पांचवी राष्ट्रीय लोक अदालत का आयोजन अाज

जस्टिस केएस झेवरी ने किया 5वीं राष्ट्रीय लोक अदालत का विधिवत शुभारंभ.
जस्टिस केएस झेवरी ने किया 5वीं राष्ट्रीय लोक अदालत का विधिवत शुभारंभ.

सुप्रीम कोर्ट की ओर से जारी निर्देशों के अनुसार देशभर में शनिवार को इस वर्ष की आखिरी राष्ट्रीय लोक अदालत का आयोजन किया जा रहा है. राजस्थान में भी राज्य विधिक सेवा प्राधिकरण की ओर से शनिवार को तहसील स्तर से लेकर हाईकोर्ट तक राष्ट्रीय लोक अदालत का आयोजन किया जाएगा.

  • Share this:
सुप्रीम कोर्ट की ओर से जारी निर्देशों के अनुसार देशभर में शनिवार को इस वर्ष की आखिरी राष्ट्रीय लोक अदालत का आयोजन किया जा रहा है. राजस्थान में भी राज्य विधिक सेवा प्राधिकरण की ओर से शनिवार को तहसील स्तर से लेकर हाईकोर्ट तक राष्ट्रीय लोक अदालत का आयोजन किया जाएगा.

राजस्थान हाईकोर्ट जयपुर पीठ में राज्य विधिक सेवा के कार्यकारी अध्यक्ष और जस्टिस केएस झेवरी ने 5वीं राष्ट्रीय लोक अदालत का विधिवत शुभारंभ किया और लोक अदालतों की सफलता पर खुशी जताई. कोर्ट में लम्बे समय से लम्बित मामलों के निस्तारण के लिए इस तरह की लोक अदालतें पहले भी आयोजित की जा चुकी हैं.

राज्य विधिक सेवा प्राधिकरण के सचिव अनु चौधरी ने बताया कि देशभर में आयोजित हो रही इन लोक अदालतों में पेंशन, सेवानिवृत्ति लाभ, एनआई एक्ट, पारिवारिक मामले, औद्योगिक विवाद, स्थानांतरण, पेंशन, चयनित वेतन श्रृंखला, केन्द्रीय प्रशासनिक अधिकरण के आदेशों के विरुद्ध दायर याचिका, मोटर वाहन दुर्घटना अधिकरण के अवार्ड के विरुद्ध अपीलें, जेडीए से संबंधित विवाद, पैरोल और प्री. लिटीगेशन जैसे तमाम राजीनामा योग्य प्रकरणों का निस्तारण हो रहा है. लोक अदालतों में इस बार 2 लाख 27 हजार से ज्यादा प्रकरण सूचीबद्ध किए गए हैं. इसके साथ ही जयपुर और जोधपुर हाईकोर्ट पीठ में 11 बेंचे भी गठित की गई हैं.



राज्य विधिक सेवा प्राधिकरण के अध्यक्ष जस्टिस के.एस झवेरी ने कहा है कि न्यायपालिका की ओर से अदालतों में मुकदमों की बढ़ती संख्या को लेकर यह एक अच्छी पहल शुरू की गई है. बार और बेंच के संयुक्त प्रयासों से मुकदमों के अंबार को कम करने का प्रयास किया जा रहा है, लेकिन लोक अदालतों के प्रति राज्य सरकार की रूचि कम दिखाई दे रही है. ऐसे में विधिक सेवा प्राधिकरण अब सख्ती दिखाने की तैयारी कर रहा है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज