आपके लिये इसका मतलब: जयपुर के सांगानेर की 115 करोड़ की पेयजल परियोजना को मिली वित्तीय स्वीकृति

इस प्रोजेक्ट के जरिये जयपुर के मालपुरा रोड से टोंक रोड और प्रताप नगर क्षेत्र की कॉलोनियों के लिए बीसलपुर बांध से पेयजल सप्लाई की जानी है.

इस प्रोजेक्ट के जरिये जयपुर के मालपुरा रोड से टोंक रोड और प्रताप नगर क्षेत्र की कॉलोनियों के लिए बीसलपुर बांध से पेयजल सप्लाई की जानी है.

Big news for Jaipur: हाल ही में बजट में राजधानी जयपुर के सांगानेर क्षेत्र के लिए घोषित की गई 115 करोड़ रुपए की नई परियोजना (New project) की वित्तीय स्वीकृति जारी कर दी गई है. इससे जयपुर के एक बड़े क्षेत्र की पेयजल समस्या (Drinking water problem) का समाधान हो जायेगा.

  • Share this:
जयपुर. मुख्यमंत्री अशोक गहलोत की बजट घोषणाओं (Ashek Gehlot's budget announcement) को लेकर जलदाय विभाग सक्रिय हो गया है. मुख्यमंत्री अशोक गहलोत की ओर से बजट में सांगानेर क्षेत्र के लिए घोषित की गई 115 करोड़ रुपए की नई परियोजना (New project) को अमली जामा पहनाने की तैयारियां पूरी कर ली गई है. घोषणा के एक माह के भीतर ही विभाग के अतिरिक्त मुख्य सचिव सुधांश पंत ने इसके लिये वित्तीय स्वीकृति (Financial approval) जारी करवा दी है.

मुख्यमंत्री की घोषणा के अनुसार मालपुरा रोड से टोंक रोड और प्रताप नगर क्षेत्र की कॉलोनियों के लिए बीसलपुर बांध से पेयजल सप्लाई की जानी है. करीब 115 करोड़ रुपए की इस परियोजना के लिये जलदाय विभाग अतिरिक्त मुख्य अभियंता जयपुर (द्वितीय) मनीष बेनीवाल ने प्रस्ताव बना कर वित्तीय स्वीकृति के लिए वित्त विभाग भेजा था. वित्त विभाग ने परीक्षण के बाद सांगानेर क्षेत्र की इस बहुप्रतिक्षित पेयजल परियोजना की बजट घोषणा के ठीक एक माह में वित्तीय स्वीकृति जारी कर दी है.

टाइम लाइन तय कर परियोजनाएं पूरी की जाये

एसीएस सुधांश पंत ने बजट घोषणाओं को लेकर ​जलदाय विभाग के आला अधिकारियों निर्देश दिए हैं कि बजट घोषणाओं के क्रियान्वयन के लिए जल्द से जल्द काम शुरू किया जाए. इनकी टाइम लाइन तय कर परियोजनाएं पूरी की जाये ताकि शहरी और ग्रामीण क्षेत्रों में लोगों को आसानी से पेयजल उपलब्ध हो सके. सांगानेर-बीसलपुर योजना में आठ उच्च जलाशयों का निर्माण किया जायेगा. वहीं 28 किलोमीटर की राइजिंग लाइन के साथ साथ 258 किलोमीटर का वितरण तंत्र तैयार किया जाएगा. जलदाय विभाग द्वारा 15 अगस्त से इस योजना का काम धरातल पर शुरू कर दिया जाएगा. इस योजना से राजधानी जयपुर के एक बड़े क्षेत्र की पेयजल की समस्या का समाधान हो सकेगा। लंबे समय से इस क्षेत्र के लिये किसी बड़े प्रोजेक्ट की जरुरत महसूस की जा रही थी.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज