जयपुर में फिर शुरू होगा 'फ्लाइंग क्लब', आसमान में उड़ान भर सकेंगे 'युवा'
Jaipur News in Hindi

जयपुर में फिर शुरू होगा 'फ्लाइंग क्लब', आसमान में उड़ान भर सकेंगे 'युवा'
फ्लाइंग क्लब में ग्लाइडर टाइप के छोटे विमान होते हैं जिन्हें पायलट बनाने की ट्रेनिंग में काम में लिया जाता है.

पायलट बनने के इच्छुक नौजवानों को मुख्यमंत्री अशोक गहलोत (CM Ashok Gehlot) ने इस बार के अपने बजट (Rajasthan budget) में बड़ी सौगात दी है. सीएम गहलोत ने गुरुवार को पेश किए अपने दूसरे बजट में राजधानी जयपुर में फ्लाइंग क्लब (Flying club) फिर से शुरू करने की घोषणा की है.

  • Share this:
जयपुर. पायलट बनने के इच्छुक नौजवानों को मुख्यमंत्री अशोक गहलोत (CM Ashok Gehlot) ने इस बार के अपने बजट (Rajasthan budget) में बड़ी सौगात दी है. सीएम गहलोत ने गुरुवार को पेश किए अपने दूसरे बजट में राजधानी जयपुर में फ्लाइंग क्लब (Flying club) फिर से शुरू करने की घोषणा की है. हालांकि अभी इसकी तारीख तय नहीं की गई है, लेकिन बहुत जल्द इस घोषणा को मूर्त रूप दिया जाएगा. जयपुर (Jaipur) में इससे पहले भी फ्लाइंग क्लब हुआ करता था, लेकिन लगातार शिकायतों के चलते उसे बंद कर दिया गया था.

देशभर के युवा फ्लाइंग क्लब में ट्रेनिंग ले सकेंगे
मुख्यमंत्री की इस घोषणा का फायदा सिर्फ राजस्थान के युवाओं को ही नहीं मिलेगा, बल्कि देशभर के युवा फ्लाइंग क्लब में ट्रेनिंग ले सकेंगे. जयपुर में फ्लाइंग क्लब बंद होने के बाद यहां के युवा देश के दूसरे हिस्सों का रूख करने लगे थे. इससे पहले भी जयपुर में फ्लाइंग क्लब मौजूद था, लेकिन धांधली और धोखाधड़ी के चलते एसीबी को यहां कार्रवाई करनी पड़ी और क्लब को बंद करना पड़ा. पिछली सरकार भी इस मुहिम को लेकर संजीदा थी, लेकिन वह राजस्थान में जयपुर की बजाय दूसरे ज़िलों में इसे शुरू करना चाहती थी. अब मुख्यमंत्री गहलोत ने अपने बजट भाषण में इसे जयपुर से ही शुरू करने की घोषणा कर दी है.

क्लब में ग्लाइडर टाइप के छोटे विमान होते हैं



फ्लाइंग क्लब में ग्लाइडर टाइप के छोटे विमान होते हैं जिन्हें पायलट बनाने की ट्रेनिंग में काम में लिया जाता है. इन विमानों में ज्यादतर सेशना विमान काम में लिए जाते हैं. ये वही विमान हैं जिन्हें पहले जयपुर में घरेलू उड़ानों के लिए सुप्रीम एयरलाइंस काम में लिया करती थी. सुप्रीम एयरलाइंस के विमान अब जयपुर एयरपोर्ट पर उड़ान बंद कर चुके हैं. इस घोषणा के बाद राजस्थान के युवाओं को आस बंधी है कि पायलट की ट्रेनिंग के अब वो जयपुर में क्लब का हिस्सा बन सकेंगे.



 

ख्वाजा गरीब नवाज का 808वां उर्स: झंडा चढ़ाने की रस्म के साथ हुआ अनौपचारिक आगाज

 

जयपुर: हादसे ने बदल दी इस युवा की दुनिया, आज खुद 'दुनिया' बदलने में जुटा है
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading