• Home
  • »
  • News
  • »
  • rajasthan
  • »
  • REET Exam 2021: एक भर्ती परीक्षा क्यों और कैसे बनी गहलोत सरकार के लिए चुनौती?

REET Exam 2021: एक भर्ती परीक्षा क्यों और कैसे बनी गहलोत सरकार के लिए चुनौती?

राजस्थान में होने वाली रीट परीक्षा के लिए सरकार ने की पुख्ता तैयारी.

राजस्थान में होने वाली रीट परीक्षा के लिए सरकार ने की पुख्ता तैयारी.

Rajasthan News: शिक्षक पात्रता परीक्षा (REET Exam 2021 Update) के लिए राजस्थान सरकार ने कड़े बंदोबस्त किए हैं. छात्रों के ट्रेवलिंग से लेकर फूडिंग का इंतजाम किया गया है. यह भर्ती परीक्षा राजस्थान की गहलोत सरकार के लिए किसी चुनौती से कम नहीं है.

  • Share this:

    जयपुर. राजस्थान में शिक्षक पात्रता परीक्षा यानी REET Exam 2021 गहलोत सरकार की परीक्षा बन गई है. 25 सितंबर को होने वाली इस परीक्षा में 26 लाख छात्र बैठेंगे. रेलवे (Indian Railway) परीक्षार्थियों को लाने ले जाने के लिए 09 एक्जाम स्पेशल ट्रेन चला रहा है, तो राजस्थान सरकार (Rajasthan Government) ने लाने – जाने के लिए बसों के साथ मुफ्त खाने का भी इंतजाम करने जा रही है. नकल पर रोकथाम के लिए भारी भरकम बंदोबस्त किए जा रहे हैं. ड्रोन कैमरों से इस परीक्षा केंद्रों पर निगरानी होगी. परीक्षार्थियों को मास्क पहनकर जाने की भी इजाजत नहीं होगी. राजस्थान में 26 सितंबर का दिन काफी अहम है. इस दिन राजस्थान शिक्षक पात्रता परीक्षा यानी रीट का आयोजन होगा. चार हजार सेंटर में आयोजित होने वाली इस परीक्षा में 26 लाख छात्र बैठेंगे.

    सरकार ने परीक्षार्थियों को लाने- ले जाने के लिए मुफ्त में रोडवेज और निजी बसों का इतंजाम किया है. परीक्षा वाले शहरों में राज्य सरकार ही इंदिरा रसोई के जरिए परीक्षार्थियों को मुफ्त में नाश्ता और खाना खिलाएगी. नकल पर लगाम के लिए गहलोत सरकार ने तय किया कि नकल कराने या पेपर लीक कराने वाले शिक्षकों- कर्मचारियों को सीधे बर्खास्त किया जाएगा. नकल या पेपर लीक में मिलीभगत वाली निजी स्कूलों की मान्यता खत्म की जाएगी.

    सरकार की बड़ी कार्रवाई

    दूसरी तरफ पुलिस ने नकल रोकने और पेपर लीक होने से रोकने के लिए ऐसे गिरोहों की सूचना पर छापेमारी शुरू कर दी. डूंगरपुर में एक शिक्षक को गिरफ्तार किया तो सीकर में एक गिरोह को पकड़ा गया है. पुलिस ने हर जिले में कंट्रोल रम बनाए है. पेपर सेंटर पर ले जाने से लेकर बांटने तक वीडियोग्रफी कराई जाएगी. एसपी- कलेक्टर समेत किसी अफसर को सेंटर पर मोबाइल फोन ले जाने की इजाजत नहीं होगी. निजी स्कूलों में परीक्षा कक्षों के सीसीटीवी कैमरे कवर किए जाएंगे. परीक्षार्थियों को मास्क परीक्ष केंद्र पर ही मिलेंगे, बाहर से पहनकर जाने की इजाजत नहीं होगी.

    ये भी पढ़ें: Rajasthan Marriage Registration Act: नए कानून का मामला SC पहुंचा, अध्यादेश की संवैधानिकता को चुनौती
    दरअसल, ये शिक्षक भर्ती की महज पात्रता परीक्षा है, लेकिन खास इसलिए है क्योंकि शिक्षकों के खाली 31 हजार पद इस परीक्षा की मेरिट से भरे जाएंगे. लंबे समय बाद किसी बड़ी भर्ती परीक्षा का आयोजन होने से परीक्षा में बैठने वाले छात्रों की संख्या इतनी अधिक है. सिर्फ सरकार ही नहीं, कई शहरों में सामाजिक संस्थाओं ने छात्रों के रहने से लेकर खाने पीने का इंतजाम कर रही है, लेकिन असल चिंता सरकार की दो है ,एक परीक्षा में पेपर लीक को रोकना और दूसरी कानून व्यवस्था बिगड़ने से रोकना.

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

    हमें FacebookTwitter, Instagram और Telegram पर फॉलो करें.

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज