राजस्थान के इंजीनियरिंग कॉलेजों को संगठक महाविद्यालय बनाकर विश्वविद्यालयों से जोड़ा गया

शिक्षा मंत्री डॉ सुभाष गर्ग ने महाविद्यालय सोसायटी के बोर्ड ऑफ गवर्नर्स के साथ वीसी की.

Engineering colleges of Rajasthan linked : प्रदेश के इंजीनिरिंग कॉलेजों को विश्वविद्यालयों से जोड़ने का फायदा छात्रों को मिल सकेगा. इससे अभियांत्रिकी महाविद्यालयों की फैकल्टी की विशेषज्ञता और लैब का उपयोग विश्वविद्यालयों द्वारा अनुसंधान के क्षेत्र में किया जा सकेगा

  • Share this:
जयपुर. राज्य के इंजीनियरिंग कॉलेजों (Engineering collages) को अब विश्वविद्यालयों के संगठक कॉलेज बनाने के प्रस्ताव का बोर्ड ऑफ गवर्नर्स (Board of governors) की बैठक में अनुमोदन किया गया है. इस निर्णय से इन अभियांत्रिकी महाविद्यालयों की फेकल्टी की विशेषज्ञता और लैब का उपयोग विश्वविद्यालयों (Universities) द्वारा अनुसंधान के क्षेत्र में किया जा सकेगा.

तकनीकी शिक्षा मंत्री डॉ सुभाष गर्ग ने बुधवार को इसे लेकर बैठक की. इन महाविद्यालयों को राजस्थान तकनीकी विश्वविद्यालय कोटा और बीकानेर तकनीकी विश्वविद्यालय बीकानेर से जोड़ा जाएगा. जबकि बांसवाड़ा स्थित महाविद्यालय को गोविंद गुरु जनजाति विश्वविद्यालय से जोड़ा जाएगा. बाड़मेर महाविद्यालय को प्रस्तावित MBM विश्वविद्यालय से जोड़ा जाएगा.

बजट घोषणा के अनुपालन में लिया फैसला
बैठक में विशेषज्ञों का कहना था कि इस निर्णय से इन अभियांत्रिकी महाविद्यालयों की फेकल्टी की विशेषज्ञता और लैब का उपयोग विश्वविद्यालयों द्वारा अनुसंधान के क्षेत्र में किया जा सकेगा. महाविद्यालयों की सम्पत्ति, संसाधन एवं दायित्व सम्बन्धित विश्वविद्यालय के होंगे. सीएम अशोक गहलोत की बजट घोषणा 2021-22 की अनुपालना में सोसायटी मोड पर चल रहे सरकारी कॉलेजों को एसएएफएस मोड से हटाकर रेगुलर किया गया था. सरकार के इस कदम से इनमें पढ़ रहे युवाओं को खासा फायदा होगा.

बैठक में कई विश्वविद्यालयों के कुलपति मौजूद
तकनीकी शिक्षा राज्यमंत्री डॉ. सुभाष गर्ग ने प्रोफेसर आर.ए. गुप्ता कुलपति, राजस्थान तकनीकी विश्वविद्यालय, कोटा, प्रो.अम्बरिष शरण विद्यार्थी, कुलपति, बीकानेर तकनीकी विश्वविद्यालय, बीकानेर, आई.आई.एस.सी. बेंगलुरु के प्रो.एन.सी.शिवप्रकाश, प्रो.संदीप संचेती, कुलपति, मारवाड़ी विश्वविद्यालय, राजकोट, डॉ. गुणवंत शर्मा एमएनआईटी, जयपुर, हेमन्त बोहरा, सी.एम.डी. बोहरा इंडस्ट्रीज, प्रो. एम.पी. पूनिया वाईस चेयरमैन ऑल इंडिया कौंसिल फॉर टेक्निकल एजुकेशन, प्रो. डीएस. हुडा, प्रो. गुरु जम्भेश्वर, विज्ञान एवं तकनीकी विश्वविद्यालय, हिसार, प्रोफेसर आर.एस.राठौड़, डीन हरियाणा विश्वकर्मा स्किल विश्वविद्यालय, गुड़गांव, प्रो. उपेन्द्र पन्डेल एमएनआईटी, जयपुर, महेन्द्र चौधरी, एमएनआईटी, जयपुर की उपस्थिति में वीसी के जरिए महाविद्यालय सोसायटी की बोर्ड ऑफ गवर्नर्स की बैठक में महाविद्यालयों को संघठक महाविद्यालय बनाए जाने का अनुमोदन किया गया.

पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.