• Home
  • »
  • News
  • »
  • rajasthan
  • »
  • बिजली संकट: राजस्थान के इन 4 विंड प्लांट्स से मिलेगी सबसे सस्ती बिजली, पढ़ें पूरा प्लान

बिजली संकट: राजस्थान के इन 4 विंड प्लांट्स से मिलेगी सबसे सस्ती बिजली, पढ़ें पूरा प्लान

राजस्थान में बिजली की खरीद और बेचान की व्यवस्था और पुख्ता किया जायेगा. (Photo courtesy: AFP Relaxnews)

राजस्थान में बिजली की खरीद और बेचान की व्यवस्था और पुख्ता किया जायेगा. (Photo courtesy: AFP Relaxnews)

Good News: बिजली संकट के बीच राजस्थान से अच्छी खबर सामने आ रही है. दिन प्रतिदिन महंगी होती बिजली के बावजूद अब राजस्थान सरकार ने चार विंड्स प्लांट से सस्ती बिजली खरीदने की राह खोल ली है. सस्ती बिजली खरीदने की राज्य सरकार की यह पहल सुखद भविष्य का संकेत माना जा रहा है.

  • Share this:

    जयपुर. देशव्यापी बिजली संकट (Electricity Crisis) के बीच राजस्थान से अच्छी खबर निकलकर सामने आ रही है. अगर सबकुछ ठीकठाक रहा तो जल्द ही राजस्थान के चार विंड प्लांट्स (Wind plants) से बेहद सस्ती दर पर 2 रुपये 44 पैसे प्रति यूनिट पर बिजली मिलनी शुरू हो जायेगी. यह विंड विद्युत खरीद की अब तक की सबसे कम दर होगी. इन प्लांट्स से पहले 5 रुपये 71 पैसे की दर से बिजली खरीदी जा रही थी. एफएफआर सॉफ्टवेयर, एमेजो पॉवर एलएएलपी, आरएसएमएमएल और उसदेव एनजीटेक की अनुबंध अवधि खत्म हो जाने पर अब इनसे नई दर से बिजली की खरीद की जायेगी. सोलर एनर्जी कॉरपोरेशन ऑफ इंडिया के जरिये निविदा निकालकर ये नई दर तय की गई है.

    जानकारी के अनुसार इसका सबसे बड़ा फायदा यह होगा की आने वाले समय में विद्युत उत्पादन करने वाली दूसरी कंपनियों से भी सस्ती दर पर बिजली मिलने की राह खुलेगी. इसके साथ ही राजस्थान में बॉयोमास आधारित उत्पादन की 2 यूनिट भी स्थापित की जायेगी. उनसे भी 22.9 मेगावॉट बिजली उत्पादित की जायेगी.

    जयपुर और बीकानेर में स्थापित होंगी बॉयोमास आधारित यूनिट
    पत्रिका में प्रकाशित खबर के मुताबिक अतिरिक्त मुख्य सचिव (ऊर्जा) डॉ. सुबोध अग्रवाल ने बताया कि बायोमॉस प्रोजेक्ट्स में से एक जयपुर जिले के फागी और दूसरा बीकानेर के छत्तरपुर में स्थापित किया जायेगा. इनसे 22.9 मेगावॉट बिजली का उत्पादन किया जायेगा. राजस्थान में बिजली की खरीद और बेचान की व्यवस्था और पुख्ता किया जायेगा. इसके लिये मॉनिटरिंग सिस्टम को दुरुस्त किया जा रहा है. वहीं इसका तुलनात्मक अध्ययन भी कराया जायेगा. अग्रवाल ने कहा कि वर्तमान समय में जो बिजली संकट आया है वो कोयले की आपूर्ति सिस्टम गड़बड़ाने की वजह से आया है.

    बिजली संकट को लेकर सीएम गहलोत हैं गंभीर
    अग्रवाल के मुताबिक सीएम अशोक गहलोत इसे लेकर काफी गंभीर हैं. उन्होंने हाल ही में उच्च स्तरीय बैठक लेकर इसकी पूरी समीक्षा की है. सभी से बिजली की बजत का आग्रह किया गया है. राजस्थान ऊर्जा विकास निगम के प्रबंध संचालक भास्कर एस सांवत ने बताया कि विपरीत परिस्थितियों के बावजूद राज्य में बिजली आपूर्ति व्यवस्था को सुचारू रखने का लगातार प्रयास किया जा रहा है.

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

    हमें FacebookTwitter, Instagram और Telegram पर फॉलो करें.

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज