अपना शहर चुनें

States

Rajasthan: दिसंबर के अंत तक प्रदेश कांग्रेस संगठन में की जायेंगी नियुक्तियां- डोटासरा

पीसीसी चीफ का पदभार संभालने के बाद करीब चार माह से गोविंद सिंह डोटासरा अकेले ही संगठन का कामकाज देख रहे हैं.
पीसीसी चीफ का पदभार संभालने के बाद करीब चार माह से गोविंद सिंह डोटासरा अकेले ही संगठन का कामकाज देख रहे हैं.

लंबे समय से कांग्रेस संगठन में नियुक्तियों (Appointments) की उम्मीद लगाये बैठे पार्टी के नेताओं और कार्यकर्ताओं के लिये खुशखबरी है. पीसीसी चीफ गोविंद सिंह डोटासरा (Govind Singh Dotasara) ने कहा है कि इस माह के अंत तक संगठन में नियुक्तियां कर दी जायेंगी.

  • Share this:
जयपुर. प्रदेश कांग्रेस संगठन (State Congress Organization) में जल्द ही नियुक्तियां की जायेंगी. पीसीसी चीफ गोविंदसिंह डोटासरा (Govind Singh Dotasara) ने कहा कि दिसंबर के अंत तक कांग्रेस संगठन में नियुक्तियां कर दी जायेंगी. कोरोना संक्रमण के कारण संगठन में नियुक्तियां (Appointments) करने में देरी हुई है. 13 दिसंबर के बाद सभी वरिष्ठ नेताओं से इस बारे में चर्चा की जाएगी. उसके बाद दिसंबर के अंत तक संगठन में नियुक्तियां की जायेंगी. डोटासरा ने कहा कि जिन कार्यकर्ताओं को टिकट नहीं मिला उन्हें संगठन में जिम्मेदारी दी जाएगी.

भरतपुर के डीग और कुम्हेर नगरपालिका के 65 वार्डों में पार्टी का एक भी उम्मीदवार नहीं उतारने के मामले में डोटासरा ने कहा कि पर्यवेक्षकों की तरफ से अभी तक कोई शिकायत नहीं मिली है. इसका मतलब पर्यवेक्षकों से पूछकर ही सबकुछ तय हुआ है.


Rajasthan: बाजरा, बवाल और सियासत, राज्य सरकार ने केन्द्र को भेजा ही नहीं खरीद का प्रस्ताव

किसानों को लेकर केंद्र सरकार की मंशा खराब है
पीसीसी चीफ गोविंदसिंह डोटासरा ने किसान आंदोलन को लेकर भी केंद्र पर निशाना साधा है. डोटासरा ने कहा कि किसानों को लेकर केंद्र सरकार की मंशा खराब है. मोदी जब सीएम थे तब एमएसपी अनिवार्य करने की मांग की थी. लेकिन आज जब पीएम हैं तो उससे मुकर गए. किसानों से बात ही करनी थी तो पहले उन पर लाठीचार्ज क्यों किया गया. पीएम को आगे आकर किसानों की शंकाओं का जवाब देना चाहिए. पीएम मीडिया के सवालों का जवाब नहीं देते हैं. आज तक प्रेस कॉन्फ्रेंस नहीं की. वे हमेशा चुनावी मोड में ही रहते हैं.



चार माह से डोटासरा अकेले ही संगठन का कामकाज देख रहे हैं
उल्लेखनीय है कि प्रदेश में पिछले दिनों सीएम अशोक गहलोत और डिप्टी सीएम सचिन पायलट के बीच चले सियासी घमासान के बाद के पायलट को पीसीसी चीफ और डिप्टी सीएम दोनों ही पदों से हटा दिया गया था. पार्टी ने उनके स्थान पर गोविंद सिंह डोटासरा को पीसीसी चीफ बनाया था. पीसीसी चीफ का पदभार संभालने के बाद करीब चार माह से गोविंद सिंह डोटासरा अकेले ही संगठन का कामकाज देख रहे हैं. सियासी घमासान के बाद पार्टी ने दोनों गुटों के बीच पनप रहे मतभेदों को सुलझाने और राजनीतिक तथा संगठनात्मक नियुक्तियों की अनुशंसा के लिये केन्द्रीय नेताओं की तीन सदस्यी कमेटी गठित की थी. उस कमेटी के सुझावों पर ही नियुक्तियां किया जाना प्रस्तावित था.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज