जयपुर के मशहूर कव्वाल सईद साबरी का इंतक़ाल, 85 साल की उम्र में फ़ानी दुनिया को कहा अलविदा

जयपुर के मशहूर कव्वाल सईद साबरी का आज 85 साल की उम्र में इंतेक़ाल हो गया.

जयपुर के मशहूर कव्वाल सईद साबरी का आज 85 साल की उम्र में इंतेक़ाल हो गया.

राष्ट्रपति पुरस्कार से सम्मानित से सईद साबरी ने लता मंगेशकर सहित अनेक बड़े गायकों के साथ जुगलबंदी की थी. वह 'हिना' फिल्म की कव्वाली से मशहूर हुए थे. उसके बोल थे, देर ना हो जाए कहीं देर ना हो जाए... से साबरी बंधुओं को खूब शोहरत मिली थी.

  • Share this:

जयपुर. जयपुर के जाने माने कव्वाल सईद साबरी का आज इंतक़ाल हो गया. उन्होंने 85 साल की उम्र में इस फानी दुनिया को अलविदा कह दिया. उनकी आज सुबह अचानक तबियत खराब हुई और वह चल बसे. इससे पहले 21 अप्रैल को उनके बेटे फरीद साबरी का इंतक़ाल हो गया था और आज वालिद सईद साबरी भी इस दुनिया से रुख़सत हो गए.

राष्ट्रपति पुरस्कार से सम्मानित से सईद साबरी जयपुर की कव्वाली परम्परा के माहिर कव्वाल थे. शाम 5 बजे घाट गेट कब्रिस्तान में सुपुर्द-ए-खाक किया जाएगा. बेटे अमीन साबरी ने लोगों से अपील की है कि जनाजे़ में ज़्यादा भीड़ जमा न करें.

जाने-माने कव्वाल उस्ताद सईद साबरी के निधन के साथ साबरी बंधुओं की माला का एक और मनका बिखर गया. 21 अप्रैल को सईद साबरी के बड़े बेटे फरीद साबरी का निधन हो गया है. फरीद साबरी के निधन से पहले ही सईद साबरी बीमार थे. वह 85 साल की उम्र तक पूरे दम-खम से गाते रहे. जयपुर से लेकर मुंबई बॉलीवुड तक और दुनिया भर में उनकी कव्वाली के दीवाने मौजूद हैं.

सईद साबरी ने लता मंगेशकर सहित अनेक बड़े गायकों के साथ जुगलबंदी की थी. वह 'हिना' फिल्म की कव्वाली से मशहूर हुए थे. उसके बोल थे, देर ना हो जाए कहीं देर ना हो जाए... से साबरी बंधुओं को शोहरत मिली थी. आज सुबह घर पर ही उन्होंने अंतिम सांस ली.

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज