मुंद्रा पोर्ट से काठुवास तक पहली बार चली डबल स्टैक कंटेनर ट्रेन, रेलवे की बड़ी उपलब्धि

इस ट्रायल के साथ ही गुजरात के पिपावाव, कांडला, मुंद्रा और हाजिरा जैसे सभी बंदरगाहों से उत्तर और उत्तर-पूर्वी भारत के लिए कनेक्टिविटी काफी बेहतर हो गई है. (सांकेतिक तस्वीर)

DFC trial successful: हाल में तैयार किये गये पश्चिमी कॉरिडोर पर मालगाड़ी का किया गया ट्रायल पूरी तरह से सफल रहा है. DFC का पश्चिमी कॉरिडोर 1500 किलोमीटर लंबा है. यह दादरी से जवाहरलाल नेहरू पोर्ट ट्रस्ट तक जाता है.

  • Share this:
    जयपुर. डेडिकेटेड फ्रेट कॉरिडोर कॉर्पोरेशन ऑफ इंडिया (DFCCI) के पश्चिमी कॉरिडोर पर मालगाड़ी का किया गया ट्रायल पूरी तरह से सफल रहा है. यहां गुजरात के मुंद्रा पोर्ट से राजस्थान के काठुवास (Mundra Port to Kathuwas) तक पहली बार रविवार को डबल स्टैक कंटेनर वाली मालगाड़ी चलाई गयी. काठुवास में DFC ने मल्टी मॉडल लॉजिस्टिक पार्क (Multi Modal Logistics Park) तैयार किया गया है. यह एनसीआर में शामिल राजस्थान के अलवर जिले के नीमराणा इलाके में आता है. इस सेक्शन के शुरू होने के बाद भारत में आयात होने वाली कई चीजों को जल्दी अलग-अलग जगहों तक पहुंचाया जा सकेगा. मुंद्रा पोर्ट पर ग्लिसरीन, सॉफ्टवुड पल्प, बेस पेपर, एल्यूमिनियम स्क्रैप, स्पेयर पार्ट्स, इलेक्ट्रिक पार्ट्स, मशीन, कंप्रेशर, स्प्रे पार्ट्स, पोलिस्टर और फेब्रिक जैसा सामान विदेशों से आता है.

    इन देशों से आता है सामान
    ये सामान फ्रांस, मेक्सिको, इटली, जापान, जर्मनी और यूएई से आयात किया जाता है. रविवार को जिस मालगाड़ी का ट्रायल किया गया उसमें एक के ऊपर एक कंटेनर रखे गये थे. कुल 178 कंटेनर वाली इस मालगाड़ी में काठुवास, लुधियाना, दादरी और असम के डांगर चुक के लिए सामानों की सप्लाई की जानी है.

    DFC का पश्चिमी कॉरिडोर 1500 किलोमीटर लंबा है
    इस ट्रायल के साथ ही गुजरात के पिपावाव, कांडला, मुंद्रा, हाजिरा और दहेज जैसे सभी बंदरगाहों से उत्तर और उत्तर-पूर्वी भारत के लिए कनेक्टिविटी काफी बेहतर हो गई है. DFC का पश्चिमी कॉरिडोर 1500 किलोमीटर लंबा है. यह दादरी से जवाहरलाल नेहरू पोर्ट ट्रस्ट तक जाता है.

    पूर्वी कॉरिडोर 1875 किलोमीटर लंबा है
    रविवार के ट्रायल के साथ ही इस कॉरिडोर का करीब 50 फीसदी हिस्सा मालगाड़ियों के चलाने के लिए तैयार हो चुका है. वहीं DFC का पूर्वी कॉरिडोर 1875 किलोमीटर लंबा है. यह कोलकाता के पास दानकुनी से लुधियाना तक जाता है. उम्मीद की जा रही है कि अगले साल दोनों ही कॉरिडोर का काम पूरा कर लिया जाएगा.

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.