• Home
  • »
  • News
  • »
  • rajasthan
  • »
  • भावी वैज्ञानिकों के सपनों को लगेंगे पंख, सीरी करेगा मदद

भावी वैज्ञानिकों के सपनों को लगेंगे पंख, सीरी करेगा मदद

फोटो: न्यूज 18 राजस्थान

फोटो: न्यूज 18 राजस्थान

सेन्ट्रल इलेक्ट्रॉनिक्स इंजीनियरिंग रिसर्च इंस्टीट्यूट यानि सीरी ने जयपुर में एक सेंटर की स्थापना की है, जहां भावी वैज्ञानिकों को हर तरह की मदद मिलेगी और उनके सपनों को पंख लगेंगे.

  • Share this:
देश-प्रदेश में ऐसे युवाओं की भरमार हैं जिनके पास वैज्ञानिक दृष्टि और आइडियाज हैं. लेकिन कई बार ये आइडियाज धरातल पर आने से पहले ही हालात के आगे दम तोड़ देते हैं. नतीजतन देश-दुनिया को कई नए तरह के आविष्कारों से वंचित रहना पड़ता है. अब सेन्ट्रल इलेक्ट्रॉनिक्स इंजीनियरिंग रिसर्च इंस्टीट्यूट यानि सीरी ने जयपुर में एक सेंटर की स्थापना की है, जहां इन भावी वैज्ञानिकों को हर तरह की मदद मिलेगी और उनके सपनों को पंख लगेंगे.

मशहूर वैज्ञानिक थॉमस अल्वा एडिशन ने अपनी जिन्दगी के केवल तीन महीने स्कूल में बिताये थे, लेकिन उन्होंने बल्ब का आविष्कार कर पूरी दुनिया को चमत्कृत कर दिया. देश-दुनिया में ऐसे ना जाने कितने उदाहरण हैं जिन्होंने भले ही ऊंची शिक्षा हासिल नहीं की हो, लेकिन उनके आइडियाज और आविष्कारों ने देश-दुनिया को नई दिशा और दशा देने का काम किया है. लेकिन यह भी एक कड़वी हकीकत है कि ऐसे ना जाने कितने आइडियाज धरातल पर आने से पहले ही हालात के आगे दम तोड़ देते हैं. लेकिन अब इन सपनों का साकार करने में सेन्ट्रल इलेक्ट्रॉनिक्स इंजीनियरिंग रिसर्च इंस्टीट्यूट यानि सीरी युवा वैज्ञानिकों की मदद करेगा. सीरी ने जयपुर के मालवीय नगर में एक सेन्टर की शुरुआत की है, जहां बेहतर आइडियाज रखने वाले इनोवेटर्स को हर तरह की मदद मुहैया करवाई जायेगी. कोई भी व्यक्ति जिसके पास अच्छा आइडिया है वह इस सेंटर पर आकर निशुल्क रूप से ना केवल वैज्ञानिकों की मदद, बल्कि आर्थिक सहायता भी हासिल कर सकेगा. इतना ही नहीं इसके लिये एनआरडीसी के साथ भी पार्टनरशिप की गई है जो प्रोडक्ट की मार्केटिंग में हेल्प करेगी. मदद हासिल करने के लिये युवाओं को इस सेंटर पर रजिस्ट्रेशन करवाना होगा.

सीरी कौंसिल ऑफ साइंटिफिक एंड इंडस्ट्रियल रिसर्च की देशभर में स्थापित 38 लेबोरेट्री में से एक है जो भारत सरकार की संस्था है. दुनिया भर में इस संस्था को रिसर्च एंड डवलपमेंट में नवीं रैंक हासिल है. अब इस संस्था के अनुभवी वैज्ञानिकों के अनुभव का लाभ यंग इनोवेटर्स को मिल पायेगा. यह सहायता लेने के लिये किसी शैक्षणिक योग्यता की बाध्यता नहीं है. बस आपको इस सेंटर पर जाकर अपना आइडिया बताना होगा और यहां पर बनी एक कमेटी यह तय करेगी कि आइडिया इम्प्लीमेंट करने लायक है या नहीं. अगर आइडिया धरातल पर लाने लायक हुआ तो इनोवेटर को वर्कशॉप, टेस्टिंग फेसिलिटी. तकनीकी सलाह, ऋण और सपोर्ट आदि सब कुछ यहां उपलब्ध होगा. प्रोफेशनल लोगों द्वारा हर तरह की मदद उन्हें मुहैया करवाई जायेगी और वो भी पूरी तरह निशुल्क.

पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

हमें FacebookTwitter, Instagram और Telegram पर फॉलो करें.

विज्ञापन
विज्ञापन

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज