Home /News /rajasthan /

फर्टिलाइजर घोटालाः CM अशोक गहलोत के भाई को ईडी ने फिर भेजा समन, कल होगी पूछताछ

फर्टिलाइजर घोटालाः CM अशोक गहलोत के भाई को ईडी ने फिर भेजा समन, कल होगी पूछताछ

Fertilizer scam news: उर्वरक घोटाला मामले में ईडी ने सीएम अशोक गहलोत के भाई अग्रसेन गहलोत को फिर भेजा समन, कल होगी पूछताछ.

Fertilizer scam news: उर्वरक घोटाला मामले में ईडी ने सीएम अशोक गहलोत के भाई अग्रसेन गहलोत को फिर भेजा समन, कल होगी पूछताछ.

Fertilizer scam: यूपीए शासन के दौरान हुए उर्वरक घोटाले में राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत के भाई अग्रसेन गहलोत से प्रवर्तन निदेशालय एक बार फिर पूछताछ करेगी. सोमवार को दिल्ली कार्यालय में दोपहर 12 बजे पेश होने का आदेश.

नई दिल्ली/जयपुर. राजस्थान के चर्चित उर्वरक घोटाला मामले में मुख्यमंत्री अशोक गहलोत के भाई अग्रसेन गहलोत से प्रवर्तन निदेशालय यानी ईडी एक बार फिर पूछताछ करेगी. ईडी ने सीएम के भाई को इस बाबत समन भेजा है. अग्रसेन गहलोत को सोमवार को दिल्ली बुलाया गया है, जहां दोपहर 12 बजे उनसे पूछताछ की जाएगी. दिल्ली स्थित ई़डी के हेडक्वार्टर में अग्रसेन गहलोत के साथ पूछताछ की जाएगी. जानकारी के मुताबिक ईडी की पूछताछ में अग्रसेन गहलोत दूसरी बार पेश होंगे. वे अपने वकीलों के साथ ईडी दफ्तर पहुंचेंगे, जहां उनसे फर्टिलाइजर घोटाला से जुड़े मामलों में पूछताछ की जाएगी.

गौरतलब है कि फर्टिलाइजर घोटाला से जुड़े इस मामले में ईडी इससे पहले भी अग्रसेन गहलोत से पूछताछ कर चुकी है. साथ ही उनके प्रतिष्ठानों पर सर्च ऑपरेशन भी किया जा चुका है. ईडी ने पिछले साल जुलाई में आखिरी बार अग्रसेन गहलोत के ठिकानों पर सर्च ऑपरेशन चलाया था. इस दौरान राजस्थान समेत देश के अलग-अलग स्थानों पर जांच एजेंसी ने छापा मारा था. यह पूरा कथित घोटाला म्यूरेट ऑफ पोटाश के निर्यात से जुड़ा है. इंडियन पोटाश लिमिटेड इसका आयात करता है और फिर इसे रियायती दाम पर विभिन्न कंपनियों के जरिये किसानों में बांटा जाता है.

फर्टिलाइजर घोटाला यूपीए सरकार के कार्यकाल के दौरान सामने आया था. इसको लेकर डीआरआई ने मामला दायर किया था, जिसके आधार पर ईडी ने भी रिपोर्ट दर्ज कर जांच शुरू की है. मुख्यमंत्री अशोक गहलोत के भाई अग्रसेन गहलोत कारोबारी हैं, जिनकी कंपनी अनुपम कृषि के ऊपर किसानों के बीच पोटाश वितरण की जिम्मेदारी थी. आरोप है कि अग्रसेन गहलोत की कंपनी ने सब्सिडी वाले उर्वरक को किसानों के बीच बांटने के बजाये निर्यात कर दिया. गहलोत की कंपनी पर यह भी आरोप है कि पोटाश निर्यात करने के लिए जाली दस्तावेजों का सहारा लिया गया था.

Tags: Ashok gehlot news, Fertilizer crisis, Scam

विज्ञापन

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर