालों में इलाज के लिए मरीज भटकते नजर आए.
एक दिन पहले मंगलवार को हड़ताल पर चल रहे सरकारी डॉक्टरों को राजस्थान हाईकोर्ट ने आदेश दिए थे कि वे तुरंत काम पर लौट आएं. कोर्ट ने प्रदेश सरकार को भी आदेश दिए है कि जो डॉक्टर काम पर लौटें उन्हें गिरफ्तार न किया जाए. सरकारी अस्पतालों में सेवारत डॉक्टरों की हड़ताल मामले में अधिवक्ता डॉ. अभिनव शर्मा के प्रार्थना पत्र पर सुनवाई करते हुए सीजे प्रदीप नंद्राजोग की खण्डपीठ में ने यह आदेश दिए. प्रार्थना पत्र में हाईकोर्ट के समक्ष गुहार लगाई गई थी कि हड़ताल पर गए डॉक्टरों पर आदलती अवमानना की कार्रवाई की जाए.

 
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज