लाइव टीवी

CAA-NRC की गलतफहमी में लोगों ने महिला सर्वेयर को घेरा, मोबाइल भी छीना

News18 Rajasthan
Updated: January 23, 2020, 11:17 AM IST
CAA-NRC की गलतफहमी में लोगों ने महिला सर्वेयर को घेरा, मोबाइल भी छीना
महिला सर्वेयर के साथ अभद्रता और दुर्व्‍यवहार का मामला सामने आया है.

सीएए (Citizenship Amendment Act) और एनआरसी (National Register of Citizens) काे लेकर फैली अफवाहों के बीच राजस्थान के कोटा शहर में देश की 7वीं आर्थिक गणना करने पहुंचीं एक महिला सर्वेयर के साथ अभद्रता और दुर्व्‍यवहार का मामला सामने आया है.

  • Share this:
कोटा. देशभर में सीएए (Citizenship Amendment Act) और एनआरसी (National Register of Citizens) काे लेकर फैली अफवाह के बीच 22 जनवरी को राजस्थान के कोटा शहर में देश की 7वीं आर्थिक गणना की एक महिला सर्वेयर के साथ अभद्रता और दुर्व्‍यवहार का मामला सामने आया है. आर्थिक गणना के दौरान महिला सर्वेयर नजरीन बानाे के साथ अभद्रता की यह घटना तब हुई जब वह बोरखेड़ा थाना इलाके की एक अल्पसंख्यक बहुल कॉलोनी में सर्वे करने पहुंची थीं. यहां सीएए और एनआरसी को लेकर गलतफहमी में कुछ लोगों ने सर्वे के लिए जानकारी देने से मना किया. फिर देखते ही देखते पूरी कॉलोनी के लोग इकट्‌ठा हो गए. इसी बीच, कुछ लोगों ने नजरीन से जबरन उनका मोबाइल छीना और उसमें से सर्वे का एप (CSC 7th Economic Census App) डिलीट कर दिया.

पुलिस ने एक को किया गिरफ्तार
सर्वेयर टीम ने इसकी सूचना कोटा पुलिस दी. इसके बाद बोरखेड़ा थाना एसएचओ मौके पर पहुंचे तब तक कॉलोनी के लोगों ने सर्वेयर को घेर रखा था. पुलिस ने बीच-बचाव कर सर्वेयर को वहां से पुलिस सुरक्षा में निकाला. पुलिस ने सदाहक अंसारी नामक शख्‍स को शांतिभंग करने के आरोप में गिरफ्तार कर लिया. इसके बाद सर्वेयर की ओर से घटनाक्रम की रिपोर्ट कोटा के बोरखेड़ा थाने में दर्ज कराई गई.

economic census, kota news
कोटा पुलिस ने शांतिभंग के आरोप में एक आरोपी को गिरफ्तार किया है.


यह है पूरा मामला
जानकारी के अनुसार, आर्थिक गणना की सर्वेयर नजरीन बानो बृज धाम कॉलोनी में सर्वे करने पहुंची थीं. वहां पर उन्होंने कुछ परिवारों का आर्थिक गणना का डाटा भी एकत्र कर लिया था. इसके बाद वह वहां से निकल ही रही थी कि कुछ महिलाएं और पुरुष एकत्रित हो गए, जिन्होंने नजीरन बानो के साथ दुर्व्यवहार शुरू कर दिया.

सर्वेयर का डाटा डिलीट करवायासर्वेयर नजरीन ने बताया कि वहां उनका मोबाइल जबरन छीना गया और उस ऐप को ही डिलीट कर दिया, जिसके अंदर आर्थिक गणना का डाटा संग्रहित किया जा रहा था. साथ ही उनके साथ बदतमीजी भी की गई. नजरीन बानो का आरोप है कि लोगों ने उन्‍हें घेर लिया और अभद्रता करते हुए हाथ मरोड़कर मोबाइल फोन छीन लिया. नया और पुराना सभी तरह का आर्थिक गणना का डाटा डिलिट मार दिया.
आर्थिक गणना भारत सरकार के द्वारा करवाई जा रही है, कुछ लोग इस सर्वे को सीएए और एनआरसी से जोड़कर देख रहे थे. इसके चलते उन्होंने विरोध किया और सर्वेयर के साथ यह स्थिति पैदा हुई.
एनके शर्मा, नोडल ऑफिसर, आर्थिक गणना


ये भी पढ़ें- 

सरपंच चुनाव में जीत के जश्न में सरेआम 'तमंचे पर डिस्को', VIDEO वायरल

74 पंचायत समितियों में 82.78% मतदान, देखें- कहां-कितने वोट पड़े

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए कोटा से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: January 23, 2020, 10:35 AM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर