कानून-व्यवस्था को लेकर सचिन पायलट ने CM गहलोत पर साधा निशाना

News18 Rajasthan
Updated: September 12, 2019, 7:25 AM IST
कानून-व्यवस्था को लेकर सचिन पायलट ने CM गहलोत पर साधा निशाना
डिप्टी सीएम सचिन पायलट ने कानून व्यवस्था पर चिंता जाहिर की है.

कांग्रेस सरकार में डिप्टी सीएम सचिन पायलट (Deputy CM Sachin Pilot) ने ही राज्य में कानून व्यवस्था (Law And Order) को लेकर असंतोष जाहिर किया है.

  • Share this:
जयपुर. राजस्थान में मुख्यमंत्री अशोक गहलोत (Ashok Gehlot) और उपमुख्यमंत्री सचिन पायलट (Deputy CM Sachin Pilot) के बीच मतभेद एक बार फिर खुलकर सामने आया है. राज्य की गिरती कानून व्यवस्था (Law And Order) को लेकर पायलट ने चिंता जाहिर करते हुए गहलोत पर निशाना साधा है. पायलट ने कहा कि कई जगह कानून-व्यवस्था की स्थिति खराब हुई है, इसको गंभीरता से लेना चाहिए. हालांकि बाद में उन्होंने बात संभालते हुए कहा कि सरकार कानून-व्यवस्था को लेकर पूरी तरह गंभीर है. और इसके लिए उचित कदम भी उठाए गए हैं.

पायलट ने कहा, 'ये सच है कि हमें (सरकार) कानून-व्यवस्था पर गंभीरता दिखानी होगी. धौलपुर और अलवर जैसी परेशान करने वाली कई घटनाएं पिछले कुछ समय के दौरान हुई हैं. कोशिश होनी चाहिए कि भविष्य में इस तरह की घटनाएं न हों.' बता दें कि वर्तमान में मुख्यमंत्री गहलोत प्रदेश के गृहमंत्री भी है और कानून-व्यवस्था की जिम्मेदारी भी उनकी ही है.

पूर्व सीएम को सुविधाओं पर भी पायलट का बयान 

पूर्व मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे के बंगला खाली करने को लेकर मंगलवार को सचिन पायलट का बयान सामने आया था. इसमें भी पायलट और गहलोत के बयानों में विरोधाभास सामने आया था. वहीं, नेता प्रतिपक्ष की ओर से कानून व्यवस्था को लेकर उठाए गए सवालों के बाद परिवहन मंत्री प्रतापसिंह खाचरियावास ने पलटवार किया है. उन्होंने कहा है कि जब कटारिया गृहमंत्री थे तो एक मुलजिम को झालावाड़ ले जाने के दौरान 3 पुलिसकर्मी मारे गए थे. ऐसे में बीजेपी को ऐसी बयानबाजी शोभा नहीं देती.

गहलोत से गृह विभाग नहीं संभल रहा- नेता प्रतिपक्ष

विधानसभा में नेता प्रतिपक्ष ओर बीजेपी के वरिष्ठ नेता गुलाब चंद कटारिया ने एक दिन पहले ही गहलोत सरकार में कानून-व्यवस्था के मुद्दे पर जमकर हमला बोला था. उन्होंने कहा कि गहलोत से गृह विभाग नहीं संभल रहा है तो किसी अन्य साथी को जिम्मेदारी दे दें.

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए जयपुर से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: September 11, 2019, 5:42 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...