Municipal Corporation elections First phase: 3 बजे तक 49.46 फीसदी हुआ मतदान

दोपहर बाद मतदान केन्द्रों पर भीड़ उमड़ पड़ी. कोटा में एक मतदान केन्द्र पर कतार में लगे मतदाता.
दोपहर बाद मतदान केन्द्रों पर भीड़ उमड़ पड़ी. कोटा में एक मतदान केन्द्र पर कतार में लगे मतदाता.

Municipal Corporation elections First phase: पहले चरण में आज जयपुर हैरिटेज, जोधपुर उत्तर और कोटा उत्तर के नगर निगमों के लिये मतदाता वोट (Voting) डाल रहे हैं. इस चरण में 951 उम्मीदवार (Candidates) चुनाव मैदान में हैं.

  • Share this:
जयपुर. प्रदेश में आज जयपुर, जोधपुर और कोटा नगर निगम (Municipal Corporation elections) के पहले चरण के लिये वोट डाले जा रहे हैं. सुबह 7.30 बजे से शुरू हुआ मतदान दिन चढ़ने के साथ धीरे-धीरे रफ्तार पकड़ने लग गया. दोपहर 1 बजे तक 38.75 फीसदी मतदान हुआ. उसके बाद 3 बजे तक मतदान का प्रतिशत 49.46 फीसदी तक पहुंच गया. मतदान शाम को 5.30 तक चलेगा. पहले चरण में आज जयपुर हैरिटेज, जोधपुर उत्तर और कोटा उत्तर के नगर निगमों के 250 वार्डों के लिये वोट (Voting) डाले जा रहे हैं. इस चरण में तीनों नगर निगमों के 250 वार्डों के लिये लिये 951 उम्मीदवार चुनाव मैदान में हैं. पहले चरण में कुल 2761 मतदान केंद्र बनाये गए हैं. इन मतदान केंद्रों पर 16 लाख 54 हजार 547 मतदाता अपने मताधिकार का प्रयोग करेंगे. 8 पर्यवेक्षकों की निगरानी में 3393 ईवीएम मशीनों से ये चुनाव हो रहे हैं. इन चुनावों में सीएम अशोक गहलोत (Ashok Gehlot) और बीजेपी-कांग्रेस के प्रदेशाध्यक्षों समेत कई दिग्गज नेताओं और मंत्रियों की साख दांव पर लगी है.

राज्य चुनाव आयोग ने चुनाव के लिये सुरक्षा के पुख्ता बंदोबस्त किये गये हैं. दिव्यांग मतदाताओं की मदद के लिए स्थानीय स्तर पर स्काउट गाइड, एनएसएस और एनसीसी के वॉलिंटियर लगाए गये हैं. कई निकायों पर दिव्यांग मतदाताओं को घर से लाने ले जाने के लिए भी परिवहन की व्यवस्था की गई है. चुनाव के लिये राजनीतिक पार्टियों के कार्यकर्ताओं ने भी अलसुबह से ही मोर्चा संभाल लिया. वहीं प्रशासनिक मशीनरी भी पूरी तरह से अलर्ट है.

नगर निगम चुनाव: सीएम गहलोत समेत कई मंत्रियों की प्रतिष्ठा दांव पर, देखें बीजेपी-कांग्रेस की सियासी पिक्चर

इन वैकल्पिक दस्तावेजों से भी कर सकते हैं मतदान


नगर निगम चुनाव में मतदाता पहचान-पत्र के आधार पर वोट डाले जायेंगे. लेकिन मतदाता पहचान-पत्र नहीं होने पर भी मतदाता अन्य वैकल्पिक दस्तावेजों से मतदान कर सकते हैं. इसके लिये मतदाता आधार कार्ड, पैन कार्ड, ड्राइविंग लाइसेंस, बैंक पासबुक, पासपोर्ट, पेंशन कार्ड और केंद्र /राज्य सरकार/पीएसयू द्वारा जारी किये गये सर्विस आईडी कार्ड से भी मतदान कर सकता है. वहीं पब्लिक लिमिटेड कंपनी द्वारा जारी किये गये सर्विस कार्ड, मनरेगा जॉब, हेल्थ इंश्योरेंस कार्ड, एनपीआर के तहत आरजीआई द्वारा जारी किये गये स्मार्ट कार्ड, तस्वीर वाले पेंशन डॉक्यूमेंट, एमपी/ एमएलए/ एमएलसी/ द्वारा जारी किये गये आधिकारिक आईडी कार्ड से भी मतदान किया जा सकता है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज