अपना शहर चुनें

States

...इसलिए यहां भैंसों की रखवाली के लिए रात भर जागकर पहरेदारी कर रहे लोग

सांकेतिक तस्वीर
सांकेतिक तस्वीर

जयपुर में साल भर में एक-एक कर करीब करोड़ों रुपए की 150 भैंसें चोरी हो गईं, जिसे पकड़ने में पुलिस अभी तक असफल रही है.

  • Share this:
राजस्थान की राजधानी जयपुर में साल भर में एक-एक कर करीब 150 भैंसें चोरी हो गईं हैं. आज तक उनमें से एक भी भैंस वापस नहीं मिली है. करीब एक करोड़ रुपए कीमत की इन भैंसों को कौन चुरा ले गया, किसी को कुछ पता नहीं है और तो और पुलिस ने भी कभी खोजबीन नहीं की. ऐसे में कई गांव के लोगों की नींदें उड़ गईं हैं. वे रातभर जागकर भैंसों की रखवाली कर रहे हैं. भैंसों को कोई चुरा ने ले इसलिए सीसीटीवी कैमरे तक लगा रखे हैं. बता दें कि चोरी हुई भैंसों में किसी की भैंस 70 हजार की थी, तो किसी की 1.25 लाख रुपए की.

मामला रिंग रोड के पास 20 किलोमीटर दायरे में बसे और शिवदासपुरा थाना क्षेत्र में आने वाले अनेक गांवों का है. वहां पुलिस गश्त और नाकाबंदी नहीं है. लोगों का कहना है कि साल भर में 150 भैंसें चोरी होने के बावजूद एक बार भी चोर पकड़ा नहीं गया. पुलिस को सूचना देते हैं लेकिन कभी 4 तो कभी 8 दिन बाद केवल खानापूर्ति करने के लिए आ जाती है.

रात भर जागकर करते हैं भैंस की चौकीदारी



मामले में किल्किपुरा गांव के रहने वाले पीड़ित ग्रामीण रामपाल ने बताया कि हाल ही बाड़े से उसकी 2 भैंसें चोरी हो गई थीं. इससे पहले और बाद में भी कई लोगों की भैंसें चोरी हो चुकी हैं. इसलिए रात भर जागकर बाड़े में मवेशियों की सुरक्षा करते हैं. लाइटों की अलग से व्यवस्था कर रखी है. पुलिस को पता है कि एक के बाद एक चेारी हो रही है, लेकिन चोर आज तक नहीं पकड़े गए. ग्रामीण ने कहा कि चोर ज्यादातर रात के 2 से 3.30 बजे के बीच आते हैं.
भैंस चुराने के पहले पालतू कुत्ते को उतारा मौत के घाट

वहीं कनक वाटिका के रहने वाले पीड़ित ग्रामीण ने बताया कि उसकी 3 भैंस चोरी हो गई हैं. इस दौरान चोरों ने भैंस चुराने के लिए 2 दिन पहले उनके पालतू कुत्ते को जहर देकर मार डाला था. इधर, प्रहलादपुरा में लोगों का कहना है कि गांव से 20-25 भैंसें चोरी हो चुकी हैं. भैंसों की रखवाली के लिए कभी पारी में जागते हैं, तो कभी अकेले ही पूरी रात जागना पड़ता है.

घर में लगाया सीसीटीवी कैमरा

गोवर्धनपुरा के ग्यारसीलाल जाट के घर रखवाली कर रहे परिवार के सदस्यों ने बताया कि कुछ दिन पहले चोर 2 भैंसें ले गए. पुलिस को बताया तो 4 दिन बाद एक पुलिसकर्मी आया और खानापूर्ति कर चला गया. अब घर में सीसीटीवी कैमरे भी लगवाए हैं. कुछ सदस्य टीवी के सामने ही सोते हैं, ताकि कैमरे के फुटेज देख सकें. इस दौरान जिसकी भी आंख खुलती है वह फुटेज पर नजर डालता है.

ये भी पढ़ें:- गर्मी से झुलस रहे प्रदेश में सियासत चरम पर

ये भी पढ़ें:- धोखाधड़ी मामले में एसएनजी रियल एस्टेट प्राइवेट लिमिटेड के डायरेक्टर सत्यनारायण गुप्ता गिरफ्तार
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज