Assembly Banner 2021

Rajasthan: नई वन नीति का फाइनल ड्राफ्ट तैयार, 20 फीसद भूभाग पर की जाएगी हरियाली

हर 10 साल में वन विभाग की नई वन नीति बनाई जाती है और उसके मुताबिक काम किया जाता है. (सांकेतिक तस्वीर)

हर 10 साल में वन विभाग की नई वन नीति बनाई जाती है और उसके मुताबिक काम किया जाता है. (सांकेतिक तस्वीर)

New forest policy of Rajasthan: नई वन नीति में 10 साल में पूरे राज्य के 20 फीसद भूभाग पर हरियाली करने का लक्ष्य है. इसके लिए वन विभाग अपनी कार्यशैली और कार्यक्षेत्र दोनों में ही बदलाव करेगा.

  • Share this:
जयपुर. वन विभाग ने अपनी नई वन नीति (New forest policy of rajasthan) का फाइनल ड्राफ्ट तैयार कर लिया है. वन विभाग ने नई वन नीति को लेकर लोगों से सुझाव भी मांगे हैं. अब वन विभाग (Forest department) अगले 10 साल इसी वन नीति के मुताबिक काम करेगा. पिछली वन नीति- 2010 को लेकर वन विभाग काफी निराश रहा था. क्योंकि उस वन नीति में तय लिए गए लक्ष्यों को विभाग हासिल नहीं कर पाया था.

हालांकि नई वन नीति में वन विभाग ने पूरे राज्य के 20 फीसद भूभाग पर हरियाली का लक्ष्य तय किया है. नई वन नीति का ड्राफ्ट तैयार कर इसे और बेहतर बनाने में लिए वेबसाइट पर डाला है. आम लोगों से भी इस मामले में सुझाव मांगे गए हैं.

अभी 9 फीसद भूभाग ही वन क्षेत्र
राजस्थान की वन विभाग की मुखिया हेड ऑफ फॉरेस्ट फोर्सेज श्रुति शर्मा काफी समय से इस पर मेहनत कर रही थी. उनका कहना है कि 2010 की वन नीति का लक्ष्य 20 फीसद भूभाग पर हरियाली फैलाने का था. लेकिन राजस्थान में केवल 9 फीसद भूभाग पर ही वन क्षेत्र मौजूद हैं. अब विभाग वन क्षेत्र के बाहर भी तेजी से पौधारोपण करेगा. नई वननीति में वन विभाग अपनी कार्यशैली और कार्यक्षेत्र दोनों में ही बदलाव करेगा.
हर 10 साल में बनती है नई वन नीति


हर 10 साल में वन विभाग की नई वन नीति बनाई जाती है और उसके मुताबिक काम किया जाता है. पिछली बार की नीति में जो खामियां रहीं हैं उन्हें दूर कर इस बार ज्यादा से ज्यादा नागरिकों को पौधारोपण में शामिल किया जाएगा. जंगल के बाहर ज्यादा पौधरोपण किया जाएगा ताकि 9 फीसद वनक्षेत्र के बाहर भी हरियाली बढ़े.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज